Breaking News :

नवभारत न्यूज रायसेन, अपनी मांगों को लेकर बीते 18 दिन से हड़ताल पर डटे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर धरना स्थल चिनार चिल्ड्रन पार्क के सामने थाली बजाकर विरोध जताया। इस मौके पर संविदा स्वास्थ्य महिला कर्मचारियों ने कहा कि उनके लिए आज का दिन शोषित महिला दिवस है। शासन द्वारा चलाई जा रही दमनकारी एवं हिटलरशाही नीतियों के चलते बीते 15-20 सालों से वह प्रताडि़त हैं। आज के दिन थाली बजाने का मतलब यह है कि हम लोग अपना घर परिवार एवं बच्चों का पालन पोषण तक सही ढंग से नहीं कर पा रहे हैं। इसके बाबजूद सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है। संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी अब अपना हक लेकर रहेंगे।

लडख़ड़ाईं स्वास्थ्य सेवाएं

जिले में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल के चलते स्वास्थ्य सेवाएं लडख़ड़ा गईं हैं। टीकाकरण, सुरक्षित प्रसव, बाल स्वास्थ्य देखभाल, पोषण केंद्र आदि सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हैं। अस्पतालों में दवा वितरण, मरीजों की जांच आदि सेवाएं भी प्रभावित हो रहीं हैं।"/> नवभारत न्यूज रायसेन, अपनी मांगों को लेकर बीते 18 दिन से हड़ताल पर डटे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर धरना स्थल चिनार चिल्ड्रन पार्क के सामने थाली बजाकर विरोध जताया। इस मौके पर संविदा स्वास्थ्य महिला कर्मचारियों ने कहा कि उनके लिए आज का दिन शोषित महिला दिवस है। शासन द्वारा चलाई जा रही दमनकारी एवं हिटलरशाही नीतियों के चलते बीते 15-20 सालों से वह प्रताडि़त हैं। आज के दिन थाली बजाने का मतलब यह है कि हम लोग अपना घर परिवार एवं बच्चों का पालन पोषण तक सही ढंग से नहीं कर पा रहे हैं। इसके बाबजूद सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है। संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी अब अपना हक लेकर रहेंगे।

लडख़ड़ाईं स्वास्थ्य सेवाएं

जिले में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल के चलते स्वास्थ्य सेवाएं लडख़ड़ा गईं हैं। टीकाकरण, सुरक्षित प्रसव, बाल स्वास्थ्य देखभाल, पोषण केंद्र आदि सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हैं। अस्पतालों में दवा वितरण, मरीजों की जांच आदि सेवाएं भी प्रभावित हो रहीं हैं।"/> नवभारत न्यूज रायसेन, अपनी मांगों को लेकर बीते 18 दिन से हड़ताल पर डटे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर धरना स्थल चिनार चिल्ड्रन पार्क के सामने थाली बजाकर विरोध जताया। इस मौके पर संविदा स्वास्थ्य महिला कर्मचारियों ने कहा कि उनके लिए आज का दिन शोषित महिला दिवस है। शासन द्वारा चलाई जा रही दमनकारी एवं हिटलरशाही नीतियों के चलते बीते 15-20 सालों से वह प्रताडि़त हैं। आज के दिन थाली बजाने का मतलब यह है कि हम लोग अपना घर परिवार एवं बच्चों का पालन पोषण तक सही ढंग से नहीं कर पा रहे हैं। इसके बाबजूद सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है। संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी अब अपना हक लेकर रहेंगे।

लडख़ड़ाईं स्वास्थ्य सेवाएं

जिले में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल के चलते स्वास्थ्य सेवाएं लडख़ड़ा गईं हैं। टीकाकरण, सुरक्षित प्रसव, बाल स्वास्थ्य देखभाल, पोषण केंद्र आदि सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हैं। अस्पतालों में दवा वितरण, मरीजों की जांच आदि सेवाएं भी प्रभावित हो रहीं हैं।">

संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने थाली बजाकर जताया विरोध

2018/03/09



नवभारत न्यूज रायसेन, अपनी मांगों को लेकर बीते 18 दिन से हड़ताल पर डटे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर धरना स्थल चिनार चिल्ड्रन पार्क के सामने थाली बजाकर विरोध जताया। इस मौके पर संविदा स्वास्थ्य महिला कर्मचारियों ने कहा कि उनके लिए आज का दिन शोषित महिला दिवस है। शासन द्वारा चलाई जा रही दमनकारी एवं हिटलरशाही नीतियों के चलते बीते 15-20 सालों से वह प्रताडि़त हैं। आज के दिन थाली बजाने का मतलब यह है कि हम लोग अपना घर परिवार एवं बच्चों का पालन पोषण तक सही ढंग से नहीं कर पा रहे हैं। इसके बाबजूद सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है। संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी अब अपना हक लेकर रहेंगे।

लडख़ड़ाईं स्वास्थ्य सेवाएं

जिले में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल के चलते स्वास्थ्य सेवाएं लडख़ड़ा गईं हैं। टीकाकरण, सुरक्षित प्रसव, बाल स्वास्थ्य देखभाल, पोषण केंद्र आदि सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हैं। अस्पतालों में दवा वितरण, मरीजों की जांच आदि सेवाएं भी प्रभावित हो रहीं हैं।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts