Breaking News :

जबलपुर : पुलिस गरीबों को भोजन के अलावा जरूरी सामग्री, मास्क व सेनिटाइजर आदि बाँट रही है

30-03-2020



जबलपुर। कोरोना संक्रमण के महासंकट से जूझ रहे गरीबों के सामने  लॉकडाउन के दौरान रोजी रोटी का संकट उत्पन्न हो गया है। शहर के विभिन्न क्षेत्रों में ऐसे लोगों जो भिक्षा माँगकर जीवन यापन कर रहे हैं या फिर बस्तियों में रहने वाले गरीब हैं या शहर में फँसे श्रमिकों की मदद करने वर्दीधारी आगे आए हैं। शहर के विभिन्न थानों की पुलिस ऐसे लोगों की खोज कर उन्हें भोजन के अलावा जरूरी सामग्री, मास्क व सेनिटाइजर आदि बाँट रही है। संकट की इस घड़ी में कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने में जुटी पुलिस अब सेवा के कार्य भी कर रही है।

शासन-प्रशासन की मंशा के अनुरूप आज रांझी क्षेत्र में करीब एक दर्जन मजदूर फँसे हुए थे। इन मजदूरों के पास भोजन पानी की व्यवस्था नहीं थी। इसकी जानकारी लगने पर रांझी पुलिस ने तत्काल सभी मजदूरों को भोजन की व्यवस्था कराई। इसी तरह मदन महल पुलिस ने कई स्थानों पर पहुँचकर भिक्षा माँगने वालों व कठौंदा बस्ती में गरीबों के बीच पहुँचकर भोजन के पैकेटों का वितरण किया। साथ ही बस्ती के लोगों को भरोसा दिलाया कि उनकी हर संभव मदद की जाएगी। इसी तरह की व्यवस्था जिले के हर थाना क्षेत्रों में की गई है और प्रत्येक थाना क्षेत्र में पुलिस के वाहन भ्रमण कर गरीबों को भोजन के पैकेटों का वितरण कर रहे हैं। इस कार्य में सामाजिक संस्थाओं की मदद भी ली जा रही है।  

मास्क व सेनिटाइजर का वितरण -
इसी तरह गोहलपुर पुलिस द्वारा क्षेत्र में रहने वाले गरीब परिवारों व बच्चों के बीच मास्क व सेनिटाइजर का वितरण किया जा रहा है। साथ ही गरीबों व हाथ ठेला वालों को कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए समझाइश भी दी जा रही है।  

पुलिस कंट्रोल रूम से बंटे खाने के पैकेट्स-
 जनता कफ्र्यू के दौरान पुलिस द्वारा जरूरतमंदों की मदद के लिए की जा रही पहल पर समाज सेवी संगठनोंं की मदद से पुलिस कंट्रोल रूम में असहाय गरीबों को खाने के पैकेट्स का वितरण किया गया। पिछले पाँच दिनों से  समाजसेवी संगठनों द्वारा दो से तीन सौ पैकेट्स जिसमें पुड़ी-सब्जी व खिचड़ी आदि प्रदाय की जा रही है।

भेड़ाघाट में भी बाँटा खाना-  
भेड़ाघाट क्षेत्र में सिपाही हरिओम वैस द्वारा अपने साथियों के साथ भूखे प्यासे मजदूरों एवं नर्मदा किनारे रह रहे बेसहारा लोगों को खाना बाँटा। कोरोना संकट से निपटने के लिए लगाए गए जनता कफ्र्यू के दौरान थाना स्तर पर यह जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में गरीबों की मदद करें और उन्हें भोजन के पैकेट प्रदान किए जाएँ। इस कार्य के लिए स्वयंसेवी संस्थाओं की भी मदद ली जा रही है।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts