Breaking News :

नयी दिल्ली, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) 3695 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी मामले में रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के मालिक विक्रम कोठारी एवं उनके बेटे से आज यहां पूछताछ कर रही है। सूत्रों ने बताया कि सीनियर और जूनियर कोठारी से सीबीआई के दिल्ली स्थित मुख्यालय में सुबह से ही पूछताछ शुरू की जा चुकी है। विक्रम कोठारी पर सात बैंकों के कंसोर्टियम का ऋण और ब्याज मिलाकर 3695 करोड़ रुपये की देनदारी बकाया है। कंसोर्टियम में शामिल बैंक आॅफ बड़ौदा ने अपने 616.96 करोड़ रुपये की देनदारी के लिए कंपनी को डिफॉल्टर घोषित करते हुए विक्रम कोठारी, उनकी पत्नी साधना कोठारी और बेटे राहुल कोठारी के खिलाफ सीबीआई में शिकायत दर्ज करायी थी। इससे पहले, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विक्रम कोठारी और उसके परिवार के सदस्यों के देश छोड़ने को लेकर दिशानिर्देश जारी किये हैं। ईडी ने कोठारी और उसके परिजनों के जमीन, समुद्र और हवाई मार्ग से भारत छोड़ने पर रोक लगा दी है। पंजाब नेशनल बैंक में 11400 करोड़ रुपये के महाघोटाले के तुरंत बाद यह मामला देश भर में सुर्खियों में आया है। जांच एजेंसी ने इस मामले में सबूत जुटाने के लिए उन्नाव और कानपुर समेत उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर छापे भी मारे थे।"/> नयी दिल्ली, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) 3695 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी मामले में रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के मालिक विक्रम कोठारी एवं उनके बेटे से आज यहां पूछताछ कर रही है। सूत्रों ने बताया कि सीनियर और जूनियर कोठारी से सीबीआई के दिल्ली स्थित मुख्यालय में सुबह से ही पूछताछ शुरू की जा चुकी है। विक्रम कोठारी पर सात बैंकों के कंसोर्टियम का ऋण और ब्याज मिलाकर 3695 करोड़ रुपये की देनदारी बकाया है। कंसोर्टियम में शामिल बैंक आॅफ बड़ौदा ने अपने 616.96 करोड़ रुपये की देनदारी के लिए कंपनी को डिफॉल्टर घोषित करते हुए विक्रम कोठारी, उनकी पत्नी साधना कोठारी और बेटे राहुल कोठारी के खिलाफ सीबीआई में शिकायत दर्ज करायी थी। इससे पहले, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विक्रम कोठारी और उसके परिवार के सदस्यों के देश छोड़ने को लेकर दिशानिर्देश जारी किये हैं। ईडी ने कोठारी और उसके परिजनों के जमीन, समुद्र और हवाई मार्ग से भारत छोड़ने पर रोक लगा दी है। पंजाब नेशनल बैंक में 11400 करोड़ रुपये के महाघोटाले के तुरंत बाद यह मामला देश भर में सुर्खियों में आया है। जांच एजेंसी ने इस मामले में सबूत जुटाने के लिए उन्नाव और कानपुर समेत उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर छापे भी मारे थे।"/> नयी दिल्ली, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) 3695 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी मामले में रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के मालिक विक्रम कोठारी एवं उनके बेटे से आज यहां पूछताछ कर रही है। सूत्रों ने बताया कि सीनियर और जूनियर कोठारी से सीबीआई के दिल्ली स्थित मुख्यालय में सुबह से ही पूछताछ शुरू की जा चुकी है। विक्रम कोठारी पर सात बैंकों के कंसोर्टियम का ऋण और ब्याज मिलाकर 3695 करोड़ रुपये की देनदारी बकाया है। कंसोर्टियम में शामिल बैंक आॅफ बड़ौदा ने अपने 616.96 करोड़ रुपये की देनदारी के लिए कंपनी को डिफॉल्टर घोषित करते हुए विक्रम कोठारी, उनकी पत्नी साधना कोठारी और बेटे राहुल कोठारी के खिलाफ सीबीआई में शिकायत दर्ज करायी थी। इससे पहले, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विक्रम कोठारी और उसके परिवार के सदस्यों के देश छोड़ने को लेकर दिशानिर्देश जारी किये हैं। ईडी ने कोठारी और उसके परिजनों के जमीन, समुद्र और हवाई मार्ग से भारत छोड़ने पर रोक लगा दी है। पंजाब नेशनल बैंक में 11400 करोड़ रुपये के महाघोटाले के तुरंत बाद यह मामला देश भर में सुर्खियों में आया है। जांच एजेंसी ने इस मामले में सबूत जुटाने के लिए उन्नाव और कानपुर समेत उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर छापे भी मारे थे।">

विक्रम और राहुल कोठारी से सीबीआई मुख्यालय में पूछताछ

2018/02/21



नयी दिल्ली, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) 3695 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी मामले में रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के मालिक विक्रम कोठारी एवं उनके बेटे से आज यहां पूछताछ कर रही है। सूत्रों ने बताया कि सीनियर और जूनियर कोठारी से सीबीआई के दिल्ली स्थित मुख्यालय में सुबह से ही पूछताछ शुरू की जा चुकी है। विक्रम कोठारी पर सात बैंकों के कंसोर्टियम का ऋण और ब्याज मिलाकर 3695 करोड़ रुपये की देनदारी बकाया है। कंसोर्टियम में शामिल बैंक आॅफ बड़ौदा ने अपने 616.96 करोड़ रुपये की देनदारी के लिए कंपनी को डिफॉल्टर घोषित करते हुए विक्रम कोठारी, उनकी पत्नी साधना कोठारी और बेटे राहुल कोठारी के खिलाफ सीबीआई में शिकायत दर्ज करायी थी। इससे पहले, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विक्रम कोठारी और उसके परिवार के सदस्यों के देश छोड़ने को लेकर दिशानिर्देश जारी किये हैं। ईडी ने कोठारी और उसके परिजनों के जमीन, समुद्र और हवाई मार्ग से भारत छोड़ने पर रोक लगा दी है। पंजाब नेशनल बैंक में 11400 करोड़ रुपये के महाघोटाले के तुरंत बाद यह मामला देश भर में सुर्खियों में आया है। जांच एजेंसी ने इस मामले में सबूत जुटाने के लिए उन्नाव और कानपुर समेत उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर छापे भी मारे थे।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts