Breaking News :

नयी दिल्ली,  भारतीय खाद्य एवं कृषि परिषद (आईसीएफए) ने देश के विभिन्न राज्यों में कृषि संबंधी मांगों को लेकर हो रहे आन्दोलनों के मद्देनजर सरकार से स्वामीनाथन आयोग की अनुशंसाओं को लागू करने का अनुरोध किया है ताकि किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य मिल सके । आईसीएफए के अध्यक्ष एम जे खान , कार्यपालक निदेशक एन एस रणधावा और निदेशक ममता जैन ने किसानों की समस्याओं को लेकर आज यहां ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र तोमर से मुलाकात की और सम्स्याओं के समाधान के उपाय बताये जिससे वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का उद्देश्य प्राप्त किया जा सके । उन्होंने कहा कि किसानों को कृषि लागत के अलावा पचास प्रतिशत उपज मूल्य दिया जाना चाहिये ।"/> नयी दिल्ली,  भारतीय खाद्य एवं कृषि परिषद (आईसीएफए) ने देश के विभिन्न राज्यों में कृषि संबंधी मांगों को लेकर हो रहे आन्दोलनों के मद्देनजर सरकार से स्वामीनाथन आयोग की अनुशंसाओं को लागू करने का अनुरोध किया है ताकि किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य मिल सके । आईसीएफए के अध्यक्ष एम जे खान , कार्यपालक निदेशक एन एस रणधावा और निदेशक ममता जैन ने किसानों की समस्याओं को लेकर आज यहां ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र तोमर से मुलाकात की और सम्स्याओं के समाधान के उपाय बताये जिससे वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का उद्देश्य प्राप्त किया जा सके । उन्होंने कहा कि किसानों को कृषि लागत के अलावा पचास प्रतिशत उपज मूल्य दिया जाना चाहिये ।"/> नयी दिल्ली,  भारतीय खाद्य एवं कृषि परिषद (आईसीएफए) ने देश के विभिन्न राज्यों में कृषि संबंधी मांगों को लेकर हो रहे आन्दोलनों के मद्देनजर सरकार से स्वामीनाथन आयोग की अनुशंसाओं को लागू करने का अनुरोध किया है ताकि किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य मिल सके । आईसीएफए के अध्यक्ष एम जे खान , कार्यपालक निदेशक एन एस रणधावा और निदेशक ममता जैन ने किसानों की समस्याओं को लेकर आज यहां ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र तोमर से मुलाकात की और सम्स्याओं के समाधान के उपाय बताये जिससे वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का उद्देश्य प्राप्त किया जा सके । उन्होंने कहा कि किसानों को कृषि लागत के अलावा पचास प्रतिशत उपज मूल्य दिया जाना चाहिये ।">

स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने की जरुरत : आईसीएफए

2017/06/10



नयी दिल्ली,  भारतीय खाद्य एवं कृषि परिषद (आईसीएफए) ने देश के विभिन्न राज्यों में कृषि संबंधी मांगों को लेकर हो रहे आन्दोलनों के मद्देनजर सरकार से स्वामीनाथन आयोग की अनुशंसाओं को लागू करने का अनुरोध किया है ताकि किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य मिल सके । आईसीएफए के अध्यक्ष एम जे खान , कार्यपालक निदेशक एन एस रणधावा और निदेशक ममता जैन ने किसानों की समस्याओं को लेकर आज यहां ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र तोमर से मुलाकात की और सम्स्याओं के समाधान के उपाय बताये जिससे वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का उद्देश्य प्राप्त किया जा सके । उन्होंने कहा कि किसानों को कृषि लागत के अलावा पचास प्रतिशत उपज मूल्य दिया जाना चाहिये ।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts