मेयर के खिलाफ नारेबाजी,कांगे्रस पार्टी के खिलाफ पड़ी भारी!

बीजेपी का आरोप,कांग्रेस पार्टी लोकतंत्र की कर रही हत्या

सिंगरौली :पानि के प्रथम सम्मिलन एवं शपथ समारोह के दौरान मेयर के खिलाफ कांग्रेस पार्टी की नारेबाजी भारी पड़ गयी। अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए कांग्रेस पार्टी के लोग सोशल मीडिया सहित अन्य स्त्रोत के माध्यम से बीजेपी को बदनाम करने का षड्यंत्र रच रहे हैं। इस तरह का आरोप भाजपा के नेताओं के द्वारा लगाया जा रहा है। साथ ही यह भी आरोप लगाया जा रहा है की स्पीकर चुनाव के दौरान कांगे्रस पार्टी लोकतंत्र की हत्या कर रही थी।

दरअसल नगर पालिक निगम सिंगरौली के प्रथम सम्मिलन एवं शपथ समारोह तथा स्पीकर का चुनाव अटल सामुदायिक भवन बिलौंजी में 5 अगस्त को आयोजित था। बीजेपी ने ऐन वक्त पर अपने पार्टी के पार्षदों का शपथ कलेक्ट्रेट भवन में करा दिया और यहीं से कांग्रेसियों को नागवार गुजरने लगा। सामुदायिक भवन में जैसे ही शपथ समारोह की प्रक्रिया शुरू हुई। कांग्रेसी भाजपा सरकार के साथ-साथ जिला प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। इसी दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर तथा पीठासीन अधिकारी ने मेयर रानी अग्रवाल को शपथ के लिए आमंत्रित किया कि कांग्रेसी पार्षदों सहित कार्यकर्ताओं ने मेयर के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। बीजेपी का कहना है की मेयर के खिलाफ नारेबाजी करने का कांग्रेसियों का मकसद था कि मेयर व आम आदमी पार्टी तथा अन्य दलों के पार्षद शपथ न लें ताकि सम्मिलन स्थगित हो जाये और शपथ समारोह के लिए अलग से तिथि जारी हो.

जिला निर्वाचन अधिकारी प्रक्रिया को आगे बढ़ाते रहे। जिसको लेकर कांग्रेसियों ने सामुदायिक भवन परिसर व बाहर हंगामा तथा नारेबाजी करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे थे। भाजपा का यह भी आरोप है की कांग्रेस पार्टी के खिलाफ केवल 12 पार्षद थे। वे अपने जीत के प्रति आशान्वित थे। उनकी मंशा पूर्ण होते नहीं दिखी। कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी 19 का आंकड़ा कैसे हासिल कर लिये यह भी बड़ा सवाल है। उन्हें 19 का आंकड़ा छूने में कितने पापड़ बेलते हुए तोड़-फोड़ किये होंगें यह बात धीरे-धीरे खुलने लगी है। लोकतंत्र की हत्या बीजेपी नहीं कांग्रेस पार्टी के लोग कर रहे थे और पार्षदों ने उन्हें करारा जबाव दिया है। भाजपा के पास पूर्ण बहुमत का आंकड़ा था। 3 मत जो ज्यादा बीजेपी स्पीकर को मिले हैं कई पार्षदों ने अंतरआत्मा से बीजेपी प्रत्याशी देवेश पाण्डेय के पक्ष में मतदान किया है। खरीद फरोख्त कौन कर रहा था यह बात जगजाहीर हो चुकी है। आगे कहा है कि कांग्रेस के लोग अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए मनगढ़ंत आरोप लगा रहे हैं ताकि आम जनों का ध्यान भटकाया जा सके और अपने शीर्ष नेतृत्व को सत्ता के दुरूपयोग का आरोप लगाकर अपनी जबावदेही से पल्ला झाडऩे की कोशिश कर रहे हैं।

नव भारत न्यूज

Next Post

ऑस्ट्रेलिया में शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए शिक्षा मंत्रियों की बैठक

Mon Aug 8 , 2022
कैनबरा 08 अगस्त (वार्ता/शिन्हुआ) आस्ट्रेलिया के शिक्षा मंत्री जैसन क्लेयर ने कोविड-19 के प्रकोप से बढ़ रही देश भर में शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए प्रांतीय और क्षेत्रीय शिक्षा मंत्रियों की बैठक बुलाई है। श्री क्लेयर ने कहा कि अनुमान के मुताबिक अगले तीन वर्षों में 4,000 […]