नागपुर से पकड़ाया हिस्ट्रीशीटर का मददगार, गया जेल  शमीम की दो मंजिला इमारत दूसरे दिन हुई ध्वस्त  

जबलपुर।  नेशनल हाइवे से लगे खजरी खिरिया बाइपास पर कबाड़ यार्ड में हुए विस्फोट मामले में फरार चल रहे  ईनामी हिस्ट्रीशीटर शमीम के मददगार को पुलिस ने नागपुर से गिरफ्तार कर लिया। जिसे शहर लाने के बाद पूछताछ की गई और रविवार को न्यायालय के समक्ष पेश करने के बाद उसे जेल भेज दिया गया। वहीं कबाड़ी के कबाडखाने की दो मंजिला इमारत को तोड़ऩे शनिवार से शुरू हुई कार्रवाई दूसरे दिन रविवार को भी जारी रही।  बिल्डिंग के शेष निर्माण को ध्वस्त किया गया। कार्रवाई के दौरान विवाद होने की आशंका के मद्देनजर प्रशासनिक अधिकारियों के साथ भारी पुलिस फोर्स तैनात रहा।  सहायक आयुक्त सागर बोरकर ने बताया कि अधारताल अंतर्गत ग्राम चांटी स्थित लगभग 5 हजार वर्गफुट भूमि पर लगभग 2 करोड़ रूपये की लागत से निर्मित किये गये गोदाम को जमींदोज करने दूसरे दिन भी कार्रवाई चली। ब्लास्ट वाला एरिया तोडऩे की अभी अनुमति नहीं है। बाकी शेष हिस्से को रविवार को पूरा तोड़ दिया गया।

 

करीम के यहां शमीम ने काटी थी फरारी

अति. पुलिस अधीक्षक सोनाली दुबे के मुताबिक  ब्लास्ट वाले मामले में प्रशासन की कार्यवाही में आरोपी फहीम व शमी के स्क्रैप गोदाम को पूरी तरह ध्वस्त किया गया है आरोपी शमीम की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने के लिए नागपुर गई टीम द्वारा करीम पटेल 38 वर्ष निवासी नागपुर को पकड़ा गया। जिसने आरोपी शमीम की सहायता करने एवं नागपुर में अपने यहां छुपाने में सहायता की। आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया। पुलिस तेजी से आरोपी शमीन की गिरफ्तारी के लिए प्रयासरत है।

क्या है मामला

विदित हो कि हाइवे से लगे हिस्ट्रीशीटर गुंडे शमीम कबाड़ी के कबाडख़ाने में 25 अप्रेल को विस्फोट हुआ था। विस्फोट इतना खतरनाक था कि आठ से दस हजार वर्ग फीट में फैला पूरा कबाडख़ाना ढह गया था। मजदूरों के चीथड़े उड़ गए थे। दो मजदूर गौर निवासी भोलाराम और आनंद नगर निवासी खलील लापता हो गए थे। हाल ही में मिली डीएनए रिपोर्ट में विस्फोट में खलील की मौत की पुष्टि हुई थी वहीं भोला की गुमशुदगी दर्ज की गई है। विस्फोट मामले मेें अधारताल पुलिस ने शमीम, उसके बेटे फहीम और पार्टनर सुल्तान पर विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया है। सुल्ताल, फहीम जेल में है जबकि शमीम फरार चल रहा है।

पुलिस गिरफ्त से दूर कबाड़ी

30 हजार रूपये के ईनामी  फरार हिस्ट्रीशीटर शमीम की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छापेमारी जारी है लेकिन शमीम पुलिस गिरफ्त से दूर है। आरोपी पर 15 अपराध विभिन्न थानों में दर्ज है और उसकी गिरफ्तारी पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई है।

Next Post

मप्र राज्य अधिवक्ता परिषद के चेयरमेन चुने गये राधेलाल गुप्ता

Sun May 26 , 2024
अविश्वास प्रस्ताव पर पंद्रह सदस्यों की मुहर, प्रेम सिंह भदौरिया को हटाया   वाईस चेयरमेन श्री सैनी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव खारिज   जबलपुर। मप्र राज्य अधिवक्ता परिषद में अध्यक्ष प्रेम सिंह भदौरिया के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव में रविवार को सामान्य सभा की बैठक में उन्हें पद मुक्त […]

You May Like