Breaking News :

मर्डर की जानकारी मिलते ही भागने लगा था आरोपी

नवभारत न्यूज भोपाल, बस चालक मेहताब सिंह उइके की पत्थर मारकर हत्या करने वाले आरोपी को हबीबगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी ने मृतक से शराब के लिए पैसे मांगे थे, नहीं देने पर पीछे से सिर पर पत्थर मार दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी. पुलिस का कहना है कि आरोपी मृतक को भलीभांति जानता था, जिसके चलते उसने शराब के लिए पैसे मांगे थे. हबीबगंज थाना प्रभारी के मुताबिक दुर्गा मंदिर निवासी मेहताब सिंह उइके उम्र 36 वर्ष मिनी बस चालक था. वह सपरिवार दुर्गा मंदिर झुग्गी के पास रहता था. बस पर चालक की नौकरी करने के बाद मेहताब अकसर नारायण नगर स्थित कलारी पर शराब पीने के लिए जाता था. कलारी पर ही उसकी पहचान सलीम खान उम्र 35 निवासी 12 नंबर स्टॉप से हुई थी. विगत 11 जनवरी की रात्रि में जब मेहताब सिंह अपने बड़े बेटे नवीन को खोजने के लिए जा रहा था, तभी उसे रास्ते में सलीम खान मिल गया और उसने शराब के लिए पैसे मांगे, लेकिन मेहताब ने पैसे देने से इंकार कर दिया, जिसके चलते सलीम ने पत्थर उठाकर उसके सिर पर मार दिया और वहां से चला गया. पत्थर लगने से मेहताब जमीन पर गिर पड़ा, जिससे उसकी मौत हो गई थी. पुलिस का कहना है कि उक्त युवक पूर्व में अवैध हथियार, अवैध शराब व बलवा आदि मामलों में जेल जा चुका है. आरोपी 15 दिन पहले ही जेल से छूट कर आया हुआ था. कलारी पर पहुंचा तो मिली जानकारी पुलिस के मुताबिक हत्या के संबंध में पुलिस ने कई लोगों से पूछताछ की, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लग रहा था. जैसे ही पुलिस को यह जानकारी मिली कि मृतक नारायण नगर कलारी पर अकसर शराब पीने आता था, तो वहां पर कुछ पुलिसकर्मियों को सिविल डे्रस में तैनात किया गया. घटना के दूसरे दिन सुबह के समय जब सलीम खान कलारी पर शराब पीने के लिए गया तो उसे वहां पर जानकारी मिली कि मेहताब सिंह की हत्या हो गई है, इसके बाद आरोप घबरा गया और वहां से लौटने लगा. पुलिस ने शक के आधार पर उसे हिरासत में लिया, जिसके बाद आरोपी ने वारदात को अंजाम देना स्वीकारा."/>

मर्डर की जानकारी मिलते ही भागने लगा था आरोपी

नवभारत न्यूज भोपाल, बस चालक मेहताब सिंह उइके की पत्थर मारकर हत्या करने वाले आरोपी को हबीबगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी ने मृतक से शराब के लिए पैसे मांगे थे, नहीं देने पर पीछे से सिर पर पत्थर मार दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी. पुलिस का कहना है कि आरोपी मृतक को भलीभांति जानता था, जिसके चलते उसने शराब के लिए पैसे मांगे थे. हबीबगंज थाना प्रभारी के मुताबिक दुर्गा मंदिर निवासी मेहताब सिंह उइके उम्र 36 वर्ष मिनी बस चालक था. वह सपरिवार दुर्गा मंदिर झुग्गी के पास रहता था. बस पर चालक की नौकरी करने के बाद मेहताब अकसर नारायण नगर स्थित कलारी पर शराब पीने के लिए जाता था. कलारी पर ही उसकी पहचान सलीम खान उम्र 35 निवासी 12 नंबर स्टॉप से हुई थी. विगत 11 जनवरी की रात्रि में जब मेहताब सिंह अपने बड़े बेटे नवीन को खोजने के लिए जा रहा था, तभी उसे रास्ते में सलीम खान मिल गया और उसने शराब के लिए पैसे मांगे, लेकिन मेहताब ने पैसे देने से इंकार कर दिया, जिसके चलते सलीम ने पत्थर उठाकर उसके सिर पर मार दिया और वहां से चला गया. पत्थर लगने से मेहताब जमीन पर गिर पड़ा, जिससे उसकी मौत हो गई थी. पुलिस का कहना है कि उक्त युवक पूर्व में अवैध हथियार, अवैध शराब व बलवा आदि मामलों में जेल जा चुका है. आरोपी 15 दिन पहले ही जेल से छूट कर आया हुआ था. कलारी पर पहुंचा तो मिली जानकारी पुलिस के मुताबिक हत्या के संबंध में पुलिस ने कई लोगों से पूछताछ की, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लग रहा था. जैसे ही पुलिस को यह जानकारी मिली कि मृतक नारायण नगर कलारी पर अकसर शराब पीने आता था, तो वहां पर कुछ पुलिसकर्मियों को सिविल डे्रस में तैनात किया गया. घटना के दूसरे दिन सुबह के समय जब सलीम खान कलारी पर शराब पीने के लिए गया तो उसे वहां पर जानकारी मिली कि मेहताब सिंह की हत्या हो गई है, इसके बाद आरोप घबरा गया और वहां से लौटने लगा. पुलिस ने शक के आधार पर उसे हिरासत में लिया, जिसके बाद आरोपी ने वारदात को अंजाम देना स्वीकारा."/>

मर्डर की जानकारी मिलते ही भागने लगा था आरोपी

नवभारत न्यूज भोपाल, बस चालक मेहताब सिंह उइके की पत्थर मारकर हत्या करने वाले आरोपी को हबीबगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी ने मृतक से शराब के लिए पैसे मांगे थे, नहीं देने पर पीछे से सिर पर पत्थर मार दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी. पुलिस का कहना है कि आरोपी मृतक को भलीभांति जानता था, जिसके चलते उसने शराब के लिए पैसे मांगे थे. हबीबगंज थाना प्रभारी के मुताबिक दुर्गा मंदिर निवासी मेहताब सिंह उइके उम्र 36 वर्ष मिनी बस चालक था. वह सपरिवार दुर्गा मंदिर झुग्गी के पास रहता था. बस पर चालक की नौकरी करने के बाद मेहताब अकसर नारायण नगर स्थित कलारी पर शराब पीने के लिए जाता था. कलारी पर ही उसकी पहचान सलीम खान उम्र 35 निवासी 12 नंबर स्टॉप से हुई थी. विगत 11 जनवरी की रात्रि में जब मेहताब सिंह अपने बड़े बेटे नवीन को खोजने के लिए जा रहा था, तभी उसे रास्ते में सलीम खान मिल गया और उसने शराब के लिए पैसे मांगे, लेकिन मेहताब ने पैसे देने से इंकार कर दिया, जिसके चलते सलीम ने पत्थर उठाकर उसके सिर पर मार दिया और वहां से चला गया. पत्थर लगने से मेहताब जमीन पर गिर पड़ा, जिससे उसकी मौत हो गई थी. पुलिस का कहना है कि उक्त युवक पूर्व में अवैध हथियार, अवैध शराब व बलवा आदि मामलों में जेल जा चुका है. आरोपी 15 दिन पहले ही जेल से छूट कर आया हुआ था. कलारी पर पहुंचा तो मिली जानकारी पुलिस के मुताबिक हत्या के संबंध में पुलिस ने कई लोगों से पूछताछ की, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लग रहा था. जैसे ही पुलिस को यह जानकारी मिली कि मृतक नारायण नगर कलारी पर अकसर शराब पीने आता था, तो वहां पर कुछ पुलिसकर्मियों को सिविल डे्रस में तैनात किया गया. घटना के दूसरे दिन सुबह के समय जब सलीम खान कलारी पर शराब पीने के लिए गया तो उसे वहां पर जानकारी मिली कि मेहताब सिंह की हत्या हो गई है, इसके बाद आरोप घबरा गया और वहां से लौटने लगा. पुलिस ने शक के आधार पर उसे हिरासत में लिया, जिसके बाद आरोपी ने वारदात को अंजाम देना स्वीकारा.">

शराब के पैसे नहीं देने पर मारा था पत्थर

2018/01/15



मर्डर की जानकारी मिलते ही भागने लगा था आरोपी

नवभारत न्यूज भोपाल, बस चालक मेहताब सिंह उइके की पत्थर मारकर हत्या करने वाले आरोपी को हबीबगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी ने मृतक से शराब के लिए पैसे मांगे थे, नहीं देने पर पीछे से सिर पर पत्थर मार दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी. पुलिस का कहना है कि आरोपी मृतक को भलीभांति जानता था, जिसके चलते उसने शराब के लिए पैसे मांगे थे. हबीबगंज थाना प्रभारी के मुताबिक दुर्गा मंदिर निवासी मेहताब सिंह उइके उम्र 36 वर्ष मिनी बस चालक था. वह सपरिवार दुर्गा मंदिर झुग्गी के पास रहता था. बस पर चालक की नौकरी करने के बाद मेहताब अकसर नारायण नगर स्थित कलारी पर शराब पीने के लिए जाता था. कलारी पर ही उसकी पहचान सलीम खान उम्र 35 निवासी 12 नंबर स्टॉप से हुई थी. विगत 11 जनवरी की रात्रि में जब मेहताब सिंह अपने बड़े बेटे नवीन को खोजने के लिए जा रहा था, तभी उसे रास्ते में सलीम खान मिल गया और उसने शराब के लिए पैसे मांगे, लेकिन मेहताब ने पैसे देने से इंकार कर दिया, जिसके चलते सलीम ने पत्थर उठाकर उसके सिर पर मार दिया और वहां से चला गया. पत्थर लगने से मेहताब जमीन पर गिर पड़ा, जिससे उसकी मौत हो गई थी. पुलिस का कहना है कि उक्त युवक पूर्व में अवैध हथियार, अवैध शराब व बलवा आदि मामलों में जेल जा चुका है. आरोपी 15 दिन पहले ही जेल से छूट कर आया हुआ था. कलारी पर पहुंचा तो मिली जानकारी पुलिस के मुताबिक हत्या के संबंध में पुलिस ने कई लोगों से पूछताछ की, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लग रहा था. जैसे ही पुलिस को यह जानकारी मिली कि मृतक नारायण नगर कलारी पर अकसर शराब पीने आता था, तो वहां पर कुछ पुलिसकर्मियों को सिविल डे्रस में तैनात किया गया. घटना के दूसरे दिन सुबह के समय जब सलीम खान कलारी पर शराब पीने के लिए गया तो उसे वहां पर जानकारी मिली कि मेहताब सिंह की हत्या हो गई है, इसके बाद आरोप घबरा गया और वहां से लौटने लगा. पुलिस ने शक के आधार पर उसे हिरासत में लिया, जिसके बाद आरोपी ने वारदात को अंजाम देना स्वीकारा.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts