पत्नी,बच्चों की हत्या कर बाप ने ट्रेन में कटकर जान दी

पुलिस ने किया खुलासा, अवैध सम्बन्धो के चलते हुआ घटनाक्रम
सतना :शहर के नजीराबाद में एक महिला और उसके दो बेटों की हत्या कर दी गई, जबकि उसके पति का शव रेलवे ट्रैक पर क्षतविक्षत पड़ा पाया गया है। इस वारदात से पूरे शहर में सनसनी फैल गई है। डी आई जी साकेत पांडेय,एसपी आशुतोष गुप्ता मौके पर पहुंच गए हैं शाम को पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि सिटी कोतवाली अंतर्गत नजीराबाद में धारदार हथियार से संगीता चौधरी और उसके दो बेटों निखिल और ऋषभ चौधरी की हत्या कर दी गई जबकि पति राकेश चौधरी का शव रेलवे ट्रैक पर पड़ा पाया गया है।राकेश चौधरी शहर के पास ग्राम तिघरा का रहने वाला था।

वह सतना में रहकर मजदूरी करता था। उसने नजीराबाद में हरदौल बाबा मंदिर के पास कैदी प्रजापति के घर पर कमरा किराए पर लिया था। मंगलवार को ही यह परिवार नजीराबाद में रहने के लिए आया था। बुधवार सुबह कमरे में महिला और उसके बेटों की खून से लथपथ लाशें मिलीं, जबकि राकेश रेलवे ट्रैक पर मृत पड़ा पाया गया।घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई है। एसपी आशुतोष गुप्ता भी घटना स्थल पर पहुंचे हैं। जीआरपी के मुताबिक सुबह एक ट्रेन के गार्ड ने ट्रैक पर शव पड़ा होने की सूचना दी थी। जीआरपी ने इसकी जानकारी सिटी कोतवाली को दी। पुलिस जब वहां पहुंची तो शव के नाम पर सिर्फ धड़ पड़ा था ,सिर और दोनों हाथ गायब थे। उस वक्त तक मृतक अज्ञात था। बाद में मृतक की मां और बहन वहां पहुंची और उन्होंने ही पहचान की। कोतवाली पुलिस ने शव को उठवा कर मॉर्चरी भेजा। इसके कुछ ही देर बाद नजीराबाद में एक कमरे महिला और दो बच्चों के शव पड़े होने की खबर आई।
एक दिन के लिए लिया था कमरा
नजीराबाद में हरदौल बाबा मंदिर के पास जिस मकान में संगीता (28) और उसके बेटे ऋतिक (6) व निखिल (8) की लाश मिली, वह कमरा उन्होंने सिर्फ एक दिन के लिए लिया था। मकान मालकिन चंदा प्रजापति पति राजेश उर्फ कैदी प्रजापति ने बताया कि मजदूरी करने जाने के दौरान ही उसकी पहचान संगीता से हुई थी। मंगलवार की सुबह लगभग 7 बजे पति – पत्नी बच्चों के साथ सामान लेकर उसके यहां पहुंचे थे और सिर्फ एक दिन के लिए रहने की जगह मांगी थी। संगीता ने चंदा से कहा था कि वह जहां रहते थे वहां से मकान मालिक ने कमरा खाली करा लिया है। उन्हें अगर एक दिन के लिए जगह मिल जाएगी तो वे कहीं न कहीं कमरा ढूंढ लेंगे।

चंदा ने बताया कि उसके पास कोई और कमरा नहीं था सिर्फ वही जगह थी जहां वह भूसा रखती है। उसने वह कमरा संगीता को दे दिया। दोपहर में संगीता अपने पति राकेश के साथ कहीं चली गई,उन्होंने खाना भी नहीं बनाया। कुछ देर बाद लौट कर आने पर उन्होंने खाना बनाया और फिर बच्चों को छोड़कर शाम को वे कमरा ढूंढने चले गए। रात लगभग 8 बजे वे वापस आए। तब सब कुछ सामान्य था,वे हंस – बोल रहे थे,मोबाइल चला रहे थे। चंदा ने बताया कि बुधवार की सुबह जब वह उठी तो कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था जिसे देख कर लगा कि राकेश – संगीता कहीं चले गए हैं। जब वह गाय का दूध निकाल कर वापस आई तो भी दरवाजा बंद ही था लिहाजा उसने खिड़की का पल्ला धकेल कर अंदर देखा तो कमरे में खून ही खून पड़ा था।
जून मेभी कहीं चली गई थी महिला
मृतका संगीता प्रजापति के मायके पक्ष के लोगों से मिली जानकारी के अनुसार शादी के बाद से संगीता हमेशा तिघरा स्थित अपनी ससुराल में ही रहती थी ,लेकिन फरवरी और फिर जून के महीने में वह बच्चों को साथ लेकर कही चली गई थी। उसकी शिकायत भी थाना में कराई गई थी। जब वो लौट के आई तब से किसी से उसका कोई संपर्क नहीं हुआ था। मृतका का मायका बिरसिंहपुर के पास ग्राम खांच रेउहान में था।उधर,मकान मालकिन चंदा ने बताया कि मृतक राकेश और उसके बड़े भाई रमेश की आपस मे ज्यादा नहीं बनती थी।

पुलिस का कहना है कि मृतका का प्रेम प्रसंग सतना के ग्राम खम्हरिया निवासी कमलेश चौधरी के साथ था। वह उससे शादी करना चाहती थी लेकिन ऐसा संभव नहीं हो पाया। शादी के बाद भी उसका संपर्क कमलेश से बना हुआ था,वह उससे फोन पर बात भी करती रहती थी। फरवरी महीने में वह अपनी ससुराल से कहीं चली गई थी लेकिन कुछ दिन बाद लौट आई थी। बाद में वह 14 जून को भी बच्चों को साथ लेकर कटनी चली गई थी। वहां उसने अपने बेटे निखिल का एडमिशन एक स्कूल में कराया था जहां पिता के नाम में राकेश चौधरी की जगह कमलेश चौधरी का नाम लिखवाया था। उसने एक एग्रीमेंट भी बनवा रखा था जिसमे उसने कमलेश के ही साथ रहने की बात लिखवाई थी।
सीसीटीवी फुटेज से पुलिस पहुंची अंतिम निर्णय पर
पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता ने घटना का ब्यौरा देते हुए बताया कि पति और पत्नी के बीच रात में भी विवाद की स्थिति पैदा हुई थी.एक बार पति बच्चों को लेकर बाहर भी निकला है. पर कुछ देर बाद लौटकर पत्नी बच्चों के साथ कमरे में चला गया है. रात करीब साढ़े 12 बजे फिर कमरे से बाहर निकला जिसके बाद फिर नही लौटा. पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर घटना के लिए मृतक पति को जिम्मेदार मानते हुए घटना का खुलासा कर दिया.

Next Post

अमेरिकी सदन में नागरिकता प्रमाण की आवश्यकता के लिए विधेयक पारित

Thu Jul 11 , 2024
वाशिंगटन, 11 जुलाई (वार्ता) अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने अमेरिका के संघीय चुनावों में मतदान करने हेतु पंजीकरण कराने के लिए लोगों को अमेरिकी नागरिकता प्रमाण प्रस्तुत करने की आवश्यकता के लिए कानून पारित किया। सदन के सांसदों ने बुधवार को ‘सेफगार्ड अमेरिकन वोटर एलिजिबिलिटी एक्ट’ नामक विधेयक को पारित किया […]

You May Like