Breaking News :

कोलंबो, सलामी बल्लेबाज़ राेहित शर्मा की नेतृत्व वाली युवा भारतीय क्रिकेट टीम मंगलवार को मेजबान श्रीलंका के खिलाफ होने वाले त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के अपने पहले मैच में विजयी शुरुआत के इरादे से मैदान पर उतरेगी। त्रिकोणीय सीरीज में हिस्सा ले रही तीसरी टीम बंगलादेश है। दक्षिण अफ्रीका के लंबे दौरे के बाद त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के लिए कप्तान विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी सहित प्रमुख खिलाड़ियों को अाराम दिया गया है आैर रोहित को टीम की कप्तानी सौंपी गई है जबकि शिखर धवन सीरीज में उपकप्तान होंगे। भारत काे सीरीज के अपने पहले मैच में प्रमुख तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह,आलराउंडर हार्दिक पांड्या और कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव के बिना मैदान में उतरना होगा जिससे रोहित के लिये टीम संयोजन तय करना चुनौतीपूर्ण होगा। हालांकि ऐसे में विकेटकीपर रिषभ पंत, आलराउंडर विजय शंकर और वाशिंगटन सुंदर, बल्लेबाज दीपक हुड्डा तथा तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के पास सीरीज में खुद को साबित करने का मौका रहेगा। इसके अलावा करीब एक साल बाद टीम में लौट रहे और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ट्वंटी-20 सीरीज का हिस्सा रहे सुरेश रैना पर भी सबकी निगाहें रहेंगी। रैना इस दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करके वनडे टीम में अपनी जगह सुनिश्चित करना चाहेंगे। ट्वंटी-20 रैंकिंग में तीसरे नंबर पर काबिज भारत ने हाल ही में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर वनडे 5-1 से और ट्वंटी-20 सीरीज 2-1 जीतकर इतिहास रचा है। भारत ने 25 साल बाद दक्षिण अफ्रीका की धरती पर कोई द्विपक्षीय सीरीज जीती है इससे टीम का मनोबल काफी ऊंचा है और भारतीय टीम चाहेगी कि वह अपने इसी प्रदर्शन और लय को यहां भी बरकरार रखे। भारत ने आर प्रेमदासा स्टेडियम में पिछली बार विश्व रैंकिंग में आठवें नंबर की श्रीलंका के खिलाफ छह सितंबर 2017 को आखिरी ट्वंटी-20 मैच खेला था जिसमें उसने चार गेंद शेष रहते श्रीलंका को सात विकेट से धो दिया था। भारत ने इस मैदान पर अब तक छह टी-20 मैच जीते हैं और ऐसे में भारतीय टीम चाहेगी कि वह अपने इस रिकॉर्ड को बरकरार रखे। वैसे भारत और श्रीलंका ने अब तक ओवरआल कुल 14 टी-20 मैच खेले हैं जिसमें भारत ने 10 और श्रीलंका ने मात्र चार मैच जीते हैं। सीरीज के लिए इस बार टीम में रिषभ पंत और आईपीएल के 11वें संस्करण के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान बनाए गए दिनेश कार्तिक के रूप में दो-दो विकेटकीपर बल्लेबाज मौजूद हैं। हालांकि पंत की तुलना में कार्तिक को ट्वंटी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों का ज्यादा अनुभव है। कार्तिक ने अब 14 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं जबकि पंत ने मात्र दो मैच खेला है। ऐसे में यह देखना होगा कि अंतिम एकादश में कार्तिक या पंत में किसे शामिल किया जाता है। भारत ने जब पिछले साल जुलाई-अगस्त में श्रीलंका का दौरा किया था तब उसने मेजबान टीम के खिलाफ तीनों प्रारुपों में क्लीन स्वीप किया था। भारत ने उस दौरे पर तीनों टेस्ट, पांचों वनडे और एकमात्र टी-20 मैच जीता था। इसके बाद श्रीलंका ने जब पिछले साल के आखिर में नवंबर-दिसंबर में भारत का दौरा किया था तब भी उसे तीनों प्रारुपों के सीरीज में हार का सामना करना पड़ा था।"/> कोलंबो, सलामी बल्लेबाज़ राेहित शर्मा की नेतृत्व वाली युवा भारतीय क्रिकेट टीम मंगलवार को मेजबान श्रीलंका के खिलाफ होने वाले त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के अपने पहले मैच में विजयी शुरुआत के इरादे से मैदान पर उतरेगी। त्रिकोणीय सीरीज में हिस्सा ले रही तीसरी टीम बंगलादेश है। दक्षिण अफ्रीका के लंबे दौरे के बाद त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के लिए कप्तान विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी सहित प्रमुख खिलाड़ियों को अाराम दिया गया है आैर रोहित को टीम की कप्तानी सौंपी गई है जबकि शिखर धवन सीरीज में उपकप्तान होंगे। भारत काे सीरीज के अपने पहले मैच में प्रमुख तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह,आलराउंडर हार्दिक पांड्या और कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव के बिना मैदान में उतरना होगा जिससे रोहित के लिये टीम संयोजन तय करना चुनौतीपूर्ण होगा। हालांकि ऐसे में विकेटकीपर रिषभ पंत, आलराउंडर विजय शंकर और वाशिंगटन सुंदर, बल्लेबाज दीपक हुड्डा तथा तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के पास सीरीज में खुद को साबित करने का मौका रहेगा। इसके अलावा करीब एक साल बाद टीम में लौट रहे और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ट्वंटी-20 सीरीज का हिस्सा रहे सुरेश रैना पर भी सबकी निगाहें रहेंगी। रैना इस दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करके वनडे टीम में अपनी जगह सुनिश्चित करना चाहेंगे। ट्वंटी-20 रैंकिंग में तीसरे नंबर पर काबिज भारत ने हाल ही में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर वनडे 5-1 से और ट्वंटी-20 सीरीज 2-1 जीतकर इतिहास रचा है। भारत ने 25 साल बाद दक्षिण अफ्रीका की धरती पर कोई द्विपक्षीय सीरीज जीती है इससे टीम का मनोबल काफी ऊंचा है और भारतीय टीम चाहेगी कि वह अपने इसी प्रदर्शन और लय को यहां भी बरकरार रखे। भारत ने आर प्रेमदासा स्टेडियम में पिछली बार विश्व रैंकिंग में आठवें नंबर की श्रीलंका के खिलाफ छह सितंबर 2017 को आखिरी ट्वंटी-20 मैच खेला था जिसमें उसने चार गेंद शेष रहते श्रीलंका को सात विकेट से धो दिया था। भारत ने इस मैदान पर अब तक छह टी-20 मैच जीते हैं और ऐसे में भारतीय टीम चाहेगी कि वह अपने इस रिकॉर्ड को बरकरार रखे। वैसे भारत और श्रीलंका ने अब तक ओवरआल कुल 14 टी-20 मैच खेले हैं जिसमें भारत ने 10 और श्रीलंका ने मात्र चार मैच जीते हैं। सीरीज के लिए इस बार टीम में रिषभ पंत और आईपीएल के 11वें संस्करण के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान बनाए गए दिनेश कार्तिक के रूप में दो-दो विकेटकीपर बल्लेबाज मौजूद हैं। हालांकि पंत की तुलना में कार्तिक को ट्वंटी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों का ज्यादा अनुभव है। कार्तिक ने अब 14 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं जबकि पंत ने मात्र दो मैच खेला है। ऐसे में यह देखना होगा कि अंतिम एकादश में कार्तिक या पंत में किसे शामिल किया जाता है। भारत ने जब पिछले साल जुलाई-अगस्त में श्रीलंका का दौरा किया था तब उसने मेजबान टीम के खिलाफ तीनों प्रारुपों में क्लीन स्वीप किया था। भारत ने उस दौरे पर तीनों टेस्ट, पांचों वनडे और एकमात्र टी-20 मैच जीता था। इसके बाद श्रीलंका ने जब पिछले साल के आखिर में नवंबर-दिसंबर में भारत का दौरा किया था तब भी उसे तीनों प्रारुपों के सीरीज में हार का सामना करना पड़ा था।"/> कोलंबो, सलामी बल्लेबाज़ राेहित शर्मा की नेतृत्व वाली युवा भारतीय क्रिकेट टीम मंगलवार को मेजबान श्रीलंका के खिलाफ होने वाले त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के अपने पहले मैच में विजयी शुरुआत के इरादे से मैदान पर उतरेगी। त्रिकोणीय सीरीज में हिस्सा ले रही तीसरी टीम बंगलादेश है। दक्षिण अफ्रीका के लंबे दौरे के बाद त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के लिए कप्तान विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी सहित प्रमुख खिलाड़ियों को अाराम दिया गया है आैर रोहित को टीम की कप्तानी सौंपी गई है जबकि शिखर धवन सीरीज में उपकप्तान होंगे। भारत काे सीरीज के अपने पहले मैच में प्रमुख तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह,आलराउंडर हार्दिक पांड्या और कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव के बिना मैदान में उतरना होगा जिससे रोहित के लिये टीम संयोजन तय करना चुनौतीपूर्ण होगा। हालांकि ऐसे में विकेटकीपर रिषभ पंत, आलराउंडर विजय शंकर और वाशिंगटन सुंदर, बल्लेबाज दीपक हुड्डा तथा तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के पास सीरीज में खुद को साबित करने का मौका रहेगा। इसके अलावा करीब एक साल बाद टीम में लौट रहे और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ट्वंटी-20 सीरीज का हिस्सा रहे सुरेश रैना पर भी सबकी निगाहें रहेंगी। रैना इस दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करके वनडे टीम में अपनी जगह सुनिश्चित करना चाहेंगे। ट्वंटी-20 रैंकिंग में तीसरे नंबर पर काबिज भारत ने हाल ही में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर वनडे 5-1 से और ट्वंटी-20 सीरीज 2-1 जीतकर इतिहास रचा है। भारत ने 25 साल बाद दक्षिण अफ्रीका की धरती पर कोई द्विपक्षीय सीरीज जीती है इससे टीम का मनोबल काफी ऊंचा है और भारतीय टीम चाहेगी कि वह अपने इसी प्रदर्शन और लय को यहां भी बरकरार रखे। भारत ने आर प्रेमदासा स्टेडियम में पिछली बार विश्व रैंकिंग में आठवें नंबर की श्रीलंका के खिलाफ छह सितंबर 2017 को आखिरी ट्वंटी-20 मैच खेला था जिसमें उसने चार गेंद शेष रहते श्रीलंका को सात विकेट से धो दिया था। भारत ने इस मैदान पर अब तक छह टी-20 मैच जीते हैं और ऐसे में भारतीय टीम चाहेगी कि वह अपने इस रिकॉर्ड को बरकरार रखे। वैसे भारत और श्रीलंका ने अब तक ओवरआल कुल 14 टी-20 मैच खेले हैं जिसमें भारत ने 10 और श्रीलंका ने मात्र चार मैच जीते हैं। सीरीज के लिए इस बार टीम में रिषभ पंत और आईपीएल के 11वें संस्करण के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान बनाए गए दिनेश कार्तिक के रूप में दो-दो विकेटकीपर बल्लेबाज मौजूद हैं। हालांकि पंत की तुलना में कार्तिक को ट्वंटी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों का ज्यादा अनुभव है। कार्तिक ने अब 14 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं जबकि पंत ने मात्र दो मैच खेला है। ऐसे में यह देखना होगा कि अंतिम एकादश में कार्तिक या पंत में किसे शामिल किया जाता है। भारत ने जब पिछले साल जुलाई-अगस्त में श्रीलंका का दौरा किया था तब उसने मेजबान टीम के खिलाफ तीनों प्रारुपों में क्लीन स्वीप किया था। भारत ने उस दौरे पर तीनों टेस्ट, पांचों वनडे और एकमात्र टी-20 मैच जीता था। इसके बाद श्रीलंका ने जब पिछले साल के आखिर में नवंबर-दिसंबर में भारत का दौरा किया था तब भी उसे तीनों प्रारुपों के सीरीज में हार का सामना करना पड़ा था।">

विजयी शुरुआत के लिए उतरेगी रोहित की युवा ब्रिगेड

2018/03/05



कोलंबो, सलामी बल्लेबाज़ राेहित शर्मा की नेतृत्व वाली युवा भारतीय क्रिकेट टीम मंगलवार को मेजबान श्रीलंका के खिलाफ होने वाले त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के अपने पहले मैच में विजयी शुरुआत के इरादे से मैदान पर उतरेगी। त्रिकोणीय सीरीज में हिस्सा ले रही तीसरी टीम बंगलादेश है। दक्षिण अफ्रीका के लंबे दौरे के बाद त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के लिए कप्तान विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी सहित प्रमुख खिलाड़ियों को अाराम दिया गया है आैर रोहित को टीम की कप्तानी सौंपी गई है जबकि शिखर धवन सीरीज में उपकप्तान होंगे। भारत काे सीरीज के अपने पहले मैच में प्रमुख तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह,आलराउंडर हार्दिक पांड्या और कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव के बिना मैदान में उतरना होगा जिससे रोहित के लिये टीम संयोजन तय करना चुनौतीपूर्ण होगा। हालांकि ऐसे में विकेटकीपर रिषभ पंत, आलराउंडर विजय शंकर और वाशिंगटन सुंदर, बल्लेबाज दीपक हुड्डा तथा तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के पास सीरीज में खुद को साबित करने का मौका रहेगा। इसके अलावा करीब एक साल बाद टीम में लौट रहे और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ट्वंटी-20 सीरीज का हिस्सा रहे सुरेश रैना पर भी सबकी निगाहें रहेंगी। रैना इस दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करके वनडे टीम में अपनी जगह सुनिश्चित करना चाहेंगे। ट्वंटी-20 रैंकिंग में तीसरे नंबर पर काबिज भारत ने हाल ही में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर वनडे 5-1 से और ट्वंटी-20 सीरीज 2-1 जीतकर इतिहास रचा है। भारत ने 25 साल बाद दक्षिण अफ्रीका की धरती पर कोई द्विपक्षीय सीरीज जीती है इससे टीम का मनोबल काफी ऊंचा है और भारतीय टीम चाहेगी कि वह अपने इसी प्रदर्शन और लय को यहां भी बरकरार रखे। भारत ने आर प्रेमदासा स्टेडियम में पिछली बार विश्व रैंकिंग में आठवें नंबर की श्रीलंका के खिलाफ छह सितंबर 2017 को आखिरी ट्वंटी-20 मैच खेला था जिसमें उसने चार गेंद शेष रहते श्रीलंका को सात विकेट से धो दिया था। भारत ने इस मैदान पर अब तक छह टी-20 मैच जीते हैं और ऐसे में भारतीय टीम चाहेगी कि वह अपने इस रिकॉर्ड को बरकरार रखे। वैसे भारत और श्रीलंका ने अब तक ओवरआल कुल 14 टी-20 मैच खेले हैं जिसमें भारत ने 10 और श्रीलंका ने मात्र चार मैच जीते हैं। सीरीज के लिए इस बार टीम में रिषभ पंत और आईपीएल के 11वें संस्करण के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान बनाए गए दिनेश कार्तिक के रूप में दो-दो विकेटकीपर बल्लेबाज मौजूद हैं। हालांकि पंत की तुलना में कार्तिक को ट्वंटी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों का ज्यादा अनुभव है। कार्तिक ने अब 14 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं जबकि पंत ने मात्र दो मैच खेला है। ऐसे में यह देखना होगा कि अंतिम एकादश में कार्तिक या पंत में किसे शामिल किया जाता है। भारत ने जब पिछले साल जुलाई-अगस्त में श्रीलंका का दौरा किया था तब उसने मेजबान टीम के खिलाफ तीनों प्रारुपों में क्लीन स्वीप किया था। भारत ने उस दौरे पर तीनों टेस्ट, पांचों वनडे और एकमात्र टी-20 मैच जीता था। इसके बाद श्रीलंका ने जब पिछले साल के आखिर में नवंबर-दिसंबर में भारत का दौरा किया था तब भी उसे तीनों प्रारुपों के सीरीज में हार का सामना करना पड़ा था।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts