ऑक्सीजन में आत्मनिर्भर हो जाएगा जिला


आष्टा, रेहटी, नसरुल्लागंज में आक्सीजन प्लांट प्रारंभ, सीहोर व बुधनी के पूर्णता की ओर

सीहोर 08 सितम्बर नवभारत न्यूज. संभवत: एक सप्ताह में जिला मुख्यालय पर स्वास्थ्य संबंधी दो बड़ी सुविधाओं का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा. पहली सुविधा फैब्रीकेटड 50 बिस्तर वाले आईसीयू का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है. दूसरी सुविधा निर्माणाधीन ऑक्सीजन प्लांट में गुरुवार को बिजली कनेक्शन हो जाएगा.

कोरोना की संभावित तीसरी लहर के खतरे को लेकर भले ही जनता जागरुक न हो, मास्क व सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं कर रही हो, लेकिन सरकारी स्तर पर स्वास्थ्य संबंधी सभी तैयारियों को गंभीरता के साथ पूरा किया जा रहा है, ताकि अगर कोरोना की तीसरी लहर आती भी है तो उससे पूरी तैयारी के साथ निपटा जा सके.

सबसे अधिक क्षमता वाला प्लांट सीहोर में

कोरोनाकाल में आक्सीजन की कमी से कई जिंदगियों पर असमय विराम लग गया था. मुंहमांगे दामों पर भी लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए भटकना पड़ रहा था. इसको ध्यान में रखते हुए जिले भर में आक्सीजन प्लांट स्थापित होने को मंजूरी मिल गई. जिले की सीहोर, आष्टा, बुधनी, नसरुल्लागंज और रेहटी तहसील में ऑक्सीजन प्लांट निर्माण शुरू हुआ. इनमें सबसे अधिक क्षमता 1000 एलपीएम का प्लांट सीहोर में बनाया जा रहा है. सबसे पहले नसरुल्लागंज में आक्सीजन प्लांट बनकर तैयार हुआ और उसमें उत्पादन प्रारंभ हो गया. इसके बाद आष्टा व रेहटी में भी प्लांट स्थापित हो चुके और उनसे आक्सीजन भी मिलने लगी. केवल सीहोर और बुधनी में ऑक्सीजन प्लांट का कार्य अधूरा है. सीहोर के प्लांट में बिजली कनेक्शन शुक्रवार को कर दिया जाएगा. इसके लिए बिजली कंपनी द्वारा सुबह नौ से 11 बजे तक अस्पताल क्षेत्र का विद्युत प्रदाय बंद रखा जाएगा. स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों की मानें तो एक सप्ताह में सीहोर प्लांट आक्सीजन का उत्पादन शुरू कर देगा.

आईसीयू वार्ड भी पूर्णता की ओर

विदेशी कंपनी द्वारा जिला अस्पताल प्रांगण में 50 बेड वाले फैब्रीकेटेड आईसीयू वार्ड स्थापित कर रही है. इसके लिए अस्पताल प्रबंधन द्वारा महज सिविल वर्क कराया गया है जबकि आईसीयू वार्ड की तमाम सेवाओं यहां तक कि डॉक्टर व स्टाफ भी विदेशी कंपनी द्वारा रखे जाएंगे. विगत माह शुरू हुए इसके सिविल वर्क पूरा होने के बाद अब इन फैब्रीकेटेड कक्षों को स्थापित कर आईसीयू की शक्ल दी जा रही है. संबंधित कंपनी के कर्मचारी युद्वस्तर तरीके से कार्य पूर्ण कर रहे हैं और इनके द्वारा इस काम को लगभग एक सप्ताह में पूर्ण कर लेने का दावा किया जा रहा है. इससे प्रतीत होता है कि सितम्बर माह के अंत तक जिला मुख्यालय को आक्सीजन प्लांट और आधुनिक फैब्रीकेटेड आईसीयू वार्ड की सुविधाएं मिलना प्रारंभ हो जाएगा.

इनका कहना है

जिले में आष्टा, नसरुल्लागंज, रेहटी के आक्सीजन प्लांट का काम पूरा हो चुका है. बुधनी के प्लांट का कार्य पूर्णत: की ओर है, जबकि सीहोर के आक्सीजन प्लांट में आज बिजली कनेक्शन कार्य पूर्ण हो जाएगा. फैब्रीकेटेड आईसीयू भी इस माह तक स्थापित हो जाएंगे.
डॉ. सुधीर डेहरिया, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी

नव भारत न्यूज

Next Post

अधिकारी व कर्मचारी के भ्रष्टाचार की शिकायत के लिए 38 नंबर बंगले पर लगी पेटी

Thu Sep 9 , 2021
लोगों को मिले आयुष्मान कार्डए हाथठेला कार्ड व राशन की पात्रता पर्ची 38 नम्बर कार्यालय पर शिकायत निवारण पेटी लगाई ग्वालियर:  प्रदेश सरकार के ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अपने 38 नम्बर कार्यालय पर जन समस्यायें सुनते हुए कहा कि आमजन की सुविधा के लिए 38 नम्बर कार्यालय […]