Breaking News :

दुबई, दुबई में अधिकारियों ने बॉलीवुड की सुपरस्टार श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को भारत ले जाने की मंजूरी दे दी है। 'गल्फ न्यूज' के अनुसार इसके लिए आज 12 बजकर 45 मिनट पर अनापत्ति प्रमाण पत्र भारतीय वाणिज्य दूतावास के प्रतिनिधियों और दिवंगत अभिनेत्री के परिजनों को सौंप दिया गया। इसके बाद 12 बजकर 57 मिनट पर भारतीय वाणिज्य दूतावास ने ट्वीट कर बताया कि दुबई पुलिस ने दिवंगत अभिनेत्री का पार्थिव शरीर भारत ले जाए जाने की स्वीकृति संबंधी दस्तावेज सौंप दिए हैं, ताकि शव पर लेप लगाने की प्रक्रिया शुरू की जा सके।"/> दुबई, दुबई में अधिकारियों ने बॉलीवुड की सुपरस्टार श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को भारत ले जाने की मंजूरी दे दी है। 'गल्फ न्यूज' के अनुसार इसके लिए आज 12 बजकर 45 मिनट पर अनापत्ति प्रमाण पत्र भारतीय वाणिज्य दूतावास के प्रतिनिधियों और दिवंगत अभिनेत्री के परिजनों को सौंप दिया गया। इसके बाद 12 बजकर 57 मिनट पर भारतीय वाणिज्य दूतावास ने ट्वीट कर बताया कि दुबई पुलिस ने दिवंगत अभिनेत्री का पार्थिव शरीर भारत ले जाए जाने की स्वीकृति संबंधी दस्तावेज सौंप दिए हैं, ताकि शव पर लेप लगाने की प्रक्रिया शुरू की जा सके।"/> दुबई, दुबई में अधिकारियों ने बॉलीवुड की सुपरस्टार श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को भारत ले जाने की मंजूरी दे दी है। 'गल्फ न्यूज' के अनुसार इसके लिए आज 12 बजकर 45 मिनट पर अनापत्ति प्रमाण पत्र भारतीय वाणिज्य दूतावास के प्रतिनिधियों और दिवंगत अभिनेत्री के परिजनों को सौंप दिया गया। इसके बाद 12 बजकर 57 मिनट पर भारतीय वाणिज्य दूतावास ने ट्वीट कर बताया कि दुबई पुलिस ने दिवंगत अभिनेत्री का पार्थिव शरीर भारत ले जाए जाने की स्वीकृति संबंधी दस्तावेज सौंप दिए हैं, ताकि शव पर लेप लगाने की प्रक्रिया शुरू की जा सके।">

श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को भारत ले जाने की मंजूरी

2018/02/27



दुबई, दुबई में अधिकारियों ने बॉलीवुड की सुपरस्टार श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को भारत ले जाने की मंजूरी दे दी है। 'गल्फ न्यूज' के अनुसार इसके लिए आज 12 बजकर 45 मिनट पर अनापत्ति प्रमाण पत्र भारतीय वाणिज्य दूतावास के प्रतिनिधियों और दिवंगत अभिनेत्री के परिजनों को सौंप दिया गया। इसके बाद 12 बजकर 57 मिनट पर भारतीय वाणिज्य दूतावास ने ट्वीट कर बताया कि दुबई पुलिस ने दिवंगत अभिनेत्री का पार्थिव शरीर भारत ले जाए जाने की स्वीकृति संबंधी दस्तावेज सौंप दिए हैं, ताकि शव पर लेप लगाने की प्रक्रिया शुरू की जा सके।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts