Breaking News :

नयी दिल्ली, भारतीय बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने शनिवार को कहा कि हर मैच में कोलकाता के ईडन गार्डन जैसी जीवंत पिच नहीं मिल सकती। भारत के श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के पहले दिन चार विकेट पर 371 रन का मजबूत स्कोर बनाने के बाद बांगड़ ने प्रेस कांफ्रेस में फिरोज़शाह कोटला मैदान की पिच के बारे में पूछे जाने पर कहा“हर मैच में आपको एक जैसी पिच नहीं मिल सकती। कोलकाता की पिच अलग थी, नागपुर की पिच उससे अलग थी और यहां कोटला मैदान की पिच भी एक अलग विकेट है।ऐसा नहीं हो सकता कि हर मैच में एक जैसी पिच मिले।” पहले दिन ओपनर मुरली विजय और कप्तान विराट कोहली के शतक ठोके जाने पर बल्लेबाजी कोच ने कहा“ हमारा उद्देश्य यही रहता है कि शीर्ष क्रम के पांच बल्लेबाजों में कोई दो तीन बल्लेबाज बड़ी साझेदारी करें जिससे एक अच्छा स्कोर बनाकर विपक्षी टीम पर दबाव डाला जा सके।” उन्होंने कहा“नागपुर में भी हम इस रणनीति में सफल रहे थे और यहां भी टीम पहले दिन पौने चार सौ के आसपास स्कोर बना चुकी है जबकि अभी छह विकेट बाकी हैं।हमारे लिये सबसे अहम यही है कि विपक्षी टीम को पहले दिन से ही दबाव में ला दिया जाए।”"/> नयी दिल्ली, भारतीय बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने शनिवार को कहा कि हर मैच में कोलकाता के ईडन गार्डन जैसी जीवंत पिच नहीं मिल सकती। भारत के श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के पहले दिन चार विकेट पर 371 रन का मजबूत स्कोर बनाने के बाद बांगड़ ने प्रेस कांफ्रेस में फिरोज़शाह कोटला मैदान की पिच के बारे में पूछे जाने पर कहा“हर मैच में आपको एक जैसी पिच नहीं मिल सकती। कोलकाता की पिच अलग थी, नागपुर की पिच उससे अलग थी और यहां कोटला मैदान की पिच भी एक अलग विकेट है।ऐसा नहीं हो सकता कि हर मैच में एक जैसी पिच मिले।” पहले दिन ओपनर मुरली विजय और कप्तान विराट कोहली के शतक ठोके जाने पर बल्लेबाजी कोच ने कहा“ हमारा उद्देश्य यही रहता है कि शीर्ष क्रम के पांच बल्लेबाजों में कोई दो तीन बल्लेबाज बड़ी साझेदारी करें जिससे एक अच्छा स्कोर बनाकर विपक्षी टीम पर दबाव डाला जा सके।” उन्होंने कहा“नागपुर में भी हम इस रणनीति में सफल रहे थे और यहां भी टीम पहले दिन पौने चार सौ के आसपास स्कोर बना चुकी है जबकि अभी छह विकेट बाकी हैं।हमारे लिये सबसे अहम यही है कि विपक्षी टीम को पहले दिन से ही दबाव में ला दिया जाए।”"/> नयी दिल्ली, भारतीय बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने शनिवार को कहा कि हर मैच में कोलकाता के ईडन गार्डन जैसी जीवंत पिच नहीं मिल सकती। भारत के श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के पहले दिन चार विकेट पर 371 रन का मजबूत स्कोर बनाने के बाद बांगड़ ने प्रेस कांफ्रेस में फिरोज़शाह कोटला मैदान की पिच के बारे में पूछे जाने पर कहा“हर मैच में आपको एक जैसी पिच नहीं मिल सकती। कोलकाता की पिच अलग थी, नागपुर की पिच उससे अलग थी और यहां कोटला मैदान की पिच भी एक अलग विकेट है।ऐसा नहीं हो सकता कि हर मैच में एक जैसी पिच मिले।” पहले दिन ओपनर मुरली विजय और कप्तान विराट कोहली के शतक ठोके जाने पर बल्लेबाजी कोच ने कहा“ हमारा उद्देश्य यही रहता है कि शीर्ष क्रम के पांच बल्लेबाजों में कोई दो तीन बल्लेबाज बड़ी साझेदारी करें जिससे एक अच्छा स्कोर बनाकर विपक्षी टीम पर दबाव डाला जा सके।” उन्होंने कहा“नागपुर में भी हम इस रणनीति में सफल रहे थे और यहां भी टीम पहले दिन पौने चार सौ के आसपास स्कोर बना चुकी है जबकि अभी छह विकेट बाकी हैं।हमारे लिये सबसे अहम यही है कि विपक्षी टीम को पहले दिन से ही दबाव में ला दिया जाए।”">

हर मैच में कोलकाता जैसी पिच नहीं हो सकती: बांगड़

2017/12/04



नयी दिल्ली, भारतीय बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने शनिवार को कहा कि हर मैच में कोलकाता के ईडन गार्डन जैसी जीवंत पिच नहीं मिल सकती। भारत के श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के पहले दिन चार विकेट पर 371 रन का मजबूत स्कोर बनाने के बाद बांगड़ ने प्रेस कांफ्रेस में फिरोज़शाह कोटला मैदान की पिच के बारे में पूछे जाने पर कहा“हर मैच में आपको एक जैसी पिच नहीं मिल सकती। कोलकाता की पिच अलग थी, नागपुर की पिच उससे अलग थी और यहां कोटला मैदान की पिच भी एक अलग विकेट है।ऐसा नहीं हो सकता कि हर मैच में एक जैसी पिच मिले।” पहले दिन ओपनर मुरली विजय और कप्तान विराट कोहली के शतक ठोके जाने पर बल्लेबाजी कोच ने कहा“ हमारा उद्देश्य यही रहता है कि शीर्ष क्रम के पांच बल्लेबाजों में कोई दो तीन बल्लेबाज बड़ी साझेदारी करें जिससे एक अच्छा स्कोर बनाकर विपक्षी टीम पर दबाव डाला जा सके।” उन्होंने कहा“नागपुर में भी हम इस रणनीति में सफल रहे थे और यहां भी टीम पहले दिन पौने चार सौ के आसपास स्कोर बना चुकी है जबकि अभी छह विकेट बाकी हैं।हमारे लिये सबसे अहम यही है कि विपक्षी टीम को पहले दिन से ही दबाव में ला दिया जाए।”


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts