Breaking News :

स्टूडेंट्स ने सीखा रद्दी और पेपर मैसी से मास्क मेकिंग

2018/01/10



मास्क मेकिंग की नि:शुल्क वर्कशॉप शुरू

भोपाल, रंगमंच से जुडने वाले स्टूडेंट्स के लिए इन दिनों मास्क बनाने की नि:शुल्क कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है. यह कार्यशाला राजधानी के जवाहर चौक के पास पीएंडटी चौराहे स्थित मायाराम सृजन भवन में शुरू की गई है. पीपल्स थियेटर ग्रुप की ओर से आयोजित इस मास्क बनाने वर्कशॉप में स्टूडेंट्स को पीओपी बैंडेज से मास्क बनाने के बारे में बताया गया. इसके बाद स्टूडेंट्स ने खुद अपने हाथों से मास्क डिजाईन किया. राजधानी के युवा रंगकर्मी शरद बाघला के मार्गदर्शन मे मास्क बनाने की टिप्स दी जा रही है. शरद बाघला ने बताया कि, मास्क मैकिंग के शुरुआती काम बेसिक वर्क के साथ शुरू किया जाता है. एक मास्क को परफेक्ट बनाने के लिए कम से कम दो दिन का समय लगता है. इसलिए हम स्टूडेंट्स को एक बार डेमो देकर खुद उनके मास्क बनाने का काम करवाते हैं, ताकि प्रै्रक्टिकली वो मास्क बना सकें और सीख सकें. इन दिनों मास्क पेपरमैसी, पुराने अखबार, पीओपी बैंडज, हार्ड शीट, ब्राउन कवर जैसी सामग्रियों से तैयार किए जा रहे हैं. नहीं है आयु वर्ग की सीमा पीपुल्स थियेटर ग्रुप की निर्देशिकासिंधु धौलपुर ने बताया कि, इस कार्यशाला में किसी भी आयु वर्ग के लोग हिस्सा ले सकते हैं और नाटकों और फिल्मों में इस्तेमाल होने वाले मास्क बनाना सीख सकते हैं. यह कार्यशाला दोपहर 2 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक मायाराम भवन के पहले फ्लोर में आयोजित की जा रही है. मास्क मेकिंग सीखने के लिए संस्था द्वारा जारी फोन नंबर पर कॉल करके भी इच्छुक कार्यशाला में शामिल हो सकते हैं. हमारी कार्यशाला में सभी स्टूडेंट्स पर थ्योरी के अलावा प्रैक्टिल नॉलेज पर ज्यादा फोकस किया जाएगा. कार्यशाला के बाद नाटक निर्देशिकासिंधु धौलपुर ने कहा की, हम जल्द ही इस कार्यशाला में बनाए जाने वाले मास्क की डिजाइन पूर्ण रूप से तैयार करेंगें. डिजाइन तैयार होने के बाद बनाए गए मास्क के चरित्रों का निर्माण करेंगे. चरित्रों के अनुसार कहानी बना कर नाटक का रूप देंगें. कार्यक्रम के आखरी दिनों में पीपल्स थियेटर ग्रुप द्वारा तैयार नाटक की मंच पर प्रस्तुत होगी.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts