भारतीय भारत के साथ व्यापार समझौते करने को इच्छुक हैं विकसित देश: गोयल

नयी दिल्ली,  (वार्ता) वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को कहा कि दुनिया भारत को आर्थिक विकास के इंजन के रूप में देखती है और विकसित देश हमारे साथ व्यापार समझौते करने को इच्छुक हैं।

उन्होंने कहा कि भारत में कारोबार की आसानी के लिए लगातार नए-नए उपाय किए जा रहे हैं और सरकार किसी भी सरकारी विभाग द्वारा कारोबारियों का उत्पीड़न किए जाने के खिलाफ है।

श्री गोयल के पास उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण और कपड़ा मंत्रालय का भी भार है।
वह यहां व्यापारी उद्यमी सम्मेलन में सभा को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने यह भी कहा कि व्यवसाय जगत के लोगों का भी यह काम है कि वे नियम कायदों के अनुपालन का बोझ हल्का करने के लिए सरकार के साथ सहयोग करें और कारोबार में नैतिक व्यवहार का कठोरता से पालन करें।

श्री गोयल ने कहा कि दुनिया अब भारत को आर्थिक विकास के इंजन के रूप में देखती है और भारत पर उनका भरोसा मजबूत हुआ है।
उन्होंने कहा कि विकसित देश अब भारत के साथ व्यापार सौदों पर हस्ताक्षर करने के इच्छुक हैं।
उन्होंने कहा कि 2014 से पहले, भारतीय अर्थव्यवस्था को नाजुक माना जाता था और निवेशकों को भारत के साथ व्यापार करने के बारे में संदेह था।

पारदर्शिता और व्यापार करने में आसानी की आवश्यकता पर जोर देते हुए वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री ने व्यापारियों और उद्यमियों को आश्वासन दिया कि सरकार उन व्यापारियों का पूरा समर्थन करेगी जो किसी भी विभाग द्वारा उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाते हैं।

उन्होंने व्यापारियों से लोगों और व्यवसायों के अनुपालन बोझ को कम करने के लिए सरकार के साथ काम करने का आह्वान किया, लेकिन कहा कि वे नैतिक व्यापार प्रथाओं का सख्ती से पालन करें।

नव भारत न्यूज

Next Post

सोनकच्छ। कालीसिंध नदी उफान पर

Wed Aug 10 , 2022
सोनकच्छ। कालीसिंध नदी उफान पर