Breaking News :

वजन घटाने के लिए अक्सर जो एक सुझाव ज्यादातर लोग देते हैं वह है- सुबह उठते ही खाली पेट में गुनगुने पानी में नींबू डालकर पीना... हम सब इस नुस्खे से वाकिफ हैं और बहुत से लोग ऐसे हैं जो नींबू-पानी पीने से होने वाले फायदों की तारीफ करते नहीं थकते. लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं. ऐसे में अगर आप भी जरूरत से ज्यादा नींबू पानी का सेवन करते हैं तो इससे होने वाले साइड इफेक्ट्स के बारे में जान लें...

सीने में जलन हो सकती है-

नींबू, ऐसिडिक फ्रूट है और अगर इसका ज्यादा सेवन किया जाए तो इससे सीने में जलन की समस्या हो सकती है. लिहाजा अगर आपको ऐसिड रिफ्लक्स यानी अम्ल प्रतिवाह की समस्या है तो नींबू पानी पीने से बचें.

दांत की परत को नुकसान-

नींबू में मौजूद ऐसिड दांत की परत को नुकसान पहुंचा सकता है. इससे नैचरल शुगर लेवल में कमी आने लगती है और फिर दांत खराब होने लगते हैं. लिहाजा अगर जरूरत से ज्यादा नींबू पानी का सेवन किया जाए तो इससे दांतों में सेंसिटिविटी और कैविटी की समस्या बढ़ सकती है.

मिचली आने की समस्या-

वैसे तो नींबू में विटमिन सी की प्रचूर मात्रा होती है जो हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी है लेकिन अगर इसका जरूरत से ज्यादा सेवन किया जाए तो यह शरीर के लिए कई तरह से खतरनाक साबित हो सकता है. इससे पेट में क्रैैम्प्स पड़ सकते हैं, पेट खराब हो सकता है या मिचली आने की समस्या उत्पन्न हो सकती है.

बार-बार यूरिनेशन के लिए जाना-

नींबू के रस का ज्यादा सेवन करने पर स्वास्थ्य से जुड़ी एक और समस्या हो सकती है और वह है. बार-बार यूरिनेशन के लिए जाना जिससे डिहाईड्रेशन होने का खतरा रहता है. ऐसे में डिहाईड्रेशन से बचने के लिए आपको पानी पीने की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए.

माइग्रेन के मरीजों के लिए ठीक नहीं-

नींबू पानी पीने से कुछ मरीजों में माइग्रेन की समस्या दोबारा शुरू हो सकती है. इसकी वजह यह है कि खट्टे फलों में टाइरामीन होता है जिससे माइग्रेन की समस्या बढ़ सकती है. विटमिन सी शरीर के लिए बेहद जरूरी है लेकिन इसकी मात्रा को कम कर दें.

मुंह के छाले बढ़ सकते हैं-

अगर आपको मुंह में छाले हो गए हैं तो नींबू पानी का सेवन न करें. इससे छाले और उनसे जुड़ी तकलीफ और बढ़ सकती है. जिन लोगों को ऐसिडिक फूड से ऐलर्जी है उन्हें भी नींबू पानी का सेवन नहीं करना चाहिए वरना उनकी ऐलर्जी की समस्या बढ़ सकती है."/> वजन घटाने के लिए अक्सर जो एक सुझाव ज्यादातर लोग देते हैं वह है- सुबह उठते ही खाली पेट में गुनगुने पानी में नींबू डालकर पीना... हम सब इस नुस्खे से वाकिफ हैं और बहुत से लोग ऐसे हैं जो नींबू-पानी पीने से होने वाले फायदों की तारीफ करते नहीं थकते. लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं. ऐसे में अगर आप भी जरूरत से ज्यादा नींबू पानी का सेवन करते हैं तो इससे होने वाले साइड इफेक्ट्स के बारे में जान लें...

सीने में जलन हो सकती है-

नींबू, ऐसिडिक फ्रूट है और अगर इसका ज्यादा सेवन किया जाए तो इससे सीने में जलन की समस्या हो सकती है. लिहाजा अगर आपको ऐसिड रिफ्लक्स यानी अम्ल प्रतिवाह की समस्या है तो नींबू पानी पीने से बचें.

दांत की परत को नुकसान-

नींबू में मौजूद ऐसिड दांत की परत को नुकसान पहुंचा सकता है. इससे नैचरल शुगर लेवल में कमी आने लगती है और फिर दांत खराब होने लगते हैं. लिहाजा अगर जरूरत से ज्यादा नींबू पानी का सेवन किया जाए तो इससे दांतों में सेंसिटिविटी और कैविटी की समस्या बढ़ सकती है.

मिचली आने की समस्या-

वैसे तो नींबू में विटमिन सी की प्रचूर मात्रा होती है जो हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी है लेकिन अगर इसका जरूरत से ज्यादा सेवन किया जाए तो यह शरीर के लिए कई तरह से खतरनाक साबित हो सकता है. इससे पेट में क्रैैम्प्स पड़ सकते हैं, पेट खराब हो सकता है या मिचली आने की समस्या उत्पन्न हो सकती है.

बार-बार यूरिनेशन के लिए जाना-

नींबू के रस का ज्यादा सेवन करने पर स्वास्थ्य से जुड़ी एक और समस्या हो सकती है और वह है. बार-बार यूरिनेशन के लिए जाना जिससे डिहाईड्रेशन होने का खतरा रहता है. ऐसे में डिहाईड्रेशन से बचने के लिए आपको पानी पीने की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए.

माइग्रेन के मरीजों के लिए ठीक नहीं-

नींबू पानी पीने से कुछ मरीजों में माइग्रेन की समस्या दोबारा शुरू हो सकती है. इसकी वजह यह है कि खट्टे फलों में टाइरामीन होता है जिससे माइग्रेन की समस्या बढ़ सकती है. विटमिन सी शरीर के लिए बेहद जरूरी है लेकिन इसकी मात्रा को कम कर दें.

मुंह के छाले बढ़ सकते हैं-

अगर आपको मुंह में छाले हो गए हैं तो नींबू पानी का सेवन न करें. इससे छाले और उनसे जुड़ी तकलीफ और बढ़ सकती है. जिन लोगों को ऐसिडिक फूड से ऐलर्जी है उन्हें भी नींबू पानी का सेवन नहीं करना चाहिए वरना उनकी ऐलर्जी की समस्या बढ़ सकती है."/> वजन घटाने के लिए अक्सर जो एक सुझाव ज्यादातर लोग देते हैं वह है- सुबह उठते ही खाली पेट में गुनगुने पानी में नींबू डालकर पीना... हम सब इस नुस्खे से वाकिफ हैं और बहुत से लोग ऐसे हैं जो नींबू-पानी पीने से होने वाले फायदों की तारीफ करते नहीं थकते. लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं. ऐसे में अगर आप भी जरूरत से ज्यादा नींबू पानी का सेवन करते हैं तो इससे होने वाले साइड इफेक्ट्स के बारे में जान लें...

सीने में जलन हो सकती है-

नींबू, ऐसिडिक फ्रूट है और अगर इसका ज्यादा सेवन किया जाए तो इससे सीने में जलन की समस्या हो सकती है. लिहाजा अगर आपको ऐसिड रिफ्लक्स यानी अम्ल प्रतिवाह की समस्या है तो नींबू पानी पीने से बचें.

दांत की परत को नुकसान-

नींबू में मौजूद ऐसिड दांत की परत को नुकसान पहुंचा सकता है. इससे नैचरल शुगर लेवल में कमी आने लगती है और फिर दांत खराब होने लगते हैं. लिहाजा अगर जरूरत से ज्यादा नींबू पानी का सेवन किया जाए तो इससे दांतों में सेंसिटिविटी और कैविटी की समस्या बढ़ सकती है.

मिचली आने की समस्या-

वैसे तो नींबू में विटमिन सी की प्रचूर मात्रा होती है जो हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी है लेकिन अगर इसका जरूरत से ज्यादा सेवन किया जाए तो यह शरीर के लिए कई तरह से खतरनाक साबित हो सकता है. इससे पेट में क्रैैम्प्स पड़ सकते हैं, पेट खराब हो सकता है या मिचली आने की समस्या उत्पन्न हो सकती है.

बार-बार यूरिनेशन के लिए जाना-

नींबू के रस का ज्यादा सेवन करने पर स्वास्थ्य से जुड़ी एक और समस्या हो सकती है और वह है. बार-बार यूरिनेशन के लिए जाना जिससे डिहाईड्रेशन होने का खतरा रहता है. ऐसे में डिहाईड्रेशन से बचने के लिए आपको पानी पीने की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए.

माइग्रेन के मरीजों के लिए ठीक नहीं-

नींबू पानी पीने से कुछ मरीजों में माइग्रेन की समस्या दोबारा शुरू हो सकती है. इसकी वजह यह है कि खट्टे फलों में टाइरामीन होता है जिससे माइग्रेन की समस्या बढ़ सकती है. विटमिन सी शरीर के लिए बेहद जरूरी है लेकिन इसकी मात्रा को कम कर दें.

मुंह के छाले बढ़ सकते हैं-

अगर आपको मुंह में छाले हो गए हैं तो नींबू पानी का सेवन न करें. इससे छाले और उनसे जुड़ी तकलीफ और बढ़ सकती है. जिन लोगों को ऐसिडिक फूड से ऐलर्जी है उन्हें भी नींबू पानी का सेवन नहीं करना चाहिए वरना उनकी ऐलर्जी की समस्या बढ़ सकती है.">

वजन घटाने के लिए नींबू पानी पीते हैं, हो सकता है नुकसान

2018/03/03



वजन घटाने के लिए अक्सर जो एक सुझाव ज्यादातर लोग देते हैं वह है- सुबह उठते ही खाली पेट में गुनगुने पानी में नींबू डालकर पीना... हम सब इस नुस्खे से वाकिफ हैं और बहुत से लोग ऐसे हैं जो नींबू-पानी पीने से होने वाले फायदों की तारीफ करते नहीं थकते. लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं. ऐसे में अगर आप भी जरूरत से ज्यादा नींबू पानी का सेवन करते हैं तो इससे होने वाले साइड इफेक्ट्स के बारे में जान लें...

सीने में जलन हो सकती है-

नींबू, ऐसिडिक फ्रूट है और अगर इसका ज्यादा सेवन किया जाए तो इससे सीने में जलन की समस्या हो सकती है. लिहाजा अगर आपको ऐसिड रिफ्लक्स यानी अम्ल प्रतिवाह की समस्या है तो नींबू पानी पीने से बचें.

दांत की परत को नुकसान-

नींबू में मौजूद ऐसिड दांत की परत को नुकसान पहुंचा सकता है. इससे नैचरल शुगर लेवल में कमी आने लगती है और फिर दांत खराब होने लगते हैं. लिहाजा अगर जरूरत से ज्यादा नींबू पानी का सेवन किया जाए तो इससे दांतों में सेंसिटिविटी और कैविटी की समस्या बढ़ सकती है.

मिचली आने की समस्या-

वैसे तो नींबू में विटमिन सी की प्रचूर मात्रा होती है जो हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी है लेकिन अगर इसका जरूरत से ज्यादा सेवन किया जाए तो यह शरीर के लिए कई तरह से खतरनाक साबित हो सकता है. इससे पेट में क्रैैम्प्स पड़ सकते हैं, पेट खराब हो सकता है या मिचली आने की समस्या उत्पन्न हो सकती है.

बार-बार यूरिनेशन के लिए जाना-

नींबू के रस का ज्यादा सेवन करने पर स्वास्थ्य से जुड़ी एक और समस्या हो सकती है और वह है. बार-बार यूरिनेशन के लिए जाना जिससे डिहाईड्रेशन होने का खतरा रहता है. ऐसे में डिहाईड्रेशन से बचने के लिए आपको पानी पीने की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए.

माइग्रेन के मरीजों के लिए ठीक नहीं-

नींबू पानी पीने से कुछ मरीजों में माइग्रेन की समस्या दोबारा शुरू हो सकती है. इसकी वजह यह है कि खट्टे फलों में टाइरामीन होता है जिससे माइग्रेन की समस्या बढ़ सकती है. विटमिन सी शरीर के लिए बेहद जरूरी है लेकिन इसकी मात्रा को कम कर दें.

मुंह के छाले बढ़ सकते हैं-

अगर आपको मुंह में छाले हो गए हैं तो नींबू पानी का सेवन न करें. इससे छाले और उनसे जुड़ी तकलीफ और बढ़ सकती है. जिन लोगों को ऐसिडिक फूड से ऐलर्जी है उन्हें भी नींबू पानी का सेवन नहीं करना चाहिए वरना उनकी ऐलर्जी की समस्या बढ़ सकती है.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts