Breaking News :

संत नगर में बार-बार लगता है जाम

संत हिरदाराम नगर, संत नगर में यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चैपट बनी हुई है. मुख्य मार्ग, इलाहबाद बैंक रोड सहित अंदरूनी बाजार व गलियों में भी यातायात व्यवस्था चौपट हो गई . इसका मुख्य कारण पार्किंग व अतिक्रमण है जो संत नगर में विकराल रूप लेते जा रहा है. हालांकि पुरानी सब्जी मण्डी की जगह बन रही मल्टीलेबल पार्किंग बनकर तैयार है लेकिन यहां पर पार्किंग का लोकार्पण तो नहीं हुआ और उससे पहले दुकानों का उद्वघाटन जरूर हो गया है. यहां पर लाईन से दुकानें खुल गई हैं. पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने से हजारों की संख्या में प्रतिदिन उपनगर आने वाले गा्रहकों को अपने वाहन मुख्य मार्ग के दोनो ओर ही पार्क करना पड़ता है. इस वजह से जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है. वहीं दूसरी ओर अंदरूनी मार्केट, मिनी मार्केट में व्यापारियों द्वारा अपने वाहनों को दुकान के सामने पार्क किया जाता है जिससे रोड सकरी हो जाती है और बार-बार जाम के हालात उत्पन्न हो जाते हैं.

संत नगर में अतिक्रमण का बोलबाला

संत नगर के अंदरूनी बाजारों में व्यापारियों ने अतिक्रमण कर रखा है. दुकान के बाहर शेड लगा रखे हैं वहीं दुकान का बोर्ड व सामान बाहर रख दिया गया है जिससे रोड अतिक्रमण के कब्जे में बनी हुई है. वहीं मुख्य मार्ग पर पैदल चलने के लिए बनाया गया फुटपाथ भी व्यापारियों ने गठानें रखकर कब्जा कर रखा है जिससे पैदल चलने वालों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है."/>

संत नगर में बार-बार लगता है जाम

संत हिरदाराम नगर, संत नगर में यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चैपट बनी हुई है. मुख्य मार्ग, इलाहबाद बैंक रोड सहित अंदरूनी बाजार व गलियों में भी यातायात व्यवस्था चौपट हो गई . इसका मुख्य कारण पार्किंग व अतिक्रमण है जो संत नगर में विकराल रूप लेते जा रहा है. हालांकि पुरानी सब्जी मण्डी की जगह बन रही मल्टीलेबल पार्किंग बनकर तैयार है लेकिन यहां पर पार्किंग का लोकार्पण तो नहीं हुआ और उससे पहले दुकानों का उद्वघाटन जरूर हो गया है. यहां पर लाईन से दुकानें खुल गई हैं. पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने से हजारों की संख्या में प्रतिदिन उपनगर आने वाले गा्रहकों को अपने वाहन मुख्य मार्ग के दोनो ओर ही पार्क करना पड़ता है. इस वजह से जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है. वहीं दूसरी ओर अंदरूनी मार्केट, मिनी मार्केट में व्यापारियों द्वारा अपने वाहनों को दुकान के सामने पार्क किया जाता है जिससे रोड सकरी हो जाती है और बार-बार जाम के हालात उत्पन्न हो जाते हैं.

संत नगर में अतिक्रमण का बोलबाला

संत नगर के अंदरूनी बाजारों में व्यापारियों ने अतिक्रमण कर रखा है. दुकान के बाहर शेड लगा रखे हैं वहीं दुकान का बोर्ड व सामान बाहर रख दिया गया है जिससे रोड अतिक्रमण के कब्जे में बनी हुई है. वहीं मुख्य मार्ग पर पैदल चलने के लिए बनाया गया फुटपाथ भी व्यापारियों ने गठानें रखकर कब्जा कर रखा है जिससे पैदल चलने वालों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है."/>

संत नगर में बार-बार लगता है जाम

संत हिरदाराम नगर, संत नगर में यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चैपट बनी हुई है. मुख्य मार्ग, इलाहबाद बैंक रोड सहित अंदरूनी बाजार व गलियों में भी यातायात व्यवस्था चौपट हो गई . इसका मुख्य कारण पार्किंग व अतिक्रमण है जो संत नगर में विकराल रूप लेते जा रहा है. हालांकि पुरानी सब्जी मण्डी की जगह बन रही मल्टीलेबल पार्किंग बनकर तैयार है लेकिन यहां पर पार्किंग का लोकार्पण तो नहीं हुआ और उससे पहले दुकानों का उद्वघाटन जरूर हो गया है. यहां पर लाईन से दुकानें खुल गई हैं. पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने से हजारों की संख्या में प्रतिदिन उपनगर आने वाले गा्रहकों को अपने वाहन मुख्य मार्ग के दोनो ओर ही पार्क करना पड़ता है. इस वजह से जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है. वहीं दूसरी ओर अंदरूनी मार्केट, मिनी मार्केट में व्यापारियों द्वारा अपने वाहनों को दुकान के सामने पार्क किया जाता है जिससे रोड सकरी हो जाती है और बार-बार जाम के हालात उत्पन्न हो जाते हैं.

संत नगर में अतिक्रमण का बोलबाला

संत नगर के अंदरूनी बाजारों में व्यापारियों ने अतिक्रमण कर रखा है. दुकान के बाहर शेड लगा रखे हैं वहीं दुकान का बोर्ड व सामान बाहर रख दिया गया है जिससे रोड अतिक्रमण के कब्जे में बनी हुई है. वहीं मुख्य मार्ग पर पैदल चलने के लिए बनाया गया फुटपाथ भी व्यापारियों ने गठानें रखकर कब्जा कर रखा है जिससे पैदल चलने वालों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है.">

यातायात व्यवस्था चौैपट

2018/03/05



संत नगर में बार-बार लगता है जाम

संत हिरदाराम नगर, संत नगर में यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चैपट बनी हुई है. मुख्य मार्ग, इलाहबाद बैंक रोड सहित अंदरूनी बाजार व गलियों में भी यातायात व्यवस्था चौपट हो गई . इसका मुख्य कारण पार्किंग व अतिक्रमण है जो संत नगर में विकराल रूप लेते जा रहा है. हालांकि पुरानी सब्जी मण्डी की जगह बन रही मल्टीलेबल पार्किंग बनकर तैयार है लेकिन यहां पर पार्किंग का लोकार्पण तो नहीं हुआ और उससे पहले दुकानों का उद्वघाटन जरूर हो गया है. यहां पर लाईन से दुकानें खुल गई हैं. पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने से हजारों की संख्या में प्रतिदिन उपनगर आने वाले गा्रहकों को अपने वाहन मुख्य मार्ग के दोनो ओर ही पार्क करना पड़ता है. इस वजह से जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है. वहीं दूसरी ओर अंदरूनी मार्केट, मिनी मार्केट में व्यापारियों द्वारा अपने वाहनों को दुकान के सामने पार्क किया जाता है जिससे रोड सकरी हो जाती है और बार-बार जाम के हालात उत्पन्न हो जाते हैं.

संत नगर में अतिक्रमण का बोलबाला

संत नगर के अंदरूनी बाजारों में व्यापारियों ने अतिक्रमण कर रखा है. दुकान के बाहर शेड लगा रखे हैं वहीं दुकान का बोर्ड व सामान बाहर रख दिया गया है जिससे रोड अतिक्रमण के कब्जे में बनी हुई है. वहीं मुख्य मार्ग पर पैदल चलने के लिए बनाया गया फुटपाथ भी व्यापारियों ने गठानें रखकर कब्जा कर रखा है जिससे पैदल चलने वालों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts