अदाणी करेगी एसईसीआई 4,667 मेगावाट की आपूर्ति करेगी

अहमदाबाद, 14 दिसम्बर (वार्ता) दुनिया के सबसे बड़े सोलर एनर्जी डेवलपर और डायवर्सिफाईड अदाणी ग्रुप की रिन्यूएबल एनर्जी ईकाई अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल), ने 4,667 मेगावाट हरित बिजली की आपूर्ति के लिए सोलर एनर्जी कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एसईसीआई) के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।
यह दुनिया का अब तक का सबसे बड़ा हरित बिजली खरीद समझौता है।

अदाणी ग्रुप के अध्यक्ष गौतम अदाणी ने कहा कि “हमें एसईसीआई के साथ दुनिया के सबसे बड़े पीपीए पर हस्ताक्षर करने की खुशी है।
यह भारत के दोहरे उद्देश्य को पूरा करने के लिए उठाया गया कदम है, जिसमें भारत के रिन्यूएबल एनर्जी फुटप्रिंट्स में तेजी लाने के साथ-साथ आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम के तहत घरेलू मैन्यूफैक्चरिंग को बढ़ावा देना शामिल है।
सीओपी26 की कार्यवाही को देखते हुए, यह तेजी से स्पष्ट हो रहा है कि जैसा पहले विचार किया गया था, उससे तेज गति से और न्यायसंगत रूप से दुनिया को कम कार्बन वाली अर्थव्यवस्था में बदलना है।
यही कारण है कि अदाणी ग्रुप ने रिन्यूएबल एनर्जी क्षेत्र में 50-70 बिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश करने की प्रतिबद्धता दर्शाई है।
यह समझौता हमें 2030 तक दुनिया की सबसे बड़ी रिन्यूएबल एनर्जी कंपनी बनने की हमारी प्रतिबद्धता के भी अनुरूप है।

4,667 मेगावाट की आपूर्ति के लिए एजीईएल-एसईसीआई समझौता जून 2020 में एसईसीआई द्वारा एजीईएल को अवार्ड किए गए 8,000 मेगावाट की एक मैन्यूफैक्चरिंग-लिंक्ड सौर निविदा का हिस्सा है, जिसने दुनिया की अब तक की सबसे बड़ी सौर विकास निविदा होने का रिकॉर्ड बनाया।

अब तक, एजीईएल ने 2020 में अवार्ड किए गए 8,000 मेगावाट में से 6000 मेगावाट की कुल उत्पादन क्षमता के लिए एसईसीआई के साथ पीपीए पर हस्ताक्षर किए हैं।
उम्मीद है कि शेष 2000 मेगावाट के लिए भी एजीईएल अगले दो से तीन महीनों में पीपीए पर हस्ताक्षर करेगी।

नव भारत न्यूज

Next Post

सेना सीमा पर मुस्तैद, तेजी से प्रगति के मार्ग पर बढ रहा है देश: राजनाथ

Tue Dec 14 , 2021
नयी दिल्ली 14 दिसम्बर (वार्ता) रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि सेना के जवान मजबूती और मुस्तैदी के साथ सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं इसीलिए देश बिना किसी बाधा के प्रगति के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। श्री सिंह ने 1971 की लड़ाई में […]