Breaking News :

कोलम्बो, कप्तान रोहित शर्मा लम्बे समय बाद आखिर अपनी रंगत में लौट आये और उनकी 89 रन की विस्फोटक पारी के दम पर भारत ने बंगलादेश को बुधवार को 17 रन से हराकर त्रिकोणीय ट्वंटी-20 टूर्नामेंट निदहास ट्रॉफी के खिताबी मुकाबले में प्रवेश कर लिया। भारत ने तीन विकेट पर 176 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाने के बाद बंगलादेश को छह विकेट पर 159 रन पर रोक लिया।भारत की चार मैचों में यह तीसरी जीत रही और इसके साथ ही वह फाइनल में पहुंच गया। फाइनल की दूसरी टीम का फैसला श्रीलंका और बंगलादेश के बीच आखिरी लीग मैच से होगा। टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे हिटमैन रोहित जो पिछले काफी समय से बल्ले से संघर्ष कर रहे थे। रोहित ने अपनी तूफानी फॉर्म दिखाते हुए 61 गेंदों पर 89 रन की पारी में पांच चौके और पांच छक्के लगाए। रोहित ने बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना (47) के साथ दूसरे विकेट के लिए 9.2 ओवर में 102 रन की साझेदारी की।रोहित भारतीय पारी की आखिरी गेंद पर आउट हुए। रैना ने भी तेज तर्रार अंदाज में खेलते हुए 30 गेंदों पर पांच चौकों और दो छक्कों की मदद से 47 रन बनाये।भारत का स्कोर 190 रन जा सकता था लेकिन रुबेल हुसैन ने आखिरी ओवर बेहतरीन डाला और मात्र चार रन दिए।रुबेल ने आखिर ओवर की पहली गेंद पर रैना को बॉउंड्री पर कैच कराया और फिर अंतिम गेंद पर शानदार फील्डिंग करने के बाद रोहित को रन आउट भी कर दिया। रोहित ने शिखर धवन के साथ पहले विकेट के लिए 9.5 ओवर में 70 रन की साझेदारी की।शिखर ने 27 गेंदों पर 35 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया।रोहित ने अपनी लय पकड़ते हुए तीनों फॉर्मेट में पिछली 17 पारियों में पहला अर्धशतक बनाया।उन्होंने दक्षिण अफ्रीका दौरे में वनडे सीरीज में शतक बनाया था।ट्वंटी 20 में पिछली सात पारियों में उनका सर्वाधिक स्कोर 21 रन था लेकिन यहां उन्होंने जबरदस्त छक्के लगाए। भारत ने आखिरी ओवर में चार रन जाने के बावजूद अंतिम पांच ओवरों में 59 रन बटोरे।रोहित और रैना ने पारी के 18 वें ओवर में तीन छक्कों सहित 21 रन बटोरे जिसके दम पर भारत 176 तक पहुंच सका।बंगलादेश ने काफी कोशिश की लेकिन विकेट गिरते रहने से उसके लिए रन गति बड़ी होती चली गयी और अंत में उसे 17 रन से हार का सामना करना पड़ा। मुशफिकुर रहीम ने 55 गेंदों में पांच चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 72 रन की बेहतरीन पारी खेली लेकिन दूसरे छोर से विकेट गिरते रहने के कारण वह टीम को जीत की मंजिल पर नहीं ले जा सके। तमीम इकबाल ने 27 और शब्बीर रहमान ने 27 रन बनाये। भारतीय गेंदबाजों में वाशिंगटन सुन्दर काफी प्रभावशाली रहे और उन्होंने 22 रन देकर तीन विकेट लिए। मोहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर और युजवेंद्र चहल को एक-एक विकेट मिला।
"/>
कोलम्बो, कप्तान रोहित शर्मा लम्बे समय बाद आखिर अपनी रंगत में लौट आये और उनकी 89 रन की विस्फोटक पारी के दम पर भारत ने बंगलादेश को बुधवार को 17 रन से हराकर त्रिकोणीय ट्वंटी-20 टूर्नामेंट निदहास ट्रॉफी के खिताबी मुकाबले में प्रवेश कर लिया। भारत ने तीन विकेट पर 176 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाने के बाद बंगलादेश को छह विकेट पर 159 रन पर रोक लिया।भारत की चार मैचों में यह तीसरी जीत रही और इसके साथ ही वह फाइनल में पहुंच गया। फाइनल की दूसरी टीम का फैसला श्रीलंका और बंगलादेश के बीच आखिरी लीग मैच से होगा। टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे हिटमैन रोहित जो पिछले काफी समय से बल्ले से संघर्ष कर रहे थे। रोहित ने अपनी तूफानी फॉर्म दिखाते हुए 61 गेंदों पर 89 रन की पारी में पांच चौके और पांच छक्के लगाए। रोहित ने बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना (47) के साथ दूसरे विकेट के लिए 9.2 ओवर में 102 रन की साझेदारी की।रोहित भारतीय पारी की आखिरी गेंद पर आउट हुए। रैना ने भी तेज तर्रार अंदाज में खेलते हुए 30 गेंदों पर पांच चौकों और दो छक्कों की मदद से 47 रन बनाये।भारत का स्कोर 190 रन जा सकता था लेकिन रुबेल हुसैन ने आखिरी ओवर बेहतरीन डाला और मात्र चार रन दिए।रुबेल ने आखिर ओवर की पहली गेंद पर रैना को बॉउंड्री पर कैच कराया और फिर अंतिम गेंद पर शानदार फील्डिंग करने के बाद रोहित को रन आउट भी कर दिया। रोहित ने शिखर धवन के साथ पहले विकेट के लिए 9.5 ओवर में 70 रन की साझेदारी की।शिखर ने 27 गेंदों पर 35 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया।रोहित ने अपनी लय पकड़ते हुए तीनों फॉर्मेट में पिछली 17 पारियों में पहला अर्धशतक बनाया।उन्होंने दक्षिण अफ्रीका दौरे में वनडे सीरीज में शतक बनाया था।ट्वंटी 20 में पिछली सात पारियों में उनका सर्वाधिक स्कोर 21 रन था लेकिन यहां उन्होंने जबरदस्त छक्के लगाए। भारत ने आखिरी ओवर में चार रन जाने के बावजूद अंतिम पांच ओवरों में 59 रन बटोरे।रोहित और रैना ने पारी के 18 वें ओवर में तीन छक्कों सहित 21 रन बटोरे जिसके दम पर भारत 176 तक पहुंच सका।बंगलादेश ने काफी कोशिश की लेकिन विकेट गिरते रहने से उसके लिए रन गति बड़ी होती चली गयी और अंत में उसे 17 रन से हार का सामना करना पड़ा। मुशफिकुर रहीम ने 55 गेंदों में पांच चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 72 रन की बेहतरीन पारी खेली लेकिन दूसरे छोर से विकेट गिरते रहने के कारण वह टीम को जीत की मंजिल पर नहीं ले जा सके। तमीम इकबाल ने 27 और शब्बीर रहमान ने 27 रन बनाये। भारतीय गेंदबाजों में वाशिंगटन सुन्दर काफी प्रभावशाली रहे और उन्होंने 22 रन देकर तीन विकेट लिए। मोहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर और युजवेंद्र चहल को एक-एक विकेट मिला।
"/>
कोलम्बो, कप्तान रोहित शर्मा लम्बे समय बाद आखिर अपनी रंगत में लौट आये और उनकी 89 रन की विस्फोटक पारी के दम पर भारत ने बंगलादेश को बुधवार को 17 रन से हराकर त्रिकोणीय ट्वंटी-20 टूर्नामेंट निदहास ट्रॉफी के खिताबी मुकाबले में प्रवेश कर लिया। भारत ने तीन विकेट पर 176 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाने के बाद बंगलादेश को छह विकेट पर 159 रन पर रोक लिया।भारत की चार मैचों में यह तीसरी जीत रही और इसके साथ ही वह फाइनल में पहुंच गया। फाइनल की दूसरी टीम का फैसला श्रीलंका और बंगलादेश के बीच आखिरी लीग मैच से होगा। टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे हिटमैन रोहित जो पिछले काफी समय से बल्ले से संघर्ष कर रहे थे। रोहित ने अपनी तूफानी फॉर्म दिखाते हुए 61 गेंदों पर 89 रन की पारी में पांच चौके और पांच छक्के लगाए। रोहित ने बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना (47) के साथ दूसरे विकेट के लिए 9.2 ओवर में 102 रन की साझेदारी की।रोहित भारतीय पारी की आखिरी गेंद पर आउट हुए। रैना ने भी तेज तर्रार अंदाज में खेलते हुए 30 गेंदों पर पांच चौकों और दो छक्कों की मदद से 47 रन बनाये।भारत का स्कोर 190 रन जा सकता था लेकिन रुबेल हुसैन ने आखिरी ओवर बेहतरीन डाला और मात्र चार रन दिए।रुबेल ने आखिर ओवर की पहली गेंद पर रैना को बॉउंड्री पर कैच कराया और फिर अंतिम गेंद पर शानदार फील्डिंग करने के बाद रोहित को रन आउट भी कर दिया। रोहित ने शिखर धवन के साथ पहले विकेट के लिए 9.5 ओवर में 70 रन की साझेदारी की।शिखर ने 27 गेंदों पर 35 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया।रोहित ने अपनी लय पकड़ते हुए तीनों फॉर्मेट में पिछली 17 पारियों में पहला अर्धशतक बनाया।उन्होंने दक्षिण अफ्रीका दौरे में वनडे सीरीज में शतक बनाया था।ट्वंटी 20 में पिछली सात पारियों में उनका सर्वाधिक स्कोर 21 रन था लेकिन यहां उन्होंने जबरदस्त छक्के लगाए। भारत ने आखिरी ओवर में चार रन जाने के बावजूद अंतिम पांच ओवरों में 59 रन बटोरे।रोहित और रैना ने पारी के 18 वें ओवर में तीन छक्कों सहित 21 रन बटोरे जिसके दम पर भारत 176 तक पहुंच सका।बंगलादेश ने काफी कोशिश की लेकिन विकेट गिरते रहने से उसके लिए रन गति बड़ी होती चली गयी और अंत में उसे 17 रन से हार का सामना करना पड़ा। मुशफिकुर रहीम ने 55 गेंदों में पांच चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 72 रन की बेहतरीन पारी खेली लेकिन दूसरे छोर से विकेट गिरते रहने के कारण वह टीम को जीत की मंजिल पर नहीं ले जा सके। तमीम इकबाल ने 27 और शब्बीर रहमान ने 27 रन बनाये। भारतीय गेंदबाजों में वाशिंगटन सुन्दर काफी प्रभावशाली रहे और उन्होंने 22 रन देकर तीन विकेट लिए। मोहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर और युजवेंद्र चहल को एक-एक विकेट मिला।
">

रोहित के विस्फोट से भारत फाइनल में

2018/03/15



कोलम्बो, कप्तान रोहित शर्मा लम्बे समय बाद आखिर अपनी रंगत में लौट आये और उनकी 89 रन की विस्फोटक पारी के दम पर भारत ने बंगलादेश को बुधवार को 17 रन से हराकर त्रिकोणीय ट्वंटी-20 टूर्नामेंट निदहास ट्रॉफी के खिताबी मुकाबले में प्रवेश कर लिया। भारत ने तीन विकेट पर 176 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाने के बाद बंगलादेश को छह विकेट पर 159 रन पर रोक लिया।भारत की चार मैचों में यह तीसरी जीत रही और इसके साथ ही वह फाइनल में पहुंच गया। फाइनल की दूसरी टीम का फैसला श्रीलंका और बंगलादेश के बीच आखिरी लीग मैच से होगा। टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे हिटमैन रोहित जो पिछले काफी समय से बल्ले से संघर्ष कर रहे थे। रोहित ने अपनी तूफानी फॉर्म दिखाते हुए 61 गेंदों पर 89 रन की पारी में पांच चौके और पांच छक्के लगाए। रोहित ने बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना (47) के साथ दूसरे विकेट के लिए 9.2 ओवर में 102 रन की साझेदारी की।रोहित भारतीय पारी की आखिरी गेंद पर आउट हुए। रैना ने भी तेज तर्रार अंदाज में खेलते हुए 30 गेंदों पर पांच चौकों और दो छक्कों की मदद से 47 रन बनाये।भारत का स्कोर 190 रन जा सकता था लेकिन रुबेल हुसैन ने आखिरी ओवर बेहतरीन डाला और मात्र चार रन दिए।रुबेल ने आखिर ओवर की पहली गेंद पर रैना को बॉउंड्री पर कैच कराया और फिर अंतिम गेंद पर शानदार फील्डिंग करने के बाद रोहित को रन आउट भी कर दिया। रोहित ने शिखर धवन के साथ पहले विकेट के लिए 9.5 ओवर में 70 रन की साझेदारी की।शिखर ने 27 गेंदों पर 35 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया।रोहित ने अपनी लय पकड़ते हुए तीनों फॉर्मेट में पिछली 17 पारियों में पहला अर्धशतक बनाया।उन्होंने दक्षिण अफ्रीका दौरे में वनडे सीरीज में शतक बनाया था।ट्वंटी 20 में पिछली सात पारियों में उनका सर्वाधिक स्कोर 21 रन था लेकिन यहां उन्होंने जबरदस्त छक्के लगाए। भारत ने आखिरी ओवर में चार रन जाने के बावजूद अंतिम पांच ओवरों में 59 रन बटोरे।रोहित और रैना ने पारी के 18 वें ओवर में तीन छक्कों सहित 21 रन बटोरे जिसके दम पर भारत 176 तक पहुंच सका।बंगलादेश ने काफी कोशिश की लेकिन विकेट गिरते रहने से उसके लिए रन गति बड़ी होती चली गयी और अंत में उसे 17 रन से हार का सामना करना पड़ा। मुशफिकुर रहीम ने 55 गेंदों में पांच चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 72 रन की बेहतरीन पारी खेली लेकिन दूसरे छोर से विकेट गिरते रहने के कारण वह टीम को जीत की मंजिल पर नहीं ले जा सके। तमीम इकबाल ने 27 और शब्बीर रहमान ने 27 रन बनाये। भारतीय गेंदबाजों में वाशिंगटन सुन्दर काफी प्रभावशाली रहे और उन्होंने 22 रन देकर तीन विकेट लिए। मोहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर और युजवेंद्र चहल को एक-एक विकेट मिला।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts