Breaking News :

हैदराबाद,  आईपीएल 10 के फाइनल में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स को मात्र एक रन से हराकर खिताब जीतने वाली मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने इस जीत का श्रेय अपने गेंदबाजों को देते हुए कहा कि उन्हें अपने गेंदबाजों पर पूरा विश्वास था, मुुंबई ने रविवार रात खेले गये फाइनल मुकाबले में आठ विकेट पर 129 रन का मामूली स्काेर बनाने के बावजूद पुणे काे छह विकेट पर 128 रन पर थामकर एक रन से खिताब अपने नाम कर लिया। मुंबई ने इस तरह तीसरी बार आईपीएल खिताब जीतकर इतिहास बना दिया और वह तीन बार यह खिताब जीतने वाली पहली टीम बन गई। रोहित ने मैच के बाद कहा,“ मुझे अब जाकर शांति मिली। यह क्रिकेट का एक शानदार मैच था। मुझे पूरा विश्वास है कि दर्शकों ने इसका अानंद उठाया होगा। इस तरह के छोटे स्कोर का बचाव करना बेहतरीन प्रयास कहा जाएगा। मैं इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं कर सकता।” रोहित आईपीएल में कप्तान के रूप में अब तीन बार और कुल मिलाकर चार खिताब खिताब जीत चुके हैं। रोहित की कप्तानी में मुंबई ने इससे पहले 2013 और 2015 में यह खिताब जीता था। इसके अलावा 2009 में वह डेक्कन चार्जस की तरफ से खिलाड़ी के रूप में एक खिताब जीत चुके हैं। 30 वर्षीय रोहित ने कहा,“जब आप इस तरह के छोटे स्कोर का बचाव करने के लिए उतरते हो तो आपका खुद पर विश्वास होना जरूरी है। मैंने अपने खिलाड़ियों से कहा कि अगर हम कोलकाता के खिलाफ छोटे स्कोर का बचाव कर सकते हैं तो यहां भी ऐसा कर सकते हैं। हमें पिच से भी मदद मिली जिसका हमने भरपूर फायदा उठाया।”"/> हैदराबाद,  आईपीएल 10 के फाइनल में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स को मात्र एक रन से हराकर खिताब जीतने वाली मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने इस जीत का श्रेय अपने गेंदबाजों को देते हुए कहा कि उन्हें अपने गेंदबाजों पर पूरा विश्वास था, मुुंबई ने रविवार रात खेले गये फाइनल मुकाबले में आठ विकेट पर 129 रन का मामूली स्काेर बनाने के बावजूद पुणे काे छह विकेट पर 128 रन पर थामकर एक रन से खिताब अपने नाम कर लिया। मुंबई ने इस तरह तीसरी बार आईपीएल खिताब जीतकर इतिहास बना दिया और वह तीन बार यह खिताब जीतने वाली पहली टीम बन गई। रोहित ने मैच के बाद कहा,“ मुझे अब जाकर शांति मिली। यह क्रिकेट का एक शानदार मैच था। मुझे पूरा विश्वास है कि दर्शकों ने इसका अानंद उठाया होगा। इस तरह के छोटे स्कोर का बचाव करना बेहतरीन प्रयास कहा जाएगा। मैं इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं कर सकता।” रोहित आईपीएल में कप्तान के रूप में अब तीन बार और कुल मिलाकर चार खिताब खिताब जीत चुके हैं। रोहित की कप्तानी में मुंबई ने इससे पहले 2013 और 2015 में यह खिताब जीता था। इसके अलावा 2009 में वह डेक्कन चार्जस की तरफ से खिलाड़ी के रूप में एक खिताब जीत चुके हैं। 30 वर्षीय रोहित ने कहा,“जब आप इस तरह के छोटे स्कोर का बचाव करने के लिए उतरते हो तो आपका खुद पर विश्वास होना जरूरी है। मैंने अपने खिलाड़ियों से कहा कि अगर हम कोलकाता के खिलाफ छोटे स्कोर का बचाव कर सकते हैं तो यहां भी ऐसा कर सकते हैं। हमें पिच से भी मदद मिली जिसका हमने भरपूर फायदा उठाया।”"/> हैदराबाद,  आईपीएल 10 के फाइनल में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स को मात्र एक रन से हराकर खिताब जीतने वाली मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने इस जीत का श्रेय अपने गेंदबाजों को देते हुए कहा कि उन्हें अपने गेंदबाजों पर पूरा विश्वास था, मुुंबई ने रविवार रात खेले गये फाइनल मुकाबले में आठ विकेट पर 129 रन का मामूली स्काेर बनाने के बावजूद पुणे काे छह विकेट पर 128 रन पर थामकर एक रन से खिताब अपने नाम कर लिया। मुंबई ने इस तरह तीसरी बार आईपीएल खिताब जीतकर इतिहास बना दिया और वह तीन बार यह खिताब जीतने वाली पहली टीम बन गई। रोहित ने मैच के बाद कहा,“ मुझे अब जाकर शांति मिली। यह क्रिकेट का एक शानदार मैच था। मुझे पूरा विश्वास है कि दर्शकों ने इसका अानंद उठाया होगा। इस तरह के छोटे स्कोर का बचाव करना बेहतरीन प्रयास कहा जाएगा। मैं इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं कर सकता।” रोहित आईपीएल में कप्तान के रूप में अब तीन बार और कुल मिलाकर चार खिताब खिताब जीत चुके हैं। रोहित की कप्तानी में मुंबई ने इससे पहले 2013 और 2015 में यह खिताब जीता था। इसके अलावा 2009 में वह डेक्कन चार्जस की तरफ से खिलाड़ी के रूप में एक खिताब जीत चुके हैं। 30 वर्षीय रोहित ने कहा,“जब आप इस तरह के छोटे स्कोर का बचाव करने के लिए उतरते हो तो आपका खुद पर विश्वास होना जरूरी है। मैंने अपने खिलाड़ियों से कहा कि अगर हम कोलकाता के खिलाफ छोटे स्कोर का बचाव कर सकते हैं तो यहां भी ऐसा कर सकते हैं। हमें पिच से भी मदद मिली जिसका हमने भरपूर फायदा उठाया।”">

मुझे अपने गेंदबाजों पर विश्वास था : रोहित

2017/05/22



हैदराबाद,  आईपीएल 10 के फाइनल में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स को मात्र एक रन से हराकर खिताब जीतने वाली मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने इस जीत का श्रेय अपने गेंदबाजों को देते हुए कहा कि उन्हें अपने गेंदबाजों पर पूरा विश्वास था, मुुंबई ने रविवार रात खेले गये फाइनल मुकाबले में आठ विकेट पर 129 रन का मामूली स्काेर बनाने के बावजूद पुणे काे छह विकेट पर 128 रन पर थामकर एक रन से खिताब अपने नाम कर लिया। मुंबई ने इस तरह तीसरी बार आईपीएल खिताब जीतकर इतिहास बना दिया और वह तीन बार यह खिताब जीतने वाली पहली टीम बन गई। रोहित ने मैच के बाद कहा,“ मुझे अब जाकर शांति मिली। यह क्रिकेट का एक शानदार मैच था। मुझे पूरा विश्वास है कि दर्शकों ने इसका अानंद उठाया होगा। इस तरह के छोटे स्कोर का बचाव करना बेहतरीन प्रयास कहा जाएगा। मैं इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं कर सकता।” रोहित आईपीएल में कप्तान के रूप में अब तीन बार और कुल मिलाकर चार खिताब खिताब जीत चुके हैं। रोहित की कप्तानी में मुंबई ने इससे पहले 2013 और 2015 में यह खिताब जीता था। इसके अलावा 2009 में वह डेक्कन चार्जस की तरफ से खिलाड़ी के रूप में एक खिताब जीत चुके हैं। 30 वर्षीय रोहित ने कहा,“जब आप इस तरह के छोटे स्कोर का बचाव करने के लिए उतरते हो तो आपका खुद पर विश्वास होना जरूरी है। मैंने अपने खिलाड़ियों से कहा कि अगर हम कोलकाता के खिलाफ छोटे स्कोर का बचाव कर सकते हैं तो यहां भी ऐसा कर सकते हैं। हमें पिच से भी मदद मिली जिसका हमने भरपूर फायदा उठाया।”


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts