Breaking News :

पीएम मोदी के पकौड़ा वाले बयान का अमित शाह ने किया बचाव

नई दिल्ली, बीजेपी अध्यक्ष और राज्य सभा सांसद अमित शाह ने सोमवार को संसद के उच्च सदन में अपने पहले भाषण में कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. शाह ने यूपीए सरकार के कार्यकाल का जिक्र करते हुए कहा कि इस दौरान देश में भ्रष्टाचार का बोलबाला था और देश पॉलिसी परैलिसिस का शिकार रहा. शाह ने पीएम नरेंद्र मोदी के पकौड़ा वाले बयान का भी बचाव किया. शाह ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पकौड़ा बेचने की तुलना भिखारी से करने को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा. शाह के इस पहले भाषण के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी भी सदन में मौजूद थे. शाह ने कहा, करोड़ों युवा जो छोटे-छोटे स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, पकौड़ा बना रहे हैं, उसकी आप भिखारी के साथ तुलना करेंगे. यह किस प्रकार की मानसिकता है. पकौड़ा बनाना कोई शर्म की बात नहीं है. इसकी भिखारी के साथ तुलना करना शर्मनाक बात है. कोई बेरोजगार पकौड़ा बना रहा है. उसकी दूसरी पीढ़ी आगे आएगी. कोई बड़ा उद्योगपति बनेगी. एक चायवाला पीएम बनकर इस सदन में बैठा है. शाह ने अपने भाषण में मोदी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं. शाह ने कहा कि उन्हें साढ़े तीन साल पीछे देखकर आश्चर्य होता है. बजट में घोषित 10 करोड़ लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना का जिक्र कर शाह ने कहा कि भविष्य में इसे नमो हेल्थकेयर के नाम से जाना जाएगा. राज्य सभा में पहली बार बोलने के लिए उठे शाह ने कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार पर भी निशाना साधा. शाह ने कहा कि 2013 में देश की स्थिति को याद किया जाना चाहिए. तब देश का भविष्य दिशाहीन था. महिलाएं अपने आपको असुरक्षित महसूस करती थीं. सीमाओं की रक्षा करने वाले जवान राजनीतिक अनिर्णय के कारण अपने शौर्य का प्रदर्शन नहीं कर पा रह थे.

कांग्रेस का सरकार पर हमला विपक्ष को बना दिया आतंकवादी

नई दिल्ली, संसद में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस ने मोदी सरकार को जमकर घेरा. राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने अपने संबोधन के दौरान तंज कसते हुए कहा कि यह सरकार गेमचेंजर नहीं, नेमचेंजर हैं जो सिर्फ यूपीए सरकार की योजनाओं का नाम बदलकर वाह-वाही लूट रही है. आजाद ने हाल में सामने आई 8 महीने की बच्ची से बलात्कार की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार अगर ऐसा नया भारत बना रही है, तो हमें नहीं चाहिए ऐसा भारत, हमें पुराना भारत लौटा दो. कांग्रेस नेता ने मोदी सरकार को 70 सालों में सबसे कमजोर सरकार बताया. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि 1985 या उसके उसके बाद कांग्रेस और यूपीए के शासनकाल में जितनी भी योजनाएं बनीं, उनके नाम बदलकर उन्हें फिर से शुरू किया जा रहा है. उन्होंने कहा, आप लोग हर योजना शुरू करते वक्त कहते हैं कि हमारी सरकार गेमचेंजर है, मैं कहता हूं कि गेमचेंजर नहीं, नेमचेंजर है. आजाद ने आरोप लगाया कि सरकार विपक्ष के नेताओं के फोन टैप करवा रही है. उन्होंने कहा, हमारे वक्त में तो आतंकवादियों के फोन टैप किए जाते थे. आज हमारे फोन टैप किए जा रहे हैं. आपने तो हमें अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी बना दिया. विपक्ष को आतंकवादी बना दिया. नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं का नारा दिया जा रहा है."/>

पीएम मोदी के पकौड़ा वाले बयान का अमित शाह ने किया बचाव

नई दिल्ली, बीजेपी अध्यक्ष और राज्य सभा सांसद अमित शाह ने सोमवार को संसद के उच्च सदन में अपने पहले भाषण में कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. शाह ने यूपीए सरकार के कार्यकाल का जिक्र करते हुए कहा कि इस दौरान देश में भ्रष्टाचार का बोलबाला था और देश पॉलिसी परैलिसिस का शिकार रहा. शाह ने पीएम नरेंद्र मोदी के पकौड़ा वाले बयान का भी बचाव किया. शाह ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पकौड़ा बेचने की तुलना भिखारी से करने को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा. शाह के इस पहले भाषण के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी भी सदन में मौजूद थे. शाह ने कहा, करोड़ों युवा जो छोटे-छोटे स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, पकौड़ा बना रहे हैं, उसकी आप भिखारी के साथ तुलना करेंगे. यह किस प्रकार की मानसिकता है. पकौड़ा बनाना कोई शर्म की बात नहीं है. इसकी भिखारी के साथ तुलना करना शर्मनाक बात है. कोई बेरोजगार पकौड़ा बना रहा है. उसकी दूसरी पीढ़ी आगे आएगी. कोई बड़ा उद्योगपति बनेगी. एक चायवाला पीएम बनकर इस सदन में बैठा है. शाह ने अपने भाषण में मोदी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं. शाह ने कहा कि उन्हें साढ़े तीन साल पीछे देखकर आश्चर्य होता है. बजट में घोषित 10 करोड़ लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना का जिक्र कर शाह ने कहा कि भविष्य में इसे नमो हेल्थकेयर के नाम से जाना जाएगा. राज्य सभा में पहली बार बोलने के लिए उठे शाह ने कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार पर भी निशाना साधा. शाह ने कहा कि 2013 में देश की स्थिति को याद किया जाना चाहिए. तब देश का भविष्य दिशाहीन था. महिलाएं अपने आपको असुरक्षित महसूस करती थीं. सीमाओं की रक्षा करने वाले जवान राजनीतिक अनिर्णय के कारण अपने शौर्य का प्रदर्शन नहीं कर पा रह थे.

कांग्रेस का सरकार पर हमला विपक्ष को बना दिया आतंकवादी

नई दिल्ली, संसद में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस ने मोदी सरकार को जमकर घेरा. राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने अपने संबोधन के दौरान तंज कसते हुए कहा कि यह सरकार गेमचेंजर नहीं, नेमचेंजर हैं जो सिर्फ यूपीए सरकार की योजनाओं का नाम बदलकर वाह-वाही लूट रही है. आजाद ने हाल में सामने आई 8 महीने की बच्ची से बलात्कार की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार अगर ऐसा नया भारत बना रही है, तो हमें नहीं चाहिए ऐसा भारत, हमें पुराना भारत लौटा दो. कांग्रेस नेता ने मोदी सरकार को 70 सालों में सबसे कमजोर सरकार बताया. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि 1985 या उसके उसके बाद कांग्रेस और यूपीए के शासनकाल में जितनी भी योजनाएं बनीं, उनके नाम बदलकर उन्हें फिर से शुरू किया जा रहा है. उन्होंने कहा, आप लोग हर योजना शुरू करते वक्त कहते हैं कि हमारी सरकार गेमचेंजर है, मैं कहता हूं कि गेमचेंजर नहीं, नेमचेंजर है. आजाद ने आरोप लगाया कि सरकार विपक्ष के नेताओं के फोन टैप करवा रही है. उन्होंने कहा, हमारे वक्त में तो आतंकवादियों के फोन टैप किए जाते थे. आज हमारे फोन टैप किए जा रहे हैं. आपने तो हमें अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी बना दिया. विपक्ष को आतंकवादी बना दिया. नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं का नारा दिया जा रहा है."/>

पीएम मोदी के पकौड़ा वाले बयान का अमित शाह ने किया बचाव

नई दिल्ली, बीजेपी अध्यक्ष और राज्य सभा सांसद अमित शाह ने सोमवार को संसद के उच्च सदन में अपने पहले भाषण में कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. शाह ने यूपीए सरकार के कार्यकाल का जिक्र करते हुए कहा कि इस दौरान देश में भ्रष्टाचार का बोलबाला था और देश पॉलिसी परैलिसिस का शिकार रहा. शाह ने पीएम नरेंद्र मोदी के पकौड़ा वाले बयान का भी बचाव किया. शाह ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पकौड़ा बेचने की तुलना भिखारी से करने को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा. शाह के इस पहले भाषण के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी भी सदन में मौजूद थे. शाह ने कहा, करोड़ों युवा जो छोटे-छोटे स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, पकौड़ा बना रहे हैं, उसकी आप भिखारी के साथ तुलना करेंगे. यह किस प्रकार की मानसिकता है. पकौड़ा बनाना कोई शर्म की बात नहीं है. इसकी भिखारी के साथ तुलना करना शर्मनाक बात है. कोई बेरोजगार पकौड़ा बना रहा है. उसकी दूसरी पीढ़ी आगे आएगी. कोई बड़ा उद्योगपति बनेगी. एक चायवाला पीएम बनकर इस सदन में बैठा है. शाह ने अपने भाषण में मोदी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं. शाह ने कहा कि उन्हें साढ़े तीन साल पीछे देखकर आश्चर्य होता है. बजट में घोषित 10 करोड़ लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना का जिक्र कर शाह ने कहा कि भविष्य में इसे नमो हेल्थकेयर के नाम से जाना जाएगा. राज्य सभा में पहली बार बोलने के लिए उठे शाह ने कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार पर भी निशाना साधा. शाह ने कहा कि 2013 में देश की स्थिति को याद किया जाना चाहिए. तब देश का भविष्य दिशाहीन था. महिलाएं अपने आपको असुरक्षित महसूस करती थीं. सीमाओं की रक्षा करने वाले जवान राजनीतिक अनिर्णय के कारण अपने शौर्य का प्रदर्शन नहीं कर पा रह थे.

कांग्रेस का सरकार पर हमला विपक्ष को बना दिया आतंकवादी

नई दिल्ली, संसद में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस ने मोदी सरकार को जमकर घेरा. राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने अपने संबोधन के दौरान तंज कसते हुए कहा कि यह सरकार गेमचेंजर नहीं, नेमचेंजर हैं जो सिर्फ यूपीए सरकार की योजनाओं का नाम बदलकर वाह-वाही लूट रही है. आजाद ने हाल में सामने आई 8 महीने की बच्ची से बलात्कार की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार अगर ऐसा नया भारत बना रही है, तो हमें नहीं चाहिए ऐसा भारत, हमें पुराना भारत लौटा दो. कांग्रेस नेता ने मोदी सरकार को 70 सालों में सबसे कमजोर सरकार बताया. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि 1985 या उसके उसके बाद कांग्रेस और यूपीए के शासनकाल में जितनी भी योजनाएं बनीं, उनके नाम बदलकर उन्हें फिर से शुरू किया जा रहा है. उन्होंने कहा, आप लोग हर योजना शुरू करते वक्त कहते हैं कि हमारी सरकार गेमचेंजर है, मैं कहता हूं कि गेमचेंजर नहीं, नेमचेंजर है. आजाद ने आरोप लगाया कि सरकार विपक्ष के नेताओं के फोन टैप करवा रही है. उन्होंने कहा, हमारे वक्त में तो आतंकवादियों के फोन टैप किए जाते थे. आज हमारे फोन टैप किए जा रहे हैं. आपने तो हमें अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी बना दिया. विपक्ष को आतंकवादी बना दिया. नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं का नारा दिया जा रहा है.">

राज्यसभा में पहला भाषण: कांग्रेस पर गरजे शाह

2018/02/06



पीएम मोदी के पकौड़ा वाले बयान का अमित शाह ने किया बचाव

  • करोड़ों युवा बढ़ रहे हैं स्वरोजगार की दिशा में
नई दिल्ली, बीजेपी अध्यक्ष और राज्य सभा सांसद अमित शाह ने सोमवार को संसद के उच्च सदन में अपने पहले भाषण में कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. शाह ने यूपीए सरकार के कार्यकाल का जिक्र करते हुए कहा कि इस दौरान देश में भ्रष्टाचार का बोलबाला था और देश पॉलिसी परैलिसिस का शिकार रहा. शाह ने पीएम नरेंद्र मोदी के पकौड़ा वाले बयान का भी बचाव किया. शाह ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पकौड़ा बेचने की तुलना भिखारी से करने को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा. शाह के इस पहले भाषण के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी भी सदन में मौजूद थे. शाह ने कहा, करोड़ों युवा जो छोटे-छोटे स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, पकौड़ा बना रहे हैं, उसकी आप भिखारी के साथ तुलना करेंगे. यह किस प्रकार की मानसिकता है. पकौड़ा बनाना कोई शर्म की बात नहीं है. इसकी भिखारी के साथ तुलना करना शर्मनाक बात है. कोई बेरोजगार पकौड़ा बना रहा है. उसकी दूसरी पीढ़ी आगे आएगी. कोई बड़ा उद्योगपति बनेगी. एक चायवाला पीएम बनकर इस सदन में बैठा है. शाह ने अपने भाषण में मोदी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं. शाह ने कहा कि उन्हें साढ़े तीन साल पीछे देखकर आश्चर्य होता है. बजट में घोषित 10 करोड़ लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना का जिक्र कर शाह ने कहा कि भविष्य में इसे नमो हेल्थकेयर के नाम से जाना जाएगा. राज्य सभा में पहली बार बोलने के लिए उठे शाह ने कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार पर भी निशाना साधा. शाह ने कहा कि 2013 में देश की स्थिति को याद किया जाना चाहिए. तब देश का भविष्य दिशाहीन था. महिलाएं अपने आपको असुरक्षित महसूस करती थीं. सीमाओं की रक्षा करने वाले जवान राजनीतिक अनिर्णय के कारण अपने शौर्य का प्रदर्शन नहीं कर पा रह थे.

कांग्रेस का सरकार पर हमला विपक्ष को बना दिया आतंकवादी

  • यूपीए की सारी योजनाओं का मोदी सरकार ने बदला नाम
नई दिल्ली, संसद में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस ने मोदी सरकार को जमकर घेरा. राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने अपने संबोधन के दौरान तंज कसते हुए कहा कि यह सरकार गेमचेंजर नहीं, नेमचेंजर हैं जो सिर्फ यूपीए सरकार की योजनाओं का नाम बदलकर वाह-वाही लूट रही है. आजाद ने हाल में सामने आई 8 महीने की बच्ची से बलात्कार की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार अगर ऐसा नया भारत बना रही है, तो हमें नहीं चाहिए ऐसा भारत, हमें पुराना भारत लौटा दो. कांग्रेस नेता ने मोदी सरकार को 70 सालों में सबसे कमजोर सरकार बताया. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि 1985 या उसके उसके बाद कांग्रेस और यूपीए के शासनकाल में जितनी भी योजनाएं बनीं, उनके नाम बदलकर उन्हें फिर से शुरू किया जा रहा है. उन्होंने कहा, आप लोग हर योजना शुरू करते वक्त कहते हैं कि हमारी सरकार गेमचेंजर है, मैं कहता हूं कि गेमचेंजर नहीं, नेमचेंजर है. आजाद ने आरोप लगाया कि सरकार विपक्ष के नेताओं के फोन टैप करवा रही है. उन्होंने कहा, हमारे वक्त में तो आतंकवादियों के फोन टैप किए जाते थे. आज हमारे फोन टैप किए जा रहे हैं. आपने तो हमें अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी बना दिया. विपक्ष को आतंकवादी बना दिया. नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं का नारा दिया जा रहा है.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts