Breaking News :

सम्मेलन में डेढ़ करोड़ से अधिक के अनुबंध भोपाल, राजधानी के लाल परेड ग्राउंड में लगे वन मेले में लाफ्टर शो फेम एहसान कुरैशी ने अपने अपने हास्य व्यंग्य से लोगों का जमकर गुदगुदाया. आयुर्वेदिक औषधियाँ, हर्बल और विभिन्न उत्पादों की खरीदारी के साथ लोगों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी भरपूर लुत्फ उठाया. दोपहर में स्कूली छात्र-छात्राओं की फैंसी ड्रेस एवं सोलो एक्टिंग प्रतियोगिता और शाम को हास्य सम्राट एहसान कुरैशी के लॉफ्टर-शो ने लोगों का भरपूर मनोरंजन किया. अंतर्राष्ट्रीय वन मेला के कॉन्फ्रेंस हॉल में आज हुए क्रेता-विक्रेता सम्मेलन में एक करोड़ 56 लाख रूपये के व्यापारिक अनुबंध किये गए. इसमें कच्ची हर्बल सामग्री जैसे भृंगराज पंचांग, भुई आँवला, हर्रा-कचरिया, भिलावा, गिलोय, बायबिडंग, नागरमोथा से संबंधित 22 एमओयू हस्ताक्षरित हुए. सम्मेलन में जड़ी-बूटी व्यवसाय से जुड़े 35 उत्पादक, निर्माता, प्र-संस्करणकर्ता और प्रतिनिधियों के साथ 23 जिला यूनियनों ने भाग लिया. सम्मेलन की अध्यक्षता सेवानिवृत्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक वीआर खरे ने की. मेले की नि:शुल्क 33 ओपीडी में आज सुबह और शाम 54-54 आयुर्वेद चिकित्सकों और वैद्यों ने परामर्श दिया. अब तक लगभग 62 लाख रुपये की जड़ी-बूटियों और हर्बल उत्पादों की बिक्री हो चुकी है. नि:शुल्क ओपीडी समापन दिवस तक जारी रहेगी. अंतर्राष्ट्रीय वन मेले में 19 दिसम्बर को नि:शुल्क चिकित्सा शिविर होगा. रंगारंग कार्यक्रमों की श्रृंखला में तक रानी दुलैया कॉलेज द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों और रात 8 से 9.30 बजे तक ऑर्केस्ट्रा की प्रस्तुति होगी."/> सम्मेलन में डेढ़ करोड़ से अधिक के अनुबंध भोपाल, राजधानी के लाल परेड ग्राउंड में लगे वन मेले में लाफ्टर शो फेम एहसान कुरैशी ने अपने अपने हास्य व्यंग्य से लोगों का जमकर गुदगुदाया. आयुर्वेदिक औषधियाँ, हर्बल और विभिन्न उत्पादों की खरीदारी के साथ लोगों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी भरपूर लुत्फ उठाया. दोपहर में स्कूली छात्र-छात्राओं की फैंसी ड्रेस एवं सोलो एक्टिंग प्रतियोगिता और शाम को हास्य सम्राट एहसान कुरैशी के लॉफ्टर-शो ने लोगों का भरपूर मनोरंजन किया. अंतर्राष्ट्रीय वन मेला के कॉन्फ्रेंस हॉल में आज हुए क्रेता-विक्रेता सम्मेलन में एक करोड़ 56 लाख रूपये के व्यापारिक अनुबंध किये गए. इसमें कच्ची हर्बल सामग्री जैसे भृंगराज पंचांग, भुई आँवला, हर्रा-कचरिया, भिलावा, गिलोय, बायबिडंग, नागरमोथा से संबंधित 22 एमओयू हस्ताक्षरित हुए. सम्मेलन में जड़ी-बूटी व्यवसाय से जुड़े 35 उत्पादक, निर्माता, प्र-संस्करणकर्ता और प्रतिनिधियों के साथ 23 जिला यूनियनों ने भाग लिया. सम्मेलन की अध्यक्षता सेवानिवृत्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक वीआर खरे ने की. मेले की नि:शुल्क 33 ओपीडी में आज सुबह और शाम 54-54 आयुर्वेद चिकित्सकों और वैद्यों ने परामर्श दिया. अब तक लगभग 62 लाख रुपये की जड़ी-बूटियों और हर्बल उत्पादों की बिक्री हो चुकी है. नि:शुल्क ओपीडी समापन दिवस तक जारी रहेगी. अंतर्राष्ट्रीय वन मेले में 19 दिसम्बर को नि:शुल्क चिकित्सा शिविर होगा. रंगारंग कार्यक्रमों की श्रृंखला में तक रानी दुलैया कॉलेज द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों और रात 8 से 9.30 बजे तक ऑर्केस्ट्रा की प्रस्तुति होगी."/> सम्मेलन में डेढ़ करोड़ से अधिक के अनुबंध भोपाल, राजधानी के लाल परेड ग्राउंड में लगे वन मेले में लाफ्टर शो फेम एहसान कुरैशी ने अपने अपने हास्य व्यंग्य से लोगों का जमकर गुदगुदाया. आयुर्वेदिक औषधियाँ, हर्बल और विभिन्न उत्पादों की खरीदारी के साथ लोगों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी भरपूर लुत्फ उठाया. दोपहर में स्कूली छात्र-छात्राओं की फैंसी ड्रेस एवं सोलो एक्टिंग प्रतियोगिता और शाम को हास्य सम्राट एहसान कुरैशी के लॉफ्टर-शो ने लोगों का भरपूर मनोरंजन किया. अंतर्राष्ट्रीय वन मेला के कॉन्फ्रेंस हॉल में आज हुए क्रेता-विक्रेता सम्मेलन में एक करोड़ 56 लाख रूपये के व्यापारिक अनुबंध किये गए. इसमें कच्ची हर्बल सामग्री जैसे भृंगराज पंचांग, भुई आँवला, हर्रा-कचरिया, भिलावा, गिलोय, बायबिडंग, नागरमोथा से संबंधित 22 एमओयू हस्ताक्षरित हुए. सम्मेलन में जड़ी-बूटी व्यवसाय से जुड़े 35 उत्पादक, निर्माता, प्र-संस्करणकर्ता और प्रतिनिधियों के साथ 23 जिला यूनियनों ने भाग लिया. सम्मेलन की अध्यक्षता सेवानिवृत्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक वीआर खरे ने की. मेले की नि:शुल्क 33 ओपीडी में आज सुबह और शाम 54-54 आयुर्वेद चिकित्सकों और वैद्यों ने परामर्श दिया. अब तक लगभग 62 लाख रुपये की जड़ी-बूटियों और हर्बल उत्पादों की बिक्री हो चुकी है. नि:शुल्क ओपीडी समापन दिवस तक जारी रहेगी. अंतर्राष्ट्रीय वन मेले में 19 दिसम्बर को नि:शुल्क चिकित्सा शिविर होगा. रंगारंग कार्यक्रमों की श्रृंखला में तक रानी दुलैया कॉलेज द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों और रात 8 से 9.30 बजे तक ऑर्केस्ट्रा की प्रस्तुति होगी.">

वन मेले में एहसान ने बांधा समां

2017/12/19



सम्मेलन में डेढ़ करोड़ से अधिक के अनुबंध

  • दवा व्यवसाय से जुड़े 22 एमओयू पर हस्ताक्षर
  • 23 जिला यूनियनों ने लिया हिस्सा
भोपाल, राजधानी के लाल परेड ग्राउंड में लगे वन मेले में लाफ्टर शो फेम एहसान कुरैशी ने अपने अपने हास्य व्यंग्य से लोगों का जमकर गुदगुदाया. आयुर्वेदिक औषधियाँ, हर्बल और विभिन्न उत्पादों की खरीदारी के साथ लोगों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी भरपूर लुत्फ उठाया. दोपहर में स्कूली छात्र-छात्राओं की फैंसी ड्रेस एवं सोलो एक्टिंग प्रतियोगिता और शाम को हास्य सम्राट एहसान कुरैशी के लॉफ्टर-शो ने लोगों का भरपूर मनोरंजन किया. अंतर्राष्ट्रीय वन मेला के कॉन्फ्रेंस हॉल में आज हुए क्रेता-विक्रेता सम्मेलन में एक करोड़ 56 लाख रूपये के व्यापारिक अनुबंध किये गए. इसमें कच्ची हर्बल सामग्री जैसे भृंगराज पंचांग, भुई आँवला, हर्रा-कचरिया, भिलावा, गिलोय, बायबिडंग, नागरमोथा से संबंधित 22 एमओयू हस्ताक्षरित हुए. सम्मेलन में जड़ी-बूटी व्यवसाय से जुड़े 35 उत्पादक, निर्माता, प्र-संस्करणकर्ता और प्रतिनिधियों के साथ 23 जिला यूनियनों ने भाग लिया. सम्मेलन की अध्यक्षता सेवानिवृत्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक वीआर खरे ने की. मेले की नि:शुल्क 33 ओपीडी में आज सुबह और शाम 54-54 आयुर्वेद चिकित्सकों और वैद्यों ने परामर्श दिया. अब तक लगभग 62 लाख रुपये की जड़ी-बूटियों और हर्बल उत्पादों की बिक्री हो चुकी है. नि:शुल्क ओपीडी समापन दिवस तक जारी रहेगी. अंतर्राष्ट्रीय वन मेले में 19 दिसम्बर को नि:शुल्क चिकित्सा शिविर होगा. रंगारंग कार्यक्रमों की श्रृंखला में तक रानी दुलैया कॉलेज द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों और रात 8 से 9.30 बजे तक ऑर्केस्ट्रा की प्रस्तुति होगी.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts