परामर्श केंद्र में 6 पारिवारिक विवादों को आपसी सहमति से सुलझाया

झाबुआ: आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में समय निकाल पाना बहुत मुश्किल है। समय की कमी के चलते लोग परिवार के लिए भी समय नहीं निकाल पाते हैं। जिसके कारण रिश्तों की डोर ऐसी उलझ जाती है, जिसे सुलझाना मुश्किल हो जाता है। इस हेतु पति-पत्नी व वृद्धों के पारिवारिक विवाद की समस्या के निराकरण के लिए परिवार परामर्श केंन्द्र झाबुआ एवं महिला थाना झाबुआ द्वारा सामुहिक प्रयास किया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक अगम जैन के निर्देशन पर पारिवारिक परामर्श केन्द्र झाबुआ द्वारा पति-पत्नी के बीच आपसी झगड़े, पिता-पुत्र, सास-बहु व पारिवारिक सदस्यों से कहासुनी के कारण एक-दुसरे से दूर हो जाने की शिकायतों के संबंध में दोनों पक्षों को बुलाकर आपसी सुलह करने और पारिवारिक रिश्तो को कायम रखने हेतु पारावारिक परामर्श केन्द्र झाबुआ और महिला थाने के माध्यम से लगातार कार्य कर रहे है।

28 अक्टूबर को कोतवाली परिसर में स्थित परामर्श केंद्र और महिला थाने द्वारा पारिवारिक मामलों में परामर्श के माध्यम से 6 आवेदनों पर दोनों पक्षों को समझाइश दी गई। जिसमें तीन परामर्शदात्रियों के माध्यम से दोनों पक्षों के बीच जो उलझने है, उन्हें बातचीत कर सुलह करवाने का प्रयास किया गया और संबंधित पक्षों को, परामर्श होने के बाद लगभग 6 माह तक मॉनिटर भी किया जाएगा, ताकि वे लोग परामर्श केंद्र पर जो समझौता तय किया गया था, उससे अन्यथा किसी एक पक्ष पर अपनी मनमानी न करें सके। झाबुआ पुलिस का यह प्रयास हैं की कानूनी कार्रवाई के बजाए परामर्श से पारिवारिक विवादों को आपसी सहमति से सुलझाकर परिवार को टूटने से बचाया जाए। पारिवारिक परामर्श केन्द्र झाबुआ द्वारा परामर्श दिया जाकर पारिवारिक विवादो का निराकरण किया जा रहा है ताकि घरेलू हिंसा पर अंकुश लगया जा सके।

नव भारत न्यूज

Next Post

चढ़ा दिया गलत ब्लड ग्रुप का खून, मरीज की किडनी हुई खराब

Sat Oct 29 , 2022
गैलेक्सी अस्पताल का कारनामा, कलेक्टर ने दिए जांच के निर्देश जबलपुर:शहर के निजी अस्पतालों में लूट-खसोट के साथ लापरवाही का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। मरीजों से पैसे ऐंठने के चक्कर में निजी अस्पतालों ने मानवता को भी ताक पर रख दिया है। चिकित्सकों की लापरवाही अब […]