खंडवा निवासी एयर मार्शल चौधरी राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित

खंडवा:  खंडवा शहर देश के काफी छोटे शहरों में शुमार है। इसके बावजूद यहाँ की मिट्टी और पानी में जाने कैसा जादू है,जो प्रतिभाओँ की खान बनकर देश और विश्व में नाम रौशन कर रहा है। खंडवा के ही मूल निवासी एयर मार्शल शशिकर चौधरी सोमवार को नईदिल्ली में विशिष्ठ सेवा पदक से राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित हुए। वे नागपूर में इस वक्त सेवाएं दे रहे हैं। उन्हें दो बार राष्ट्रपति पुरस्कार मिल चुके हैं।
साहित्यकार शरद जैन ने बताया कि खंडवा के हरीगंज में जन्मे व पले-बढ़े श्री चौधरी ने खंडवा के बाद इंदौर के जीएसआईटीएस से 1984 में बीई मैकेनिकल में डिग्री ली।

इंडियन एयर फोर्स में चयन हो गया। देश के कई स्थानों पर सेवाएं दीं। खड़कपुर आईआईटी से एम-टेक करने के बाद और उच्च पदों पर पहुंच गए। रूस के मास्को में 3 वर्ष तक दूतावास स्थित राजदूत के डिप्टी अटैची के रूप में काम किया। एयर कमांडर के रूप में कमांडिंग आफिसर बनकर कोयंबटूर में एयर वाइस मार्शल भी रहे। 2020 में एयर मार्शल के रूप में रहकर काम कर रहे हैं। खंडवा के नट निमाड़ समूह का एक बार नागपूर में नाट्य मंचन था। उसमें उन्हें खंडवा के कलाकारों ने बुलाया, तो वे काफी प्रसन्न हुए थे।

खंडवा के पुराने लोग उन्हें नंदू भैय्या के रूप में ज्यादा जानते हैं। उनके कई साथी खंडवा में अध्ययन के दौरान के हैं, जिनमें संजय चौरे भी हैं। खंडवा के लिए गौरव की बात है कि इतने बड़े पद पर छोटे शहर का व्यक्तित्व देश के महत्वपूर्ण पद पर है। वे मिलनसार और मृदुभाषी हैं। उनमें गुरूर कहीं भी नहीं झांकता। नव-भारत को श्री चौधरी ने बताया कि 31 मई 2022 में सेवामु्क्त होकर वे इंदौर में रहकर सामाजिक गतिविधियों में शामिल होकर योगदान देना चाहते हैं।

नव भारत न्यूज

Next Post

मोहना के जंगल में डकैतों का तांडव, चरवाहों को बंधक बनाकर सौ मवेशी लूटे

Tue Nov 23 , 2021
ग्वालियर: ग्वालियर-चंबल के जंगल में डाकुओं की दस्तक के बाद पुलिस हरकत मे है। डकैत गिरोह के निशाने पर चरवाहे हैं। चार दिन में दो वारदात हो चुकी हैं। इस बार डकैत गिरोह ने मोहना के जंगल में दो चरवाहों को गनपॉइंट पर बंधक बनाकर 100 से अधिक मवेशियों को […]