Breaking News :

नयी दिल्ली, कांग्रेस ने आज आरोप लगाया कि मोदी सरकार में अब तक करीब 74 हजार करोड़ रुपए के बैंक घोटाले हो चुके हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इन पर मौन साध रखा है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला तथा पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने यहां संसद भवन परिसर में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि बैंक घोटालों को लेकर नित नये खुलासे हो रहे हैं। इन खुलासों से स्पष्ट है कि मोदी सरकार ‘लुटेरे बचाओ और लुटेरे भगाओ’ की नीति पर चल रही है और श्री मोदी तथा श्री जेटली मौनव्रत पर हैं। पिछले तीन साल के दौरान 73 हजार 635 करोड़ रुपए के बैंक घोटाले हो चुके हैं लेकिन मोदी सरकार इस बारे में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि बैंक लूट को लेकर जो नये खुलासे हुए हैं उनके तहत बैंक ऑफ बड़ौदा घोटाला 6400 करोड़ रूपये, विजय माल्या बैंक घोटाला 9000 करोड़ रूपये , नीरव मोदी-मेहुल चोकसी की लूट 22606 करोड रुपए की है। इनके अलावा विक्रम कोठारी, द्वारका दास ज्वेलर्स, केनरा बैंक तथा विनसोम बैंक लूट घोटाले हुए हैं और ये बैंक घोटाले कुल 54318 करोड़ रुपए के हैं। प्रवक्ता ने कहा कि इसके अलावा सूचना के अधिकार के तहत प्राप्त एक अन्य जानकारी से खुलासा हुआ है कि 2015 से 2017 के बीच बैंकों 19317 करोड़ रुपए के घोटाले हुए हैं। इनमें 2015 में 5561 करोड रुपए, 2016 में 4274 करोड़ रुपए तथा 2017 में 9837 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है।इन सबको मिलाकर तीन साल में कुल 73635 करोड रुपए के बैंक घोटाले हुए हैं। आरटीआई में यह भी खुलासा हुआ है कि ये घोटाला करके 184 आरोपी फरार हुए हैं।"/> नयी दिल्ली, कांग्रेस ने आज आरोप लगाया कि मोदी सरकार में अब तक करीब 74 हजार करोड़ रुपए के बैंक घोटाले हो चुके हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इन पर मौन साध रखा है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला तथा पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने यहां संसद भवन परिसर में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि बैंक घोटालों को लेकर नित नये खुलासे हो रहे हैं। इन खुलासों से स्पष्ट है कि मोदी सरकार ‘लुटेरे बचाओ और लुटेरे भगाओ’ की नीति पर चल रही है और श्री मोदी तथा श्री जेटली मौनव्रत पर हैं। पिछले तीन साल के दौरान 73 हजार 635 करोड़ रुपए के बैंक घोटाले हो चुके हैं लेकिन मोदी सरकार इस बारे में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि बैंक लूट को लेकर जो नये खुलासे हुए हैं उनके तहत बैंक ऑफ बड़ौदा घोटाला 6400 करोड़ रूपये, विजय माल्या बैंक घोटाला 9000 करोड़ रूपये , नीरव मोदी-मेहुल चोकसी की लूट 22606 करोड रुपए की है। इनके अलावा विक्रम कोठारी, द्वारका दास ज्वेलर्स, केनरा बैंक तथा विनसोम बैंक लूट घोटाले हुए हैं और ये बैंक घोटाले कुल 54318 करोड़ रुपए के हैं। प्रवक्ता ने कहा कि इसके अलावा सूचना के अधिकार के तहत प्राप्त एक अन्य जानकारी से खुलासा हुआ है कि 2015 से 2017 के बीच बैंकों 19317 करोड़ रुपए के घोटाले हुए हैं। इनमें 2015 में 5561 करोड रुपए, 2016 में 4274 करोड़ रुपए तथा 2017 में 9837 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है।इन सबको मिलाकर तीन साल में कुल 73635 करोड रुपए के बैंक घोटाले हुए हैं। आरटीआई में यह भी खुलासा हुआ है कि ये घोटाला करके 184 आरोपी फरार हुए हैं।"/> नयी दिल्ली, कांग्रेस ने आज आरोप लगाया कि मोदी सरकार में अब तक करीब 74 हजार करोड़ रुपए के बैंक घोटाले हो चुके हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इन पर मौन साध रखा है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला तथा पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने यहां संसद भवन परिसर में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि बैंक घोटालों को लेकर नित नये खुलासे हो रहे हैं। इन खुलासों से स्पष्ट है कि मोदी सरकार ‘लुटेरे बचाओ और लुटेरे भगाओ’ की नीति पर चल रही है और श्री मोदी तथा श्री जेटली मौनव्रत पर हैं। पिछले तीन साल के दौरान 73 हजार 635 करोड़ रुपए के बैंक घोटाले हो चुके हैं लेकिन मोदी सरकार इस बारे में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि बैंक लूट को लेकर जो नये खुलासे हुए हैं उनके तहत बैंक ऑफ बड़ौदा घोटाला 6400 करोड़ रूपये, विजय माल्या बैंक घोटाला 9000 करोड़ रूपये , नीरव मोदी-मेहुल चोकसी की लूट 22606 करोड रुपए की है। इनके अलावा विक्रम कोठारी, द्वारका दास ज्वेलर्स, केनरा बैंक तथा विनसोम बैंक लूट घोटाले हुए हैं और ये बैंक घोटाले कुल 54318 करोड़ रुपए के हैं। प्रवक्ता ने कहा कि इसके अलावा सूचना के अधिकार के तहत प्राप्त एक अन्य जानकारी से खुलासा हुआ है कि 2015 से 2017 के बीच बैंकों 19317 करोड़ रुपए के घोटाले हुए हैं। इनमें 2015 में 5561 करोड रुपए, 2016 में 4274 करोड़ रुपए तथा 2017 में 9837 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है।इन सबको मिलाकर तीन साल में कुल 73635 करोड रुपए के बैंक घोटाले हुए हैं। आरटीआई में यह भी खुलासा हुआ है कि ये घोटाला करके 184 आरोपी फरार हुए हैं।">

मोदी सरकार में हुआ 74 हजार करोड़ रूपये का बैंक घोटाला : कांग्रेस

2018/03/06



नयी दिल्ली, कांग्रेस ने आज आरोप लगाया कि मोदी सरकार में अब तक करीब 74 हजार करोड़ रुपए के बैंक घोटाले हो चुके हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इन पर मौन साध रखा है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला तथा पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने यहां संसद भवन परिसर में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि बैंक घोटालों को लेकर नित नये खुलासे हो रहे हैं। इन खुलासों से स्पष्ट है कि मोदी सरकार ‘लुटेरे बचाओ और लुटेरे भगाओ’ की नीति पर चल रही है और श्री मोदी तथा श्री जेटली मौनव्रत पर हैं। पिछले तीन साल के दौरान 73 हजार 635 करोड़ रुपए के बैंक घोटाले हो चुके हैं लेकिन मोदी सरकार इस बारे में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि बैंक लूट को लेकर जो नये खुलासे हुए हैं उनके तहत बैंक ऑफ बड़ौदा घोटाला 6400 करोड़ रूपये, विजय माल्या बैंक घोटाला 9000 करोड़ रूपये , नीरव मोदी-मेहुल चोकसी की लूट 22606 करोड रुपए की है। इनके अलावा विक्रम कोठारी, द्वारका दास ज्वेलर्स, केनरा बैंक तथा विनसोम बैंक लूट घोटाले हुए हैं और ये बैंक घोटाले कुल 54318 करोड़ रुपए के हैं। प्रवक्ता ने कहा कि इसके अलावा सूचना के अधिकार के तहत प्राप्त एक अन्य जानकारी से खुलासा हुआ है कि 2015 से 2017 के बीच बैंकों 19317 करोड़ रुपए के घोटाले हुए हैं। इनमें 2015 में 5561 करोड रुपए, 2016 में 4274 करोड़ रुपए तथा 2017 में 9837 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है।इन सबको मिलाकर तीन साल में कुल 73635 करोड रुपए के बैंक घोटाले हुए हैं। आरटीआई में यह भी खुलासा हुआ है कि ये घोटाला करके 184 आरोपी फरार हुए हैं।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts