मतगणना का सारणीकरण तथा निर्वाचन परिणाम की घोषणा नहीं होगी: जामोद

भोपाल। पंचायत चुनाव में ओबीसी आरक्षण को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पेंच फसा हुआ है। इसी बीच राज्य निर्वाचन आयोग का बड़ा फैसला सामने आया है। राज्य निर्वाचन आयोग ने कहा है कि जब तक सभी सीटों पर पंचायत चुनाव नहीं होंगे तब किसी भी सीट के चुनाव परिणाम घोषित नहीं होंगे । राज्य निर्वाचन आयोग ने त्रिस्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन 2021-22 में सरलीकरण एवं निर्वाचन परिणामों की घोषणा रोके जाने के संबंध में आदेश जारी किए हैं।

राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव बी एस जामोद ने बताया कि सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशानुसार त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन में सभी पदों के लिये मतगणना का सारणीकरण तथा निर्वाचन परिणाम की घोषणा संबंधी कार्यवाही स्थगित रहेगी। इस संबंध में आयोग द्वारा अलग से निर्देश दिये जायेंगे।
आधिकारिक जानकारी में श्री जामोद ने बताया है कि आयोग द्वारा जारी निर्वाचन कार्यक्रम के अनुसार पंच और सरपंच के लिये मतदान केन्द्र और विकासखंड मुख्यालय पर की जाने वाली मतगणना तथा जनपद पंचायत एवं जिला पंचायत सदस्य के लिए विकासखंड मुख्यालय पर ईव्हीएम से की जाने वाली मतगणना की जाएगी। मतगणना से संबंधित समस्त अभिलेख उपस्थित अभ्यर्थियों/अभिकर्ताओं की उपस्थिति में सील बंद कर सुरक्षित अभिरक्षा में रखे जायेंगे। किसी भी पद पर निर्विरोध निर्वाचन की स्थिति निर्मित होने पर रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा अभ्यर्थी को न ही निर्वाचित घोषित किया जाएगा और न ही निर्वाचन का प्रमाण-पत्र जारी किया जाएगा।
इस आदेश का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश भी जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिये गये हैं। उल्लेखनीय है कि अन्य पिछड़ा वर्ग के लिये आरक्षित पंच, सरपंच, जनपद पंचायत एवं जिला पंचायत सदस्य के पदों की निर्वाचन प्रक्रिया स्थगित की गयी है।

नव भारत न्यूज

Next Post

नारियल का एमएसपी बढा

Wed Dec 22 , 2021
नयी दिल्ली 22 दिसम्बर (वार्ता) सरकार ने वर्ष 2022 के लिए नारियल – कोपरा का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 10335 रुपये प्रति क्विंटल से बढाकर 10590 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया है । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति की आज यहां हुयी बैठक […]