Breaking News :

मध्यप्रदेश में बेमौसम बारिश, फसलें प्रभावित

27-03-2020



भोपाल, मध्यप्रदेश में मौसम के बदले मिजाज के बीच आज राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के अधिकतर स्थानों पर बारिश हुयी, जिसके चलते मौसम में ठंडक घुल गयी। वहीं, इस बेमौसम बारिश के कारण रवी की फसलाें को भी काफी नुकसान पहुंचा है।

मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल के वरिष्ठ वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने यूनीवार्ता को बताया कि दक्षिण गुजरात से लेकर कर्नाटक तक एक ‘ट्रफ’ लाइन बनी है। इसके अलावा बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से नमी भी आ रही है। वहीं, दो पश्चिमी विक्षोभ हैं, जिसके प्रभाव से आज राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के अधिकतर स्थानों पर बारिश हुयी। इसका सबसे ज्यादा प्रभाव पश्चिमी मध्यप्रदेश में है।

श्री शुक्ला के अनुसार प्रदेश में मौजूदा समय में चार अलग अलग सिस्टम बने हुए हैं, जिसके चलते मौसम में यह बदलाव देखा गया है। उन्होंने बताया कि पिछले चौबीस घंटों के दौरान इंदौर में 16.2 मिमी, गुना में 4़ 6, भोपाल में 16.2, ग्वालियर में 8़ 4, उज्जैन में 6़ 0, शाजापुर 21़ 0] रतलाम में 13़ 0, खंडवा में 21़ 0 धार 3़ 1, रायसेन में 3़ 4 तथा होशंगाबाद में 5.0 मिलीमीटर वर्षा हुयी है।

वरिष्ठ वैज्ञानिक श्री शुक्ला के अनुसार प्रदेश में सक्रिय सिस्टम के चलते अगले चौबीस घंटों के दौरान प्रदेश के सागर, ग्वालियर और चंबल संभाग के अलावा रीवा, सतना, जबलपुर, विदिशा, रायसेन, खरगोन, बुरहानपुर, नीचम, मंदसौर, आगरमालवा, शाजापुर और होशंगाबाद जिलों में कहीं कहीं गरज चमक के साथ बारिश के अलावा तेज हवाएं चल सकती हैं तथा अल्पकालिक ओलावृष्टि की भी संभावना है।

राजधानी भोपाल तथा उसके आसपास के क्षेत्र में कल रात से अचानक मौसम बदल गया और मध्य रात्रि के बाद तेज बारिश हुयी, जो सुबह तक जारी रही। इसके चलते मौसम में ठंडक घुल गयी। राजधानी में सुबह से बादल छाए रहे, दोपहर एक बार फिर मौसम ने करवट ली और घने बादल छा गए और कुछ देर हुयी तेज बारिश हुयी। आगामी चौबीस घंटों के दौरान भी यहां गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts