Breaking News :

भारत को सात विकेट से हराया, तीन एक दिवसीय मैच की सीरीज में 1-0 से बनाई बढ़त धर्मशाला, तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) के बाद बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर श्रीलंका ने यहां आज मेजबान भारत को पहले वनडे में सात विकेट से हराकर तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली. धर्मशाला के मैदान पर श्रीलंका की यह पहली जीत है, साथ ही श्रीलंका को 12 मैच हारने के बाद 13 मैच में जीत का स्वाद मिला है.मेहमान श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करते हुए भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया और फिर 20.4 ओवर में तीन विकेट पर 114 रन बनाकर मैच जीत लिया. श्रीलंका के लिए उपुल थरंगा ने 46 गेंदों पर 10 चौकों की बदौलत 49, विकेटकीपर निरोशन डिकवेला ने 24 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से नाबाद 26 और एंजेलो मैथ्यूज ने 42 गेंदों पर पांच चौकों के सहारे नाबाद 25 रन बनाए. दानुष्का गुणातिल्का (1) और लाहिरू तिरिमाने (0) पर आउट हुए. मैथ्यूज ने थरंगा के साथ तीसरे विकेट के लिए 46 और डिकवेला के साथ चौथे विकेट के लिए 49 रन की अविजित साझेदारी की. भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने 42 रन पर एक विकेट, जसप्रीत बुमराह ने 31 रन पर एक विकेट और हार्दिक पांड्या ने 39 रन पर एक विकेट हासिल किया. इससे पहले तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत श्रीलंका ने भारत को 112 रन पर ढेर कर दिया और 20.4 ओवर में तीन विकेट पर 114 रन बनाकर मैच जीत लिया. मेहमान श्रीलंका के कप्तान तिषारा परेरा ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया और उसके गेंदबाजों ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया. भारत का वनडे इतिहास में यह पांचवां न्यूनतम स्कोर है. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (65) को छोड़कर भारत के सिर्फ दो बल्लेबाज कुलदीप यादव (19) और आलराउंडर हार्दिक पांड्या (10) ही दहाई का आंकड़ा छू सके. भारत से टेस्ट सीरीज 0-1 से हारने के बाद श्रीलंका के गेंदबाजों ने यहां कमाल की वापसी की और 16 रन के अंदर ही मेजाबन टीम के पांच बल्लेबाजों को प्वेलियन भेज दिया. लकमल ने इन पांच विकेटों में से तीन विकेट निकाले. वनडे इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी भी टीम ने 16 रन के अंदर ही अपने पहले पांच विकेट गंवाए हैं.नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में रोहित शर्मा की कप्तानी में पहली बार खेलने उतरी भारतीय टीम ने 29 रन तक आते-आते अपने सात विकेट गंवा दिये. वह तो भला हो पूर्व कैप्टन कूल धोनी का जिन्होंने संयम से खेलते हुए अपना अद्र्र्धशतक पूरा और टीम के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया. धोनी ने हार्दिक के साथ छठे विकेट के लिए 12, कुलदीप के साथ आठवें विकेट के लिए 41, जसप्रीत बुमराह के साथ नौवें विकेट के लिए 17 और युजवेंद्र चहल के साथ आखिरी विकेट के लिए 25 रन की साझेदारी कर भारत को 112 रन तक पहुंचाया. तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत श्रीलंका ने यहां भारत को तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज 112 रन पर ढेर कर दिया. मेहमान श्रीलंका के कप्तान तिषारा परेरा ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया और उसके गेंदबाजों ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए मेजबान भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया. भारत का वनडे इतिहास में यह पांचवां न्यूनतम स्कोर है. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (65) को छोड़कर भारत के सिर्फ दो बल्लेबाज कुलदीप यादव (19) और आलराउंडर हार्दिक पांड्या (10) ही दहाई का आंकड़ा छू सके. भारत से टेस्ट सीरीज 0-1 से हारने के बाद श्रीलंका के गेंदबाजों ने यहां कमाल की वापसी की और 16 रन के अंदर ही मेजाबन टीम के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया. लकमल ने इन पांच विकेटों में से तीन विकेट निकाले. वनडे इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी भी टीम ने 16 रन के अंदर ही अपने पहले पांच विकेट गंवाए हैं. नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में रोहित शर्मा की कप्तानी में पहली बार खेलने उतरी भारतीय टीम ने 29 रन तक आते-आते अपने सात विकेट गंवा दिये. वह तो भला हो पूर्व कैप्टन कूल धोनी का जिन्होंने संयम से खेलते हुए अपना अद्र्धशतक पूरा और टीम के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया. धोनी ने हार्दिक के साथ छठे विकेट के लिए 12, कुलदीप के साथ आठवें विकेट के लिए 41, जसप्रीत बुमराह के साथ नौवें विकेट के लिए 17 और युजवेंद्र चहल के साथ आखिरी विकेट के लिए 25 रन की साझेदारी कर भारत को 112 रन तक पहुंचाया. धोनी टीम के 112 के स्कोर पर आखिरी विकेट के रूप में आउट हुए. उन्होंने 87 गेंदों में 10 चौकों और दो छक्कों की बदौलत 65 रन बनाए और अपने वनडे क्रिकेट करियर में 67वां अद्र्धशतक लगाया. धोनी को तिषारा परेरा ने सीमा रेखा पर गुणातिल्का के हाथ कैच कराकर भारत की पारी का अंत किया. श्रीलंकाई गेंदबाजों के आक्रमण के सामने भारत के चार बल्लेबाज अपना खाता भी नहीं खोल सके. ओपनर और कप्तान रोहित शर्मा ने 2, शिखर धवन ने शून्य, वनडे में अपना पदार्पण कर रहे श्रेयस अय्यर ने 9, दिनेश कार्तिक ने शून्य, मनीष पांडे ने 2, भुवनेश्वर कुमार ने शून्य और जसप्रीत बुमराह ने शून्य रन बनाए. श्रीलंका के लिए लकमल ने बेहतरीन गेंदबाजी की और 10 ओवर में चार मेडन रखते हुए 13 रन देकर चार विकेट हासिल किया जो वनडे में उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन है. इसके अलावा नुवान फर्नांडो ने 37 रन पर दो विकेट, एंजेलो मैथ्यूज ने आठ रन पर एक विकेट, परेरा ने 29 रन पर एक विकेट, धनंजय ने सात रन पर एक विकेट और पथिराना ने 16 रन पर एक विकेट लिया."/> भारत को सात विकेट से हराया, तीन एक दिवसीय मैच की सीरीज में 1-0 से बनाई बढ़त धर्मशाला, तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) के बाद बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर श्रीलंका ने यहां आज मेजबान भारत को पहले वनडे में सात विकेट से हराकर तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली. धर्मशाला के मैदान पर श्रीलंका की यह पहली जीत है, साथ ही श्रीलंका को 12 मैच हारने के बाद 13 मैच में जीत का स्वाद मिला है.मेहमान श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करते हुए भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया और फिर 20.4 ओवर में तीन विकेट पर 114 रन बनाकर मैच जीत लिया. श्रीलंका के लिए उपुल थरंगा ने 46 गेंदों पर 10 चौकों की बदौलत 49, विकेटकीपर निरोशन डिकवेला ने 24 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से नाबाद 26 और एंजेलो मैथ्यूज ने 42 गेंदों पर पांच चौकों के सहारे नाबाद 25 रन बनाए. दानुष्का गुणातिल्का (1) और लाहिरू तिरिमाने (0) पर आउट हुए. मैथ्यूज ने थरंगा के साथ तीसरे विकेट के लिए 46 और डिकवेला के साथ चौथे विकेट के लिए 49 रन की अविजित साझेदारी की. भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने 42 रन पर एक विकेट, जसप्रीत बुमराह ने 31 रन पर एक विकेट और हार्दिक पांड्या ने 39 रन पर एक विकेट हासिल किया. इससे पहले तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत श्रीलंका ने भारत को 112 रन पर ढेर कर दिया और 20.4 ओवर में तीन विकेट पर 114 रन बनाकर मैच जीत लिया. मेहमान श्रीलंका के कप्तान तिषारा परेरा ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया और उसके गेंदबाजों ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया. भारत का वनडे इतिहास में यह पांचवां न्यूनतम स्कोर है. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (65) को छोड़कर भारत के सिर्फ दो बल्लेबाज कुलदीप यादव (19) और आलराउंडर हार्दिक पांड्या (10) ही दहाई का आंकड़ा छू सके. भारत से टेस्ट सीरीज 0-1 से हारने के बाद श्रीलंका के गेंदबाजों ने यहां कमाल की वापसी की और 16 रन के अंदर ही मेजाबन टीम के पांच बल्लेबाजों को प्वेलियन भेज दिया. लकमल ने इन पांच विकेटों में से तीन विकेट निकाले. वनडे इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी भी टीम ने 16 रन के अंदर ही अपने पहले पांच विकेट गंवाए हैं.नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में रोहित शर्मा की कप्तानी में पहली बार खेलने उतरी भारतीय टीम ने 29 रन तक आते-आते अपने सात विकेट गंवा दिये. वह तो भला हो पूर्व कैप्टन कूल धोनी का जिन्होंने संयम से खेलते हुए अपना अद्र्र्धशतक पूरा और टीम के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया. धोनी ने हार्दिक के साथ छठे विकेट के लिए 12, कुलदीप के साथ आठवें विकेट के लिए 41, जसप्रीत बुमराह के साथ नौवें विकेट के लिए 17 और युजवेंद्र चहल के साथ आखिरी विकेट के लिए 25 रन की साझेदारी कर भारत को 112 रन तक पहुंचाया. तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत श्रीलंका ने यहां भारत को तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज 112 रन पर ढेर कर दिया. मेहमान श्रीलंका के कप्तान तिषारा परेरा ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया और उसके गेंदबाजों ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए मेजबान भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया. भारत का वनडे इतिहास में यह पांचवां न्यूनतम स्कोर है. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (65) को छोड़कर भारत के सिर्फ दो बल्लेबाज कुलदीप यादव (19) और आलराउंडर हार्दिक पांड्या (10) ही दहाई का आंकड़ा छू सके. भारत से टेस्ट सीरीज 0-1 से हारने के बाद श्रीलंका के गेंदबाजों ने यहां कमाल की वापसी की और 16 रन के अंदर ही मेजाबन टीम के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया. लकमल ने इन पांच विकेटों में से तीन विकेट निकाले. वनडे इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी भी टीम ने 16 रन के अंदर ही अपने पहले पांच विकेट गंवाए हैं. नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में रोहित शर्मा की कप्तानी में पहली बार खेलने उतरी भारतीय टीम ने 29 रन तक आते-आते अपने सात विकेट गंवा दिये. वह तो भला हो पूर्व कैप्टन कूल धोनी का जिन्होंने संयम से खेलते हुए अपना अद्र्धशतक पूरा और टीम के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया. धोनी ने हार्दिक के साथ छठे विकेट के लिए 12, कुलदीप के साथ आठवें विकेट के लिए 41, जसप्रीत बुमराह के साथ नौवें विकेट के लिए 17 और युजवेंद्र चहल के साथ आखिरी विकेट के लिए 25 रन की साझेदारी कर भारत को 112 रन तक पहुंचाया. धोनी टीम के 112 के स्कोर पर आखिरी विकेट के रूप में आउट हुए. उन्होंने 87 गेंदों में 10 चौकों और दो छक्कों की बदौलत 65 रन बनाए और अपने वनडे क्रिकेट करियर में 67वां अद्र्धशतक लगाया. धोनी को तिषारा परेरा ने सीमा रेखा पर गुणातिल्का के हाथ कैच कराकर भारत की पारी का अंत किया. श्रीलंकाई गेंदबाजों के आक्रमण के सामने भारत के चार बल्लेबाज अपना खाता भी नहीं खोल सके. ओपनर और कप्तान रोहित शर्मा ने 2, शिखर धवन ने शून्य, वनडे में अपना पदार्पण कर रहे श्रेयस अय्यर ने 9, दिनेश कार्तिक ने शून्य, मनीष पांडे ने 2, भुवनेश्वर कुमार ने शून्य और जसप्रीत बुमराह ने शून्य रन बनाए. श्रीलंका के लिए लकमल ने बेहतरीन गेंदबाजी की और 10 ओवर में चार मेडन रखते हुए 13 रन देकर चार विकेट हासिल किया जो वनडे में उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन है. इसके अलावा नुवान फर्नांडो ने 37 रन पर दो विकेट, एंजेलो मैथ्यूज ने आठ रन पर एक विकेट, परेरा ने 29 रन पर एक विकेट, धनंजय ने सात रन पर एक विकेट और पथिराना ने 16 रन पर एक विकेट लिया."/> भारत को सात विकेट से हराया, तीन एक दिवसीय मैच की सीरीज में 1-0 से बनाई बढ़त धर्मशाला, तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) के बाद बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर श्रीलंका ने यहां आज मेजबान भारत को पहले वनडे में सात विकेट से हराकर तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली. धर्मशाला के मैदान पर श्रीलंका की यह पहली जीत है, साथ ही श्रीलंका को 12 मैच हारने के बाद 13 मैच में जीत का स्वाद मिला है.मेहमान श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करते हुए भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया और फिर 20.4 ओवर में तीन विकेट पर 114 रन बनाकर मैच जीत लिया. श्रीलंका के लिए उपुल थरंगा ने 46 गेंदों पर 10 चौकों की बदौलत 49, विकेटकीपर निरोशन डिकवेला ने 24 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से नाबाद 26 और एंजेलो मैथ्यूज ने 42 गेंदों पर पांच चौकों के सहारे नाबाद 25 रन बनाए. दानुष्का गुणातिल्का (1) और लाहिरू तिरिमाने (0) पर आउट हुए. मैथ्यूज ने थरंगा के साथ तीसरे विकेट के लिए 46 और डिकवेला के साथ चौथे विकेट के लिए 49 रन की अविजित साझेदारी की. भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने 42 रन पर एक विकेट, जसप्रीत बुमराह ने 31 रन पर एक विकेट और हार्दिक पांड्या ने 39 रन पर एक विकेट हासिल किया. इससे पहले तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत श्रीलंका ने भारत को 112 रन पर ढेर कर दिया और 20.4 ओवर में तीन विकेट पर 114 रन बनाकर मैच जीत लिया. मेहमान श्रीलंका के कप्तान तिषारा परेरा ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया और उसके गेंदबाजों ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया. भारत का वनडे इतिहास में यह पांचवां न्यूनतम स्कोर है. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (65) को छोड़कर भारत के सिर्फ दो बल्लेबाज कुलदीप यादव (19) और आलराउंडर हार्दिक पांड्या (10) ही दहाई का आंकड़ा छू सके. भारत से टेस्ट सीरीज 0-1 से हारने के बाद श्रीलंका के गेंदबाजों ने यहां कमाल की वापसी की और 16 रन के अंदर ही मेजाबन टीम के पांच बल्लेबाजों को प्वेलियन भेज दिया. लकमल ने इन पांच विकेटों में से तीन विकेट निकाले. वनडे इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी भी टीम ने 16 रन के अंदर ही अपने पहले पांच विकेट गंवाए हैं.नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में रोहित शर्मा की कप्तानी में पहली बार खेलने उतरी भारतीय टीम ने 29 रन तक आते-आते अपने सात विकेट गंवा दिये. वह तो भला हो पूर्व कैप्टन कूल धोनी का जिन्होंने संयम से खेलते हुए अपना अद्र्र्धशतक पूरा और टीम के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया. धोनी ने हार्दिक के साथ छठे विकेट के लिए 12, कुलदीप के साथ आठवें विकेट के लिए 41, जसप्रीत बुमराह के साथ नौवें विकेट के लिए 17 और युजवेंद्र चहल के साथ आखिरी विकेट के लिए 25 रन की साझेदारी कर भारत को 112 रन तक पहुंचाया. तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत श्रीलंका ने यहां भारत को तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज 112 रन पर ढेर कर दिया. मेहमान श्रीलंका के कप्तान तिषारा परेरा ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया और उसके गेंदबाजों ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए मेजबान भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया. भारत का वनडे इतिहास में यह पांचवां न्यूनतम स्कोर है. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (65) को छोड़कर भारत के सिर्फ दो बल्लेबाज कुलदीप यादव (19) और आलराउंडर हार्दिक पांड्या (10) ही दहाई का आंकड़ा छू सके. भारत से टेस्ट सीरीज 0-1 से हारने के बाद श्रीलंका के गेंदबाजों ने यहां कमाल की वापसी की और 16 रन के अंदर ही मेजाबन टीम के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया. लकमल ने इन पांच विकेटों में से तीन विकेट निकाले. वनडे इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी भी टीम ने 16 रन के अंदर ही अपने पहले पांच विकेट गंवाए हैं. नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में रोहित शर्मा की कप्तानी में पहली बार खेलने उतरी भारतीय टीम ने 29 रन तक आते-आते अपने सात विकेट गंवा दिये. वह तो भला हो पूर्व कैप्टन कूल धोनी का जिन्होंने संयम से खेलते हुए अपना अद्र्धशतक पूरा और टीम के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया. धोनी ने हार्दिक के साथ छठे विकेट के लिए 12, कुलदीप के साथ आठवें विकेट के लिए 41, जसप्रीत बुमराह के साथ नौवें विकेट के लिए 17 और युजवेंद्र चहल के साथ आखिरी विकेट के लिए 25 रन की साझेदारी कर भारत को 112 रन तक पहुंचाया. धोनी टीम के 112 के स्कोर पर आखिरी विकेट के रूप में आउट हुए. उन्होंने 87 गेंदों में 10 चौकों और दो छक्कों की बदौलत 65 रन बनाए और अपने वनडे क्रिकेट करियर में 67वां अद्र्धशतक लगाया. धोनी को तिषारा परेरा ने सीमा रेखा पर गुणातिल्का के हाथ कैच कराकर भारत की पारी का अंत किया. श्रीलंकाई गेंदबाजों के आक्रमण के सामने भारत के चार बल्लेबाज अपना खाता भी नहीं खोल सके. ओपनर और कप्तान रोहित शर्मा ने 2, शिखर धवन ने शून्य, वनडे में अपना पदार्पण कर रहे श्रेयस अय्यर ने 9, दिनेश कार्तिक ने शून्य, मनीष पांडे ने 2, भुवनेश्वर कुमार ने शून्य और जसप्रीत बुमराह ने शून्य रन बनाए. श्रीलंका के लिए लकमल ने बेहतरीन गेंदबाजी की और 10 ओवर में चार मेडन रखते हुए 13 रन देकर चार विकेट हासिल किया जो वनडे में उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन है. इसके अलावा नुवान फर्नांडो ने 37 रन पर दो विकेट, एंजेलो मैथ्यूज ने आठ रन पर एक विकेट, परेरा ने 29 रन पर एक विकेट, धनंजय ने सात रन पर एक विकेट और पथिराना ने 16 रन पर एक विकेट लिया.">

श्रीलंका ने धर्मशाला में जीता पहला वन-डेश्रीलंका ने धर्मशाला में जीता पहला वन-डे

2017/12/11



भारत को सात विकेट से हराया, तीन एक दिवसीय मैच की सीरीज में 1-0 से बनाई बढ़त धर्मशाला, तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) के बाद बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर श्रीलंका ने यहां आज मेजबान भारत को पहले वनडे में सात विकेट से हराकर तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली. धर्मशाला के मैदान पर श्रीलंका की यह पहली जीत है, साथ ही श्रीलंका को 12 मैच हारने के बाद 13 मैच में जीत का स्वाद मिला है.मेहमान श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करते हुए भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया और फिर 20.4 ओवर में तीन विकेट पर 114 रन बनाकर मैच जीत लिया. श्रीलंका के लिए उपुल थरंगा ने 46 गेंदों पर 10 चौकों की बदौलत 49, विकेटकीपर निरोशन डिकवेला ने 24 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से नाबाद 26 और एंजेलो मैथ्यूज ने 42 गेंदों पर पांच चौकों के सहारे नाबाद 25 रन बनाए. दानुष्का गुणातिल्का (1) और लाहिरू तिरिमाने (0) पर आउट हुए. मैथ्यूज ने थरंगा के साथ तीसरे विकेट के लिए 46 और डिकवेला के साथ चौथे विकेट के लिए 49 रन की अविजित साझेदारी की. भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने 42 रन पर एक विकेट, जसप्रीत बुमराह ने 31 रन पर एक विकेट और हार्दिक पांड्या ने 39 रन पर एक विकेट हासिल किया. इससे पहले तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत श्रीलंका ने भारत को 112 रन पर ढेर कर दिया और 20.4 ओवर में तीन विकेट पर 114 रन बनाकर मैच जीत लिया. मेहमान श्रीलंका के कप्तान तिषारा परेरा ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया और उसके गेंदबाजों ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया. भारत का वनडे इतिहास में यह पांचवां न्यूनतम स्कोर है. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (65) को छोड़कर भारत के सिर्फ दो बल्लेबाज कुलदीप यादव (19) और आलराउंडर हार्दिक पांड्या (10) ही दहाई का आंकड़ा छू सके. भारत से टेस्ट सीरीज 0-1 से हारने के बाद श्रीलंका के गेंदबाजों ने यहां कमाल की वापसी की और 16 रन के अंदर ही मेजाबन टीम के पांच बल्लेबाजों को प्वेलियन भेज दिया. लकमल ने इन पांच विकेटों में से तीन विकेट निकाले. वनडे इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी भी टीम ने 16 रन के अंदर ही अपने पहले पांच विकेट गंवाए हैं.नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में रोहित शर्मा की कप्तानी में पहली बार खेलने उतरी भारतीय टीम ने 29 रन तक आते-आते अपने सात विकेट गंवा दिये. वह तो भला हो पूर्व कैप्टन कूल धोनी का जिन्होंने संयम से खेलते हुए अपना अद्र्र्धशतक पूरा और टीम के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया. धोनी ने हार्दिक के साथ छठे विकेट के लिए 12, कुलदीप के साथ आठवें विकेट के लिए 41, जसप्रीत बुमराह के साथ नौवें विकेट के लिए 17 और युजवेंद्र चहल के साथ आखिरी विकेट के लिए 25 रन की साझेदारी कर भारत को 112 रन तक पहुंचाया. तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन पर चार विकेट) की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत श्रीलंका ने यहां भारत को तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज 112 रन पर ढेर कर दिया. मेहमान श्रीलंका के कप्तान तिषारा परेरा ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया और उसके गेंदबाजों ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए मेजबान भारत को 38.2 ओवर में 112 रन पर समेट दिया. भारत का वनडे इतिहास में यह पांचवां न्यूनतम स्कोर है. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (65) को छोड़कर भारत के सिर्फ दो बल्लेबाज कुलदीप यादव (19) और आलराउंडर हार्दिक पांड्या (10) ही दहाई का आंकड़ा छू सके. भारत से टेस्ट सीरीज 0-1 से हारने के बाद श्रीलंका के गेंदबाजों ने यहां कमाल की वापसी की और 16 रन के अंदर ही मेजाबन टीम के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया. लकमल ने इन पांच विकेटों में से तीन विकेट निकाले. वनडे इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी भी टीम ने 16 रन के अंदर ही अपने पहले पांच विकेट गंवाए हैं. नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में रोहित शर्मा की कप्तानी में पहली बार खेलने उतरी भारतीय टीम ने 29 रन तक आते-आते अपने सात विकेट गंवा दिये. वह तो भला हो पूर्व कैप्टन कूल धोनी का जिन्होंने संयम से खेलते हुए अपना अद्र्धशतक पूरा और टीम के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया. धोनी ने हार्दिक के साथ छठे विकेट के लिए 12, कुलदीप के साथ आठवें विकेट के लिए 41, जसप्रीत बुमराह के साथ नौवें विकेट के लिए 17 और युजवेंद्र चहल के साथ आखिरी विकेट के लिए 25 रन की साझेदारी कर भारत को 112 रन तक पहुंचाया. धोनी टीम के 112 के स्कोर पर आखिरी विकेट के रूप में आउट हुए. उन्होंने 87 गेंदों में 10 चौकों और दो छक्कों की बदौलत 65 रन बनाए और अपने वनडे क्रिकेट करियर में 67वां अद्र्धशतक लगाया. धोनी को तिषारा परेरा ने सीमा रेखा पर गुणातिल्का के हाथ कैच कराकर भारत की पारी का अंत किया. श्रीलंकाई गेंदबाजों के आक्रमण के सामने भारत के चार बल्लेबाज अपना खाता भी नहीं खोल सके. ओपनर और कप्तान रोहित शर्मा ने 2, शिखर धवन ने शून्य, वनडे में अपना पदार्पण कर रहे श्रेयस अय्यर ने 9, दिनेश कार्तिक ने शून्य, मनीष पांडे ने 2, भुवनेश्वर कुमार ने शून्य और जसप्रीत बुमराह ने शून्य रन बनाए. श्रीलंका के लिए लकमल ने बेहतरीन गेंदबाजी की और 10 ओवर में चार मेडन रखते हुए 13 रन देकर चार विकेट हासिल किया जो वनडे में उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन है. इसके अलावा नुवान फर्नांडो ने 37 रन पर दो विकेट, एंजेलो मैथ्यूज ने आठ रन पर एक विकेट, परेरा ने 29 रन पर एक विकेट, धनंजय ने सात रन पर एक विकेट और पथिराना ने 16 रन पर एक विकेट लिया.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts