डकैत गिरोह का सदस्य जेल से रिहा होने के बाद करने लगा हथियारों की डीलिंग, बंदूक समेत 9 कट्‌टे पकड़े

भिंड:  डकैत राजनारायण शर्मा गिरोह का सदस्य रह चुके एक बदमाश को पुलिस ने अवैध हथियारों के साथ पकड़ लिया। बदमाश से पुलिस ने नौ देशी कट्‌टे और एक बंदूक बरामद की है। इसके अलावा पुलिस को बदमाश से 14 जिंदा कारतूस भी मिले है। यह बदमाश अवैध थियारों की डीलिंग करने के लिए बीहड़ों से होकर मुल्लपुरा जा रहा था तब पुलिस ने दबोच लिया।भिंड एसपी शैलेंद्र सिंह चौहान के मुताबिक वर्ष 1993-97 में डकैत राजनारायण गिरोह के सक्रिय सदस्य रहे कम्मोद सिंह भदौरिया निवासी ग्राम मौरा को पुलिस ने पकड़ कर जेल भेजा था। इसके बाद पुलिस ने राजनारायण गिरोह खत्म भी कर दिया था। डकैत गिरोह का सक्रिय सदस्य वर्ष 2016 में जेल से बाहर आया। इसके बाद हथियार तस्करी करने लगा।

यह बदमाश मैनपुरी उत्तर प्रदेश से कट्‌टा पिस्टल व कारतूस को लाता और भिंड, मुरैना व ग्वालियर समेत अन्य जिलों में सप्लाई करता था। जेल से आने के बाद शातिर बदमाश वर्ष 2018 में अमायन पुलिस ने चार अधिया और एक बंदूक के साथ पकड़ लिया था। इसके बाद बदमाश जमानत पर बाहर आया। यह बदमाश के कुछ साथी अवैध हथियारों की तस्करी के लिए जाते समय एक महीने पहले गोरमी थाना पुलिस ने पकड़े थे, जिसमें बदमाश कम्मोद पर भी मामला दर्ज हुआ था। भिंड की सायवर सेल प्रभारी शिवप्रताप सिंह व पावई थाना प्रभारी सुधाकर सिंह तोमर ने शातिर तस्कर को मल्लपुरा मोड के पास से पकड़ा। इस बदमाश से पुलिस ने अवैध हथियार भी जब्त किए।

पुलिस के मुताबिक शातिर बदमाश से 12 बोर दुनाली बंदूक मिली है। पुलिस ने जब बदमाश से पूछताछ की तो उसने डकैत गिरोह के सदस्य रहने के दौरान की बंदूक भी बताई। पुलिस का कहना है कि बदमाश डबल मर्डर करने के बाद राजनारायण शर्मा गिरोह का सदस्य बना था। बदमाश से पकड़ी गई बंदूक से गिरोह में रहकर बदमाश वारदात करता था। वर्ष 1993 से अपराधिक प्रवृत्तियों में लिप्त शातिर बदमाश अब तक कुल 9 वारदातों में अलग-अलग थानों में आरोपी रहा है।

नव भारत न्यूज

Next Post

मोदी पांच जनवरी को पंजाब में, करेंगे 43000 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास

Tue Jan 4 , 2022
चंडीगढ़, चार जनवरी(वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच जनवरी को पंजाब आएंगे और फिरोजपुर में सौ बिस्तरों के पीजीआई सैटलाईट सेंटर समेत राज्य में लगभग 42750 करोड़ रूपये से ज्यादा की परियोजनाओं का शिलान्यास करने के साथ एक बड़ी रैली को भी सम्बोधित करेंगे। केंद्रीय कृषि कानून समाप्त करने के बाद […]