‘एनडीए में महिलाओं के प्रवेश के लिए मई तक तंत्र विकसित कर लिया जाएगा’

नयी दिल्ली, 21 सितम्बर (वार्ता) राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) के जरिये सेना के तीनों अंगों में महिलाओं के प्रवेश पर विचार किया जाएगा और इसके लिए मई 2022 तक आवश्यक तंत्र विकसित कर लिया जाएगा।

रक्षा मंत्रालय ने उच्चतम न्यायालय में हलफनामा दायर करके अपनी योजना साझा की है।

रक्षा मंत्रालय की ओर से कैप्टन शांतनू शर्मा द्वारा न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के समक्ष दायर हलफनामे में कहा गया है कि यद्यपि एनडीए में प्रवेश के लिए साल में दो बार परीक्षा आयोजित की जाती है, लेकिन महिलाओं के लिए आवश्यक तंत्र मई 2022 तक विकसित की जा सकेगी।

हलफनामे में कहा गया है कि महिलाओं को एनडीए के जरिये सेना में प्रवेश देने में आने वाली दिक्कतों और महिला उम्मीदवारों के निर्बाध प्रशिक्षण के लिए व्यापक तैयारी की जा रही है।

रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि इसके लिए महिला उम्मीदवारों के लिए चिकित्सा मानदंडों के निर्धारण सहित तमाम पहलुओं के मानक तय किये जा रहे हैं।

मंत्रालय का कहना है कि यदि प्रशिक्षण के किसी भी मानक से समझौता किया जाएगा तो सशस्त्र बलों की युद्धभूमि में क्षमता पर इसका दुष्प्रभाव पड़ेगा।

नव भारत न्यूज

Next Post

नौकरशाही को चेतावनी

Wed Sep 22 , 2021
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी चौथी पारी में अलग ही तेवर में नजर आ रहे हैं. वे आक्रामक अंदाज में प्रशासनिक क्षमता का परिचय दे रहे हैं. हाल ही में उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संभाग आयुक्तों, जिला कलेक्टर्स और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को संबोधित करते हुए सख्त चेतावनी दी. […]