Breaking News :

पल्लेकेल,  श्रीलंका के खिलाफ पहले वनडे में मिली शानदार जीत से उत्साहित भारतीय टीम यहां कल खेले जाने वाले सीरीज के दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में भी इसी लय को बनाये रखने के लिये उतरेगी. विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने दांबुला में खेले गये पहले वनडे में लगभग एकतरफा अंदाज में श्रीलंकाई टीम को नौ विकेट से पराजित किया था. इस जीत के बाद पांच मैचों की सीरीज में मेहमान टीम 1-0 से आगे है और फिलहाल उसकी लय देखकर साफ है कि वह यहां रुकने वाली नहीं है. दूसरी ओर श्रीलंकाई टीम टेस्ट सीरीज में 0-3 से व्हाइटवॉश झेलने के बाद वनडे में भी खराब शुरूआत के कारण दबाव में है जबकि विश्वकप क्वालिफिकेशन के लिये उसे सीरीज में कम से कम दो मैच जीतना अनिवार्य है. उपुल थरंगा की कप्तानी में मेजबान टीम ने पिछले मैच में बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही विभाग में खासा निराश किया था. इसका फायदा उठाते हुये भारत ने मात्रएक विकेट खोकर 217 रन का आसान लक्ष्य 28.5 ओवर में ही हासिल कर लिया जो उसकी गेंदों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत भी है. घरेलू जमीन पर भी मेजबान टीम का मनोबल ऊंचा नहीं है और न ही उसके खेल में कोई आक्रामकता है ऐसे में उम्मीद है कि पल्लेकेल में भी टीम इंडिया बढि़य़ा परिणाम हासिल कर पायेगी."/> पल्लेकेल,  श्रीलंका के खिलाफ पहले वनडे में मिली शानदार जीत से उत्साहित भारतीय टीम यहां कल खेले जाने वाले सीरीज के दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में भी इसी लय को बनाये रखने के लिये उतरेगी. विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने दांबुला में खेले गये पहले वनडे में लगभग एकतरफा अंदाज में श्रीलंकाई टीम को नौ विकेट से पराजित किया था. इस जीत के बाद पांच मैचों की सीरीज में मेहमान टीम 1-0 से आगे है और फिलहाल उसकी लय देखकर साफ है कि वह यहां रुकने वाली नहीं है. दूसरी ओर श्रीलंकाई टीम टेस्ट सीरीज में 0-3 से व्हाइटवॉश झेलने के बाद वनडे में भी खराब शुरूआत के कारण दबाव में है जबकि विश्वकप क्वालिफिकेशन के लिये उसे सीरीज में कम से कम दो मैच जीतना अनिवार्य है. उपुल थरंगा की कप्तानी में मेजबान टीम ने पिछले मैच में बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही विभाग में खासा निराश किया था. इसका फायदा उठाते हुये भारत ने मात्रएक विकेट खोकर 217 रन का आसान लक्ष्य 28.5 ओवर में ही हासिल कर लिया जो उसकी गेंदों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत भी है. घरेलू जमीन पर भी मेजबान टीम का मनोबल ऊंचा नहीं है और न ही उसके खेल में कोई आक्रामकता है ऐसे में उम्मीद है कि पल्लेकेल में भी टीम इंडिया बढि़य़ा परिणाम हासिल कर पायेगी."/> पल्लेकेल,  श्रीलंका के खिलाफ पहले वनडे में मिली शानदार जीत से उत्साहित भारतीय टीम यहां कल खेले जाने वाले सीरीज के दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में भी इसी लय को बनाये रखने के लिये उतरेगी. विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने दांबुला में खेले गये पहले वनडे में लगभग एकतरफा अंदाज में श्रीलंकाई टीम को नौ विकेट से पराजित किया था. इस जीत के बाद पांच मैचों की सीरीज में मेहमान टीम 1-0 से आगे है और फिलहाल उसकी लय देखकर साफ है कि वह यहां रुकने वाली नहीं है. दूसरी ओर श्रीलंकाई टीम टेस्ट सीरीज में 0-3 से व्हाइटवॉश झेलने के बाद वनडे में भी खराब शुरूआत के कारण दबाव में है जबकि विश्वकप क्वालिफिकेशन के लिये उसे सीरीज में कम से कम दो मैच जीतना अनिवार्य है. उपुल थरंगा की कप्तानी में मेजबान टीम ने पिछले मैच में बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही विभाग में खासा निराश किया था. इसका फायदा उठाते हुये भारत ने मात्रएक विकेट खोकर 217 रन का आसान लक्ष्य 28.5 ओवर में ही हासिल कर लिया जो उसकी गेंदों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत भी है. घरेलू जमीन पर भी मेजबान टीम का मनोबल ऊंचा नहीं है और न ही उसके खेल में कोई आक्रामकता है ऐसे में उम्मीद है कि पल्लेकेल में भी टीम इंडिया बढि़य़ा परिणाम हासिल कर पायेगी.">

विजयी लय बरकरार रखने उतरेगी टीम इंडिया

2017/08/24



पल्लेकेल,  श्रीलंका के खिलाफ पहले वनडे में मिली शानदार जीत से उत्साहित भारतीय टीम यहां कल खेले जाने वाले सीरीज के दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में भी इसी लय को बनाये रखने के लिये उतरेगी. विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने दांबुला में खेले गये पहले वनडे में लगभग एकतरफा अंदाज में श्रीलंकाई टीम को नौ विकेट से पराजित किया था. इस जीत के बाद पांच मैचों की सीरीज में मेहमान टीम 1-0 से आगे है और फिलहाल उसकी लय देखकर साफ है कि वह यहां रुकने वाली नहीं है. दूसरी ओर श्रीलंकाई टीम टेस्ट सीरीज में 0-3 से व्हाइटवॉश झेलने के बाद वनडे में भी खराब शुरूआत के कारण दबाव में है जबकि विश्वकप क्वालिफिकेशन के लिये उसे सीरीज में कम से कम दो मैच जीतना अनिवार्य है. उपुल थरंगा की कप्तानी में मेजबान टीम ने पिछले मैच में बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही विभाग में खासा निराश किया था. इसका फायदा उठाते हुये भारत ने मात्रएक विकेट खोकर 217 रन का आसान लक्ष्य 28.5 ओवर में ही हासिल कर लिया जो उसकी गेंदों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत भी है. घरेलू जमीन पर भी मेजबान टीम का मनोबल ऊंचा नहीं है और न ही उसके खेल में कोई आक्रामकता है ऐसे में उम्मीद है कि पल्लेकेल में भी टीम इंडिया बढि़य़ा परिणाम हासिल कर पायेगी.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts