Breaking News :

नयी दिल्ली, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज (111) और कप्तान दिनेश चांडीमल (नाबाद 147 ) के शानदार शतकों पर भारतीय गेंदबाजों की अंतिम सत्र में वापसी भारी पड़ गयी और मेहमान टीम ने तीसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन की खेल की समाप्ति तक अपने नौ विकेट 356 रन पर गंवा दिये। श्रीलंका अभी भारत के पहली पारी के 536 रन के स्कोर से 180 रन पीछे है और उसका मात्र एक विकेट बाकी है। भारत ने कल सात विकेट पर यह स्कोर बनाकर पारी घोषित कर दी थी। श्रीलंका ने सुबह तीन विकेट पर 131 रन से आगे खेलना शुरू किया था और उसने लंच तक तीन विकेट पर 192 रन और चायकाल तक चार विकेट पर 270 रन बना लिये थे। लेकिन चायकाल के बाद मैच ने नाटकीय रूप से पलटी खायी और श्रीलंका ने मात्र 26 रन जोड़कर अपने पांच विकेट गंवा दिये। श्रीलंका का स्कोर चार विकेट पर 317 रन से अचानक ही नौ विकेट पर 343 रन हो गया। भारतीय गेंदबाजों ने अंतिम सत्र में दमदार वापसी की और श्रीलंका के पांच विकेट झटक डाले। ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने चायकाल के पहले मैथ्यूज को आउट किया था अौर चायकाल के बाद उन्होंने दो विकेट निकाले जबकि इंशात शर्मा, मोहम्मद शमी और रवींद्र जडेजा ने एक एक विकेट निकाला। श्रीलंकाई टीम अंतिम सत्र में लड़खड़ा गयी और तीन मैचों की सीरीज़ में 1-0 से आगे चल रहा भारत ड्राइवर सीट पर पहुंच गया।"/> नयी दिल्ली, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज (111) और कप्तान दिनेश चांडीमल (नाबाद 147 ) के शानदार शतकों पर भारतीय गेंदबाजों की अंतिम सत्र में वापसी भारी पड़ गयी और मेहमान टीम ने तीसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन की खेल की समाप्ति तक अपने नौ विकेट 356 रन पर गंवा दिये। श्रीलंका अभी भारत के पहली पारी के 536 रन के स्कोर से 180 रन पीछे है और उसका मात्र एक विकेट बाकी है। भारत ने कल सात विकेट पर यह स्कोर बनाकर पारी घोषित कर दी थी। श्रीलंका ने सुबह तीन विकेट पर 131 रन से आगे खेलना शुरू किया था और उसने लंच तक तीन विकेट पर 192 रन और चायकाल तक चार विकेट पर 270 रन बना लिये थे। लेकिन चायकाल के बाद मैच ने नाटकीय रूप से पलटी खायी और श्रीलंका ने मात्र 26 रन जोड़कर अपने पांच विकेट गंवा दिये। श्रीलंका का स्कोर चार विकेट पर 317 रन से अचानक ही नौ विकेट पर 343 रन हो गया। भारतीय गेंदबाजों ने अंतिम सत्र में दमदार वापसी की और श्रीलंका के पांच विकेट झटक डाले। ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने चायकाल के पहले मैथ्यूज को आउट किया था अौर चायकाल के बाद उन्होंने दो विकेट निकाले जबकि इंशात शर्मा, मोहम्मद शमी और रवींद्र जडेजा ने एक एक विकेट निकाला। श्रीलंकाई टीम अंतिम सत्र में लड़खड़ा गयी और तीन मैचों की सीरीज़ में 1-0 से आगे चल रहा भारत ड्राइवर सीट पर पहुंच गया।"/> नयी दिल्ली, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज (111) और कप्तान दिनेश चांडीमल (नाबाद 147 ) के शानदार शतकों पर भारतीय गेंदबाजों की अंतिम सत्र में वापसी भारी पड़ गयी और मेहमान टीम ने तीसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन की खेल की समाप्ति तक अपने नौ विकेट 356 रन पर गंवा दिये। श्रीलंका अभी भारत के पहली पारी के 536 रन के स्कोर से 180 रन पीछे है और उसका मात्र एक विकेट बाकी है। भारत ने कल सात विकेट पर यह स्कोर बनाकर पारी घोषित कर दी थी। श्रीलंका ने सुबह तीन विकेट पर 131 रन से आगे खेलना शुरू किया था और उसने लंच तक तीन विकेट पर 192 रन और चायकाल तक चार विकेट पर 270 रन बना लिये थे। लेकिन चायकाल के बाद मैच ने नाटकीय रूप से पलटी खायी और श्रीलंका ने मात्र 26 रन जोड़कर अपने पांच विकेट गंवा दिये। श्रीलंका का स्कोर चार विकेट पर 317 रन से अचानक ही नौ विकेट पर 343 रन हो गया। भारतीय गेंदबाजों ने अंतिम सत्र में दमदार वापसी की और श्रीलंका के पांच विकेट झटक डाले। ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने चायकाल के पहले मैथ्यूज को आउट किया था अौर चायकाल के बाद उन्होंने दो विकेट निकाले जबकि इंशात शर्मा, मोहम्मद शमी और रवींद्र जडेजा ने एक एक विकेट निकाला। श्रीलंकाई टीम अंतिम सत्र में लड़खड़ा गयी और तीन मैचों की सीरीज़ में 1-0 से आगे चल रहा भारत ड्राइवर सीट पर पहुंच गया।">

मैथ्यूज़, चांडीमल के शतकों पर भारी भारतीय गेंदबाजों की वापसी

2017/12/04



नयी दिल्ली, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज (111) और कप्तान दिनेश चांडीमल (नाबाद 147 ) के शानदार शतकों पर भारतीय गेंदबाजों की अंतिम सत्र में वापसी भारी पड़ गयी और मेहमान टीम ने तीसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन की खेल की समाप्ति तक अपने नौ विकेट 356 रन पर गंवा दिये। श्रीलंका अभी भारत के पहली पारी के 536 रन के स्कोर से 180 रन पीछे है और उसका मात्र एक विकेट बाकी है। भारत ने कल सात विकेट पर यह स्कोर बनाकर पारी घोषित कर दी थी। श्रीलंका ने सुबह तीन विकेट पर 131 रन से आगे खेलना शुरू किया था और उसने लंच तक तीन विकेट पर 192 रन और चायकाल तक चार विकेट पर 270 रन बना लिये थे। लेकिन चायकाल के बाद मैच ने नाटकीय रूप से पलटी खायी और श्रीलंका ने मात्र 26 रन जोड़कर अपने पांच विकेट गंवा दिये। श्रीलंका का स्कोर चार विकेट पर 317 रन से अचानक ही नौ विकेट पर 343 रन हो गया। भारतीय गेंदबाजों ने अंतिम सत्र में दमदार वापसी की और श्रीलंका के पांच विकेट झटक डाले। ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने चायकाल के पहले मैथ्यूज को आउट किया था अौर चायकाल के बाद उन्होंने दो विकेट निकाले जबकि इंशात शर्मा, मोहम्मद शमी और रवींद्र जडेजा ने एक एक विकेट निकाला। श्रीलंकाई टीम अंतिम सत्र में लड़खड़ा गयी और तीन मैचों की सीरीज़ में 1-0 से आगे चल रहा भारत ड्राइवर सीट पर पहुंच गया।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts