शूटिंग के लिए फ़िल्म सिटी बना स्कूल बच्चों को घर भेजकर शिक्षक करवाते रहे फ़िल्म की शूटिंग

सतना: चित्रकूट क्षेत्र में फ़िल्म की शूटिंग के लिए स्कूल को फ़िल्म सिटी बना दिया गया। बच्चों को घर वापस भेज कर पढ़ाई के बजाय स्कूल में दिन भर शूटिंग कराई जाती रही। यह सिलसिला पिछले 3 दिनों से चल रहा है। हालांकि फिल्म की शूटिंग देखने की लोगों में उत्सुकता तो थी लेकिन बिना किसी पूर्व सूचना के गैर शैक्षणिक कार्य के लिए इस तरह उपयोग किये जाने को लेकर अभिभावकों में नाराजगी भी थी।
हासिल जानकारी के मुताबिक चित्रकूट क्षेत्र में इन दिनों डकैतों पर आधारित फ़िल्म घमासान की शूटिंग चल रही है। इस फ़िल्म में अभिनेता अरशद वारसी भी हैं। निर्माता निर्देशक चित्रकूट की अलग-अलग लोकेशनों पर टीम के साथ जाकर दृश्यों का फिल्मांकन कर रहे हैं।

पिछले तीन दिनों से फ़िल्म की शूटिंग पालदेव के सरकारी स्कूल में चल रही है जिसके कारण स्कूल में पठन- पाठन की गतिविधियां पूरी तरह ठप पड़ी हैं। बच्चों को वापस घर भेज दिया जाता है और फिर पूरे दिन यहां शॉट फिल्माए जाते हैं। हेडमास्टर और शिक्षक भी अध्यापन छोड़ कर शूटिंग के लिए इंतजाम कराने में व्यस्त हो जाते हैं। स्कूल का समय सुबह साढ़े 10 से 4 बजे तक है लेकिन यहां सुबह से शूटिंग शुरू हो जाती है जो शाम साढ़े 5- 6 बजे तक चलती है।

बुधवार को जब कुछ अभिभावकों ने इस पर आपत्ति जताई तो फ़िल्म के क्रू मेंबर उनसे छीना झपटी पर उतारू हो गए। अभिभावकों का कहना था कि शूटिंग से उन्हें ऐतराज नहीं है लेकिन पढ़ाई प्रभावित नहीं होने दी जाए। तीन दिन से लगातार यही चल रहा है। अगर शूटिंग ही करानी है तो स्कूल के अवकाश ही घोषित कर दिया जाए लेकिन ऐसा भी नही किया जा रहा।उधर इस मामले में जिला शिक्षा अधिकारी नीरव दीक्षित ने बताया कि फिल्मकारों ने प्रशासन से शूटिंग की अनुमति तो ली है लेकिन वह किन- किन लोकेशनों के लिए है इसकी जानकारी नहीं है। स्कूल में शूटिंग के मामले में शर्त यह थी कि विद्यालय का समय समाप्त होने के बाद शाम की शिफ्ट में वहां शूटिंग की जाएगी।

डीईओ ने कहा कि दिन में शूटिंग की न तो जानकारी है और न ऐसी कोई सूचना शिक्षा कार्यालय को दी गई है। अगर दिन में शूटिंग हुई है तो इसके बारे में हेडमास्टर से जानकारी ली जाएगी।चित्रकूट थाना प्रभारी एचएल मिश्रा ने भी बुधवार को पालदेव स्कूल में शूटिंग की जानकारी होने से इंकार किया है। उनका कहना है कि शूटिंग के लिए लोकेशन के बारे में थाना पुलिस को जानकारी देने की शर्त है लेकिन बुधवार को स्कूल में शूटिंग होना है इसकी जानकारी फ़िल्म मेकिंग स्टाफ की तरफ से नहीं दी गई। शाम को जब स्कूल के बाहर हंगामे की जानकारी मिली और फोर्स भेजी जाने लगी तब फोन पर बताया गया।

नव भारत न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

खाद्य सुरक्षा और कृषि में डिजीटलीकरण को देंगे बढ़ावा

Thu Feb 16 , 2023
इंदौर में जी20 की तीन दिनी कृषि कार्य समूह की पहली कृषि प्रतिनिधि बैठक संपन्न इंदौर: भारत की जी-20 अध्यक्षता के तहत इंदौर में चल रहे तीन दिनी कृषि कार्य समूह की पहली कृषि प्रतिनिधियों की बैठक का आज समापन हुआ. यह आयोजन संस्कृति, खान-पान और इतिहास से समृद्ध अनुभवों […]

You May Like