Breaking News :

मुंबई, बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत राजनीति के मंच पर भी अपना जौहर दिखाना चाहती हैं। कंगना ने राजनीति के क्षेत्र में आने संबंधी सवाल के जवाब में कहा, “यह एक शानदार क्षेत्र है लेकिन अक्सर लोग इसे गलत समझते हैं।बस मुझे राजनेताओं का फैशन सेंस बिल्कुल नहीं पसंद है।चूंकि जैसे कपड़े मैं पहनती हूं और जिस तरह बोलती हूं, उससे नहीं लगता कि कोई भी पार्टी मुझे अपना हिस्सा बनाएगी।हां, यदि वे मेरे फैशन सेंस को नहीं बदलेंगे और मुझे मेरी मर्जी के मुताबिक बोलने देंगे तो मुझे राजनीति में आने में कोई दिक्कत नहीं है।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कंगना ने कहा, “मैं मोदी की सफलता के कारण उनकी बड़ी फैन हूं।नौजवान महिला होने के नाते मुझे लगता है कि हमारे पास सही रोल मॉडल होने चाहिए।मेरा मतलब एक आम आदमी के काम और उसकी इच्छाओं से है। जब हमारे पास चायवाला पीएम होता है, तब वह सिर्फ जीत नहीं होती बल्कि लोकतंत्र की जीत होती है।मैं एक राष्ट्रवादी हूं और एक प्रतिनिधि के रूप में मेरी खुद की प्रगति देश के विकास से जुड़ी है।मैं धर्म में विश्वास नहीं रखती और खुद को सिर्फ भारतीय मानती हूं।मैं भारतीय हूं और भारत में पैदा हुई हूं। मेरी इसके अलावा और कोई पहचान नहीं है।”"/> मुंबई, बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत राजनीति के मंच पर भी अपना जौहर दिखाना चाहती हैं। कंगना ने राजनीति के क्षेत्र में आने संबंधी सवाल के जवाब में कहा, “यह एक शानदार क्षेत्र है लेकिन अक्सर लोग इसे गलत समझते हैं।बस मुझे राजनेताओं का फैशन सेंस बिल्कुल नहीं पसंद है।चूंकि जैसे कपड़े मैं पहनती हूं और जिस तरह बोलती हूं, उससे नहीं लगता कि कोई भी पार्टी मुझे अपना हिस्सा बनाएगी।हां, यदि वे मेरे फैशन सेंस को नहीं बदलेंगे और मुझे मेरी मर्जी के मुताबिक बोलने देंगे तो मुझे राजनीति में आने में कोई दिक्कत नहीं है।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कंगना ने कहा, “मैं मोदी की सफलता के कारण उनकी बड़ी फैन हूं।नौजवान महिला होने के नाते मुझे लगता है कि हमारे पास सही रोल मॉडल होने चाहिए।मेरा मतलब एक आम आदमी के काम और उसकी इच्छाओं से है। जब हमारे पास चायवाला पीएम होता है, तब वह सिर्फ जीत नहीं होती बल्कि लोकतंत्र की जीत होती है।मैं एक राष्ट्रवादी हूं और एक प्रतिनिधि के रूप में मेरी खुद की प्रगति देश के विकास से जुड़ी है।मैं धर्म में विश्वास नहीं रखती और खुद को सिर्फ भारतीय मानती हूं।मैं भारतीय हूं और भारत में पैदा हुई हूं। मेरी इसके अलावा और कोई पहचान नहीं है।”"/> मुंबई, बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत राजनीति के मंच पर भी अपना जौहर दिखाना चाहती हैं। कंगना ने राजनीति के क्षेत्र में आने संबंधी सवाल के जवाब में कहा, “यह एक शानदार क्षेत्र है लेकिन अक्सर लोग इसे गलत समझते हैं।बस मुझे राजनेताओं का फैशन सेंस बिल्कुल नहीं पसंद है।चूंकि जैसे कपड़े मैं पहनती हूं और जिस तरह बोलती हूं, उससे नहीं लगता कि कोई भी पार्टी मुझे अपना हिस्सा बनाएगी।हां, यदि वे मेरे फैशन सेंस को नहीं बदलेंगे और मुझे मेरी मर्जी के मुताबिक बोलने देंगे तो मुझे राजनीति में आने में कोई दिक्कत नहीं है।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कंगना ने कहा, “मैं मोदी की सफलता के कारण उनकी बड़ी फैन हूं।नौजवान महिला होने के नाते मुझे लगता है कि हमारे पास सही रोल मॉडल होने चाहिए।मेरा मतलब एक आम आदमी के काम और उसकी इच्छाओं से है। जब हमारे पास चायवाला पीएम होता है, तब वह सिर्फ जीत नहीं होती बल्कि लोकतंत्र की जीत होती है।मैं एक राष्ट्रवादी हूं और एक प्रतिनिधि के रूप में मेरी खुद की प्रगति देश के विकास से जुड़ी है।मैं धर्म में विश्वास नहीं रखती और खुद को सिर्फ भारतीय मानती हूं।मैं भारतीय हूं और भारत में पैदा हुई हूं। मेरी इसके अलावा और कोई पहचान नहीं है।”">

राजनीति के मंच पर भी जौहर दिखाना चाहती हैं कंगना

2018/03/19



मुंबई, बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत राजनीति के मंच पर भी अपना जौहर दिखाना चाहती हैं। कंगना ने राजनीति के क्षेत्र में आने संबंधी सवाल के जवाब में कहा, “यह एक शानदार क्षेत्र है लेकिन अक्सर लोग इसे गलत समझते हैं।बस मुझे राजनेताओं का फैशन सेंस बिल्कुल नहीं पसंद है।चूंकि जैसे कपड़े मैं पहनती हूं और जिस तरह बोलती हूं, उससे नहीं लगता कि कोई भी पार्टी मुझे अपना हिस्सा बनाएगी।हां, यदि वे मेरे फैशन सेंस को नहीं बदलेंगे और मुझे मेरी मर्जी के मुताबिक बोलने देंगे तो मुझे राजनीति में आने में कोई दिक्कत नहीं है।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कंगना ने कहा, “मैं मोदी की सफलता के कारण उनकी बड़ी फैन हूं।नौजवान महिला होने के नाते मुझे लगता है कि हमारे पास सही रोल मॉडल होने चाहिए।मेरा मतलब एक आम आदमी के काम और उसकी इच्छाओं से है। जब हमारे पास चायवाला पीएम होता है, तब वह सिर्फ जीत नहीं होती बल्कि लोकतंत्र की जीत होती है।मैं एक राष्ट्रवादी हूं और एक प्रतिनिधि के रूप में मेरी खुद की प्रगति देश के विकास से जुड़ी है।मैं धर्म में विश्वास नहीं रखती और खुद को सिर्फ भारतीय मानती हूं।मैं भारतीय हूं और भारत में पैदा हुई हूं। मेरी इसके अलावा और कोई पहचान नहीं है।”


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts