प्रदेश में विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्ध-घुमक्कड़ जनजाति वर्ग के लोगों की समस्याओं का संवेदनशीलता के साथ किया जायेगा निराकरण

सतना :  घुमक्कड़ एवं अर्द्ध-घुमक्कड़ जनजाति कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रामखेलावन पटेल ने कहा है कि राज्य सरकार विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्ध-घुमक्कड़ जनजाति वर्ग के लोगों के कल्याण के लिए वचनबद्ध है. इन वर्गों की समस्याओं के निराकरण के लिए प्रदेश सरकार पूरी संवेदनशीलता के साथ कार्य कर रही है. प्रदेश में 31 अगस्त 2021 को विमुक्त जाति वर्ग का स्वतंत्रता दिवस मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में मनाया जायेगा. राज्य मंत्री श्री पटेल गुरुवार को भोपाल में भारत सरकार के केन्द्रीय घुमन्तु, अर्द्ध-घुमन्तु, जनजाति समुदाय विकास एवं कल्याण बोर्ड की बैठक को संबोधित कर रहे थे. बैठक की अध्यक्षता बोर्ड के अध्यक्ष भीकू रामजी इदाते ने की.

राज्य मंत्री श्री पटेल ने कहा की इन वर्गों के विकास के लिए इनकी जनगणना की जाना जरूरी है. विभाग द्वारा इसके लिए सभी सरकारी विभागों के साथ समन्वय रखकर लगातार प्रयास किये जा रहे हैं. राज्य मंत्री श्री पटेल ने बताया की इन वर्गों के तेजी से विकास के लिए प्रदेश में स्वंतत्र विभाग बनाया गया है. उन्होंने बताया की इन वर्गों की प्रदेश में 51 जातियाँ हैं. इनके शिक्षा, स्वास्थ, आवासीय एवं रोजगार से संबंधित अवसरों को बढ़ाने के लिए ठोस प्रयास किये जा रहे हैं.साथ ही जाति प्रमाण-पत्र के लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को अधिकृत किया गया है.प्रदेश में लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से करीब 29 हजार 300 जाति प्रमाण-पत्र बनवाये जा चुके हैं.

केन्द्रीय बोर्ड के अध्यक्ष भीकू रामजी इदाते ने कहा की केन्द्र सरकार इन वर्गों के कल्याण के लिए विभाग में बजट की कमी नहीं आने देगी.उन्होंने कहा की इन वर्गों के परिवार परम्परागत रूप से वर्ष भर भ्रमण करते हैं. इसके बावजूद राज्य सरकार द्वारा ऐसे प्रयास किये जाने चाहिए की इन वर्गों को प्रदेश में कहीं पर भी बुनियादी रूप से स्वास्थ्य और शिक्षा की सुविधा मिल सके. बैठक में बोर्ड के सदस्य श्री कृष्ण चन्द्र सिसौदिया एवं विधायक प्रदीप पटेल ने उपयोगी सुझाव दिये. सदस्यों ने सुझाव दिये की इन वर्गों की आबादी बाहुल्य क्षेत्रों में जन-जागरण शिविर लगाये जायें. उन्होंने कहा की इन वर्गों के कल्याण के लिए केन्द्र और राज्य सरकार ने जो परिपत्र जारी किये हैं, उनकी जानकारी जन-प्रतिनिधियों को आवश्यक रूप से उपलब्ध कराई जाये.बैठक में इन वर्गों के कल्याण के लिए कार्य कर रहे साजाजिक संगठनों के प्रतिनिधि भी मौजूद थे.

नव भारत न्यूज

Next Post

जीआईएफ के 2 कर्मचारियों पर गिरी गाज

Fri Aug 27 , 2021
जबलपुर: जीआईएफ  प्रबंधन ने एमएमएस सेक्शन के दो कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है। दरअसल दोनों कर्मचारी सौंपी गई जिम्मेदारियों को समय पर पूरा नहीं कर पाए। लापरवाही पूर्ण कार्यशैली के चलते महाप्रबंधक ने दोनों कर्मचारियों को सीधे निलंबित कर दिया। जानकारी के मुताबिक ग्रे आयरन फाउंडरी (जीआईएफ) के एमएमएस […]