Breaking News :

बैंकॉक, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने थाईलैंड के विदेश मंत्री डॉन प्रमुद्विनाई के साथ आज यहां द्विपक्षीय बैठक में दोनों देशों के बीच संपर्क, सुरक्षा और सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि श्रीमती स्वराज ने दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने के लिये श्री प्रमुद्विनाई के साथ कनेक्टिविटी, सुरक्षा और सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। विदेश मंत्री तीन देशों -थाईलैंड, इंडोनेशिया और सिंगापुर की यात्रा के प्रथम चरण में नयी दिल्ली से सुबह रवाना होकर बैंकाक पहुंचीं हैं।वर्ष 2018 की यह उनकी पहली विदेश यात्रा है। अपनी इस यात्रा के दौरान श्रीमती स्वराज नयी दिल्ली में 25 जनवरी को भारत-आसियान के बीच संवाद साझेदारी की स्थापना की 25वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित भारत-आसियान विशेष स्मृति सम्मेलन को लेकर अपने समकक्ष वार्ताकारों के साथ सूचनाएं साझा करेंगी। इस सम्मेलन में आसियान के दसों सदस्य देशों के शासनाध्यक्ष भाग लेंगे और वे 26 जनवरी को भारत के 69वें गणतंत्र दिवस के समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे।"/> बैंकॉक, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने थाईलैंड के विदेश मंत्री डॉन प्रमुद्विनाई के साथ आज यहां द्विपक्षीय बैठक में दोनों देशों के बीच संपर्क, सुरक्षा और सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि श्रीमती स्वराज ने दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने के लिये श्री प्रमुद्विनाई के साथ कनेक्टिविटी, सुरक्षा और सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। विदेश मंत्री तीन देशों -थाईलैंड, इंडोनेशिया और सिंगापुर की यात्रा के प्रथम चरण में नयी दिल्ली से सुबह रवाना होकर बैंकाक पहुंचीं हैं।वर्ष 2018 की यह उनकी पहली विदेश यात्रा है। अपनी इस यात्रा के दौरान श्रीमती स्वराज नयी दिल्ली में 25 जनवरी को भारत-आसियान के बीच संवाद साझेदारी की स्थापना की 25वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित भारत-आसियान विशेष स्मृति सम्मेलन को लेकर अपने समकक्ष वार्ताकारों के साथ सूचनाएं साझा करेंगी। इस सम्मेलन में आसियान के दसों सदस्य देशों के शासनाध्यक्ष भाग लेंगे और वे 26 जनवरी को भारत के 69वें गणतंत्र दिवस के समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे।"/> बैंकॉक, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने थाईलैंड के विदेश मंत्री डॉन प्रमुद्विनाई के साथ आज यहां द्विपक्षीय बैठक में दोनों देशों के बीच संपर्क, सुरक्षा और सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि श्रीमती स्वराज ने दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने के लिये श्री प्रमुद्विनाई के साथ कनेक्टिविटी, सुरक्षा और सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। विदेश मंत्री तीन देशों -थाईलैंड, इंडोनेशिया और सिंगापुर की यात्रा के प्रथम चरण में नयी दिल्ली से सुबह रवाना होकर बैंकाक पहुंचीं हैं।वर्ष 2018 की यह उनकी पहली विदेश यात्रा है। अपनी इस यात्रा के दौरान श्रीमती स्वराज नयी दिल्ली में 25 जनवरी को भारत-आसियान के बीच संवाद साझेदारी की स्थापना की 25वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित भारत-आसियान विशेष स्मृति सम्मेलन को लेकर अपने समकक्ष वार्ताकारों के साथ सूचनाएं साझा करेंगी। इस सम्मेलन में आसियान के दसों सदस्य देशों के शासनाध्यक्ष भाग लेंगे और वे 26 जनवरी को भारत के 69वें गणतंत्र दिवस के समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे।">

सुषमा ने थाईलैंड के विदेश मंत्री से की मुलाकात

2018/01/05



बैंकॉक, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने थाईलैंड के विदेश मंत्री डॉन प्रमुद्विनाई के साथ आज यहां द्विपक्षीय बैठक में दोनों देशों के बीच संपर्क, सुरक्षा और सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि श्रीमती स्वराज ने दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने के लिये श्री प्रमुद्विनाई के साथ कनेक्टिविटी, सुरक्षा और सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। विदेश मंत्री तीन देशों -थाईलैंड, इंडोनेशिया और सिंगापुर की यात्रा के प्रथम चरण में नयी दिल्ली से सुबह रवाना होकर बैंकाक पहुंचीं हैं।वर्ष 2018 की यह उनकी पहली विदेश यात्रा है। अपनी इस यात्रा के दौरान श्रीमती स्वराज नयी दिल्ली में 25 जनवरी को भारत-आसियान के बीच संवाद साझेदारी की स्थापना की 25वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित भारत-आसियान विशेष स्मृति सम्मेलन को लेकर अपने समकक्ष वार्ताकारों के साथ सूचनाएं साझा करेंगी। इस सम्मेलन में आसियान के दसों सदस्य देशों के शासनाध्यक्ष भाग लेंगे और वे 26 जनवरी को भारत के 69वें गणतंत्र दिवस के समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts