Breaking News :

10 लाख की बिजली बचाएगा बरकतउल्ला विवि

2018/01/10



सौर ऊर्जा से बिजली बनाने का आया प्रस्ताव

नवभारत न्यूज़ भोपाल, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में वैकल्पिक ऊर्जा के तौर पर सौर ऊर्जा का प्रयोग करने के लिए सोलर प्लांट का निर्माण होने जा रहा हैं. सौर ऊर्जा से बिजली उत्पन्न करने का यह प्रस्ताव विश्वविद्यालय कार्यपरिषद की बैठक में कुलपति प्रमोद वर्मा ने रखा था. जिसमें इसकी व्यवस्था के लिए टेेंडर जारी किये जाने की बात हैं.टेंडर में सर्वश्रेष्ठ व अनुभवी संस्था को इस काम को पूूरा करने का जिम्मा दिया जायेगा. अभी इसका सिर्फ प्रारुप आया है. विश्वविद्यालय परिसर में एक सौर तापीय संयंत्र स्थापित किया जाना प्रस्तावित हैं. इसकी मदद से विवि सूर्य की किरणों को कलेक्ट कर कन्सन्ट्रेट करेगा, जिसका उपयोग पानी को गर्म करने में किया जाएगा. इस गर्म पानी से जो भाप बनेगी, उससे टरबाईन चलाई जाएगी. विवि अगले एक साल के अंदर इस प्रोजेक्ट को शुरू करने की तैयारी कर रहा है. यह तकनीक ताप विद्युत परियोजना में कोयले के विकल्प के रूप में विकसित की जा रही है. पायलट प्रोजेक्ट के रूप में बीयूु परिसर में स्थापित किए जा रहे इस प्लांट का उपयोग प्राथमिक रूप से विश्वविद्यालय की प्रयोगशालाओं व विभिन्न विभागों में लगे एयरकंडीशनर व अन्य बिजली उपकरणों को चलाने में किया जाएगा. इसलिए पड़ी जरुरत विश्वविद्यालय के कार्यपरिषद सदस्य मुकेश मिश्रा ने बताया कि इस परियोजना से संस्थान में वैकल्पिक ऊर्जा की व्यवस्था होगी, साथ ही प्रतिमाह 10 लाख का बिजली का बिल जो संस्थान भरता है, उस राशि की बचत भी हो जायेगी. गौरतलब हैं, कि बीयू के कुलपति प्रमोद वर्मा पूर्व में मेपकांस्ट के निदेशक रहे हैं, जो कि नवाचारी वैज्ञानिक प्रयोगों पर कार्य करती हैं व सौर ऊर्जा से बिजली निमार्ण को बढ़ावा देती आयी हैं. कुठियाला बने रहेंगे एमसीयू के कुलपति प्रो. बी.के. कुठियाला माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति बने रहेगे. विश्वविद्यालय के नए कुलपति की नियुिक्त तक वह कुलपति बने रहेंगे. उनका कार्यकाल 18 जनवरी को समाप्त हो रहा है. मंत्रालय में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई महापरिषद की बैठक में यह फैसला लिया गया हैं. विश्वविद्यालय महापरिषद की बैठक में नए कुलपति के चयन के लिए कमेटी गठित हुई हैं. जो कि नये कुलपति का चयन करेगी.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts