Breaking News :

बाघों के आतंक से ग्रामीण भयभीत, शावक ने किया हमला नवभारत न्यूज पन्ना, पन्ना टाईगर रिजर्व में बढ़ती बाघों की संख्या को लेकर बाघ प्रबंधन अपनी उपलब्धि बता रहा है. वहीं इन बाघों के रिहायसी इलाकों में निरंतर विचरण कर एवं ग्रामवासियों पर किए जा रहे हमलों से पन्ना से अमानगंज क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों में भय का वातावरण व्याप्त हो गया है. चौबीस घंटे अपने पशुधन एवं परिजनों की जान बचाने की फिराक में लगे रहते हैं ग्रामवासी. विदित हो कि पिछले कई महीनों से टी-7, पी-213 एवं अन्य बाघ पन्ना से अमानगंज मार्ग के मध्य मुख्य मार्ग पर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर भ्रमण कर रहे हैं. हलांकि पार्क प्रबंधन इनकी व्यवस्था बनाने में जरूर लगा हुआ है परन्तु ऐसा माना जाता है कि हर बाघ का एक निष्चित ऐरिया होता है जिसके चलते बाघों को पार्क सीमा शायद अब कम पडऩे लगी है इसी कारण बाघ निरंतर टाईगर रिजर्व सीमा को पार कर रिहायसी इलाकों में प्रवेष कर रहे हैं. किए जा रहें सुरक्षा के उपाय घटना की जानकारी लेने हेतु पन्ना टाईगर रिजर्व के सहायक संचालक रविकांत मिश्रा से दूरभाष पर संपर्क करना चाहा तो उन्होंने फोन नहीं उठाया इस पर अमानगंज बफर जोन के रेन्जर श्री कुषवाहा से दूरभाष पर चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि उक्त महिला पर शावक द्वारा उसी के खेत में प्रात: हमला किया गया था बाघ ने एक पंजा ही मारा था परन्तु महिला कंबल ओढ़े हुए थी साथ ही अंदर गर्म कपड़े पहने हुए थी जिस कारण उसके कंधे पर मारे गए पंजे का गंभीर घाव नहीं हो पाया है. महिला को समस्त कार्यवाही पश्चात उपचार के लिए अमानगंज चिकित्सालय लाया गया. पी-213 के शावक द्वारा हमला किए जाने का अनुमान लगाया जा रहा है फिलहाल उसके पंजों के निषानों के आधार पर टीम जांच कर रही है उसके बाद ही स्पष्ट होगा कि किस बाघ के द्वारा महिला को पंजा मारा गया है. हलांकि इस क्षेत्र में एक लम्बे अर्से से अनेकों बाघ घूम रहे हैं जिसे ध्यान में रखते हुए टाईगर रिजर्व के उच्च अधिकारियों के मार्गदर्षन एवं आदेषों के पालन में अनेकों जगह सूचनार्थ बोर्ड लगा दिए गए हैं आमजन को भी आगाह किया गया है. पन्ना से या आसपास के गावों के आमजन लोगों जो सुबह शाम वॉक के लिए निकलते हैं उनको जाने के लिए मना किया गया है इसके लिए उत्तर वनमंडल के महिला सहित कई कर्मचारी यहां पर तैनात कर दिए गए हैं. आगे रेन्जर श्री कुषवाहा ने बताया कि अमानगंज से पन्ना रोड के मध्य एवं ग्रामों में विभाग द्वारा लगभग 20 सीसीटीव्ही कैमरा लगा दिए गए हैं जिनसे बाघों पर निरंतर नजर रखी जा रही है साथ ही आपने बताया कि बाघों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए टाईगर रिजर्व का क्षेत्रफल बढ़ाने की कार्यवाही उच्च अधिकारियों द्वारा की जा रही है. जिसमें दमोह, छतरपुर एवं पन्ना जिले की सीमाओं में इजाफा किया जाएगा ताकि बाघों को अपना ऐरिया सुरक्षित करन में सहूलियत मिल सके और बाघ टाईगर रिजर्व की सीमा से बाहर न आ सके जब तक यह कार्यवाही पूर्ण नहीं होती तब तक सीसीटीव्ही कैमरों एवं उत्तर वनमंडल व टाईगर रिजर्व के सहयोग से रोड से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर भ्रमण कर आमजन को सचेत किया जा रहा है. महिला हुई घायल आज सुबह अमानगंज रोड के ग्राम विक्रमपुर से तमगढ़ के मध्य टेड़ी विक्रमपुर के पास चिरइयापानी क्षेत्र में महिला अपने खेत में बने निज निवास से सुबह चार से पांच के मध्य बाहर निकली उसी दौरान एक शावक ने महिला पर हमला बोल दिया जिससे महिला के कंधे और गले के मध्य शिकार करने की नियत से पंजा मारा महिला की चीख पुकारने की आवाज सुनकर अन्य लोगों के बाहर आने से उक्त शावक जंगल की ओर भाग गया तत्काल ही घायल महिला मंगू बाई को उपचार हेतु अमानगंज चिकित्सालय में भर्ती कराया गया. जहां उसका उपचार चल रहा है. डॉक्टरों के कथनों अनुसार महिला की हालत संतोषजनक बनी हुई है. ऐसा माना जा रहा है कि उक्त शावक पी-213 का है जिसने महिला पर हमला किया था.    "/> बाघों के आतंक से ग्रामीण भयभीत, शावक ने किया हमला नवभारत न्यूज पन्ना, पन्ना टाईगर रिजर्व में बढ़ती बाघों की संख्या को लेकर बाघ प्रबंधन अपनी उपलब्धि बता रहा है. वहीं इन बाघों के रिहायसी इलाकों में निरंतर विचरण कर एवं ग्रामवासियों पर किए जा रहे हमलों से पन्ना से अमानगंज क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों में भय का वातावरण व्याप्त हो गया है. चौबीस घंटे अपने पशुधन एवं परिजनों की जान बचाने की फिराक में लगे रहते हैं ग्रामवासी. विदित हो कि पिछले कई महीनों से टी-7, पी-213 एवं अन्य बाघ पन्ना से अमानगंज मार्ग के मध्य मुख्य मार्ग पर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर भ्रमण कर रहे हैं. हलांकि पार्क प्रबंधन इनकी व्यवस्था बनाने में जरूर लगा हुआ है परन्तु ऐसा माना जाता है कि हर बाघ का एक निष्चित ऐरिया होता है जिसके चलते बाघों को पार्क सीमा शायद अब कम पडऩे लगी है इसी कारण बाघ निरंतर टाईगर रिजर्व सीमा को पार कर रिहायसी इलाकों में प्रवेष कर रहे हैं. किए जा रहें सुरक्षा के उपाय घटना की जानकारी लेने हेतु पन्ना टाईगर रिजर्व के सहायक संचालक रविकांत मिश्रा से दूरभाष पर संपर्क करना चाहा तो उन्होंने फोन नहीं उठाया इस पर अमानगंज बफर जोन के रेन्जर श्री कुषवाहा से दूरभाष पर चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि उक्त महिला पर शावक द्वारा उसी के खेत में प्रात: हमला किया गया था बाघ ने एक पंजा ही मारा था परन्तु महिला कंबल ओढ़े हुए थी साथ ही अंदर गर्म कपड़े पहने हुए थी जिस कारण उसके कंधे पर मारे गए पंजे का गंभीर घाव नहीं हो पाया है. महिला को समस्त कार्यवाही पश्चात उपचार के लिए अमानगंज चिकित्सालय लाया गया. पी-213 के शावक द्वारा हमला किए जाने का अनुमान लगाया जा रहा है फिलहाल उसके पंजों के निषानों के आधार पर टीम जांच कर रही है उसके बाद ही स्पष्ट होगा कि किस बाघ के द्वारा महिला को पंजा मारा गया है. हलांकि इस क्षेत्र में एक लम्बे अर्से से अनेकों बाघ घूम रहे हैं जिसे ध्यान में रखते हुए टाईगर रिजर्व के उच्च अधिकारियों के मार्गदर्षन एवं आदेषों के पालन में अनेकों जगह सूचनार्थ बोर्ड लगा दिए गए हैं आमजन को भी आगाह किया गया है. पन्ना से या आसपास के गावों के आमजन लोगों जो सुबह शाम वॉक के लिए निकलते हैं उनको जाने के लिए मना किया गया है इसके लिए उत्तर वनमंडल के महिला सहित कई कर्मचारी यहां पर तैनात कर दिए गए हैं. आगे रेन्जर श्री कुषवाहा ने बताया कि अमानगंज से पन्ना रोड के मध्य एवं ग्रामों में विभाग द्वारा लगभग 20 सीसीटीव्ही कैमरा लगा दिए गए हैं जिनसे बाघों पर निरंतर नजर रखी जा रही है साथ ही आपने बताया कि बाघों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए टाईगर रिजर्व का क्षेत्रफल बढ़ाने की कार्यवाही उच्च अधिकारियों द्वारा की जा रही है. जिसमें दमोह, छतरपुर एवं पन्ना जिले की सीमाओं में इजाफा किया जाएगा ताकि बाघों को अपना ऐरिया सुरक्षित करन में सहूलियत मिल सके और बाघ टाईगर रिजर्व की सीमा से बाहर न आ सके जब तक यह कार्यवाही पूर्ण नहीं होती तब तक सीसीटीव्ही कैमरों एवं उत्तर वनमंडल व टाईगर रिजर्व के सहयोग से रोड से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर भ्रमण कर आमजन को सचेत किया जा रहा है. महिला हुई घायल आज सुबह अमानगंज रोड के ग्राम विक्रमपुर से तमगढ़ के मध्य टेड़ी विक्रमपुर के पास चिरइयापानी क्षेत्र में महिला अपने खेत में बने निज निवास से सुबह चार से पांच के मध्य बाहर निकली उसी दौरान एक शावक ने महिला पर हमला बोल दिया जिससे महिला के कंधे और गले के मध्य शिकार करने की नियत से पंजा मारा महिला की चीख पुकारने की आवाज सुनकर अन्य लोगों के बाहर आने से उक्त शावक जंगल की ओर भाग गया तत्काल ही घायल महिला मंगू बाई को उपचार हेतु अमानगंज चिकित्सालय में भर्ती कराया गया. जहां उसका उपचार चल रहा है. डॉक्टरों के कथनों अनुसार महिला की हालत संतोषजनक बनी हुई है. ऐसा माना जा रहा है कि उक्त शावक पी-213 का है जिसने महिला पर हमला किया था.    "/> बाघों के आतंक से ग्रामीण भयभीत, शावक ने किया हमला नवभारत न्यूज पन्ना, पन्ना टाईगर रिजर्व में बढ़ती बाघों की संख्या को लेकर बाघ प्रबंधन अपनी उपलब्धि बता रहा है. वहीं इन बाघों के रिहायसी इलाकों में निरंतर विचरण कर एवं ग्रामवासियों पर किए जा रहे हमलों से पन्ना से अमानगंज क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों में भय का वातावरण व्याप्त हो गया है. चौबीस घंटे अपने पशुधन एवं परिजनों की जान बचाने की फिराक में लगे रहते हैं ग्रामवासी. विदित हो कि पिछले कई महीनों से टी-7, पी-213 एवं अन्य बाघ पन्ना से अमानगंज मार्ग के मध्य मुख्य मार्ग पर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर भ्रमण कर रहे हैं. हलांकि पार्क प्रबंधन इनकी व्यवस्था बनाने में जरूर लगा हुआ है परन्तु ऐसा माना जाता है कि हर बाघ का एक निष्चित ऐरिया होता है जिसके चलते बाघों को पार्क सीमा शायद अब कम पडऩे लगी है इसी कारण बाघ निरंतर टाईगर रिजर्व सीमा को पार कर रिहायसी इलाकों में प्रवेष कर रहे हैं. किए जा रहें सुरक्षा के उपाय घटना की जानकारी लेने हेतु पन्ना टाईगर रिजर्व के सहायक संचालक रविकांत मिश्रा से दूरभाष पर संपर्क करना चाहा तो उन्होंने फोन नहीं उठाया इस पर अमानगंज बफर जोन के रेन्जर श्री कुषवाहा से दूरभाष पर चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि उक्त महिला पर शावक द्वारा उसी के खेत में प्रात: हमला किया गया था बाघ ने एक पंजा ही मारा था परन्तु महिला कंबल ओढ़े हुए थी साथ ही अंदर गर्म कपड़े पहने हुए थी जिस कारण उसके कंधे पर मारे गए पंजे का गंभीर घाव नहीं हो पाया है. महिला को समस्त कार्यवाही पश्चात उपचार के लिए अमानगंज चिकित्सालय लाया गया. पी-213 के शावक द्वारा हमला किए जाने का अनुमान लगाया जा रहा है फिलहाल उसके पंजों के निषानों के आधार पर टीम जांच कर रही है उसके बाद ही स्पष्ट होगा कि किस बाघ के द्वारा महिला को पंजा मारा गया है. हलांकि इस क्षेत्र में एक लम्बे अर्से से अनेकों बाघ घूम रहे हैं जिसे ध्यान में रखते हुए टाईगर रिजर्व के उच्च अधिकारियों के मार्गदर्षन एवं आदेषों के पालन में अनेकों जगह सूचनार्थ बोर्ड लगा दिए गए हैं आमजन को भी आगाह किया गया है. पन्ना से या आसपास के गावों के आमजन लोगों जो सुबह शाम वॉक के लिए निकलते हैं उनको जाने के लिए मना किया गया है इसके लिए उत्तर वनमंडल के महिला सहित कई कर्मचारी यहां पर तैनात कर दिए गए हैं. आगे रेन्जर श्री कुषवाहा ने बताया कि अमानगंज से पन्ना रोड के मध्य एवं ग्रामों में विभाग द्वारा लगभग 20 सीसीटीव्ही कैमरा लगा दिए गए हैं जिनसे बाघों पर निरंतर नजर रखी जा रही है साथ ही आपने बताया कि बाघों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए टाईगर रिजर्व का क्षेत्रफल बढ़ाने की कार्यवाही उच्च अधिकारियों द्वारा की जा रही है. जिसमें दमोह, छतरपुर एवं पन्ना जिले की सीमाओं में इजाफा किया जाएगा ताकि बाघों को अपना ऐरिया सुरक्षित करन में सहूलियत मिल सके और बाघ टाईगर रिजर्व की सीमा से बाहर न आ सके जब तक यह कार्यवाही पूर्ण नहीं होती तब तक सीसीटीव्ही कैमरों एवं उत्तर वनमंडल व टाईगर रिजर्व के सहयोग से रोड से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर भ्रमण कर आमजन को सचेत किया जा रहा है. महिला हुई घायल आज सुबह अमानगंज रोड के ग्राम विक्रमपुर से तमगढ़ के मध्य टेड़ी विक्रमपुर के पास चिरइयापानी क्षेत्र में महिला अपने खेत में बने निज निवास से सुबह चार से पांच के मध्य बाहर निकली उसी दौरान एक शावक ने महिला पर हमला बोल दिया जिससे महिला के कंधे और गले के मध्य शिकार करने की नियत से पंजा मारा महिला की चीख पुकारने की आवाज सुनकर अन्य लोगों के बाहर आने से उक्त शावक जंगल की ओर भाग गया तत्काल ही घायल महिला मंगू बाई को उपचार हेतु अमानगंज चिकित्सालय में भर्ती कराया गया. जहां उसका उपचार चल रहा है. डॉक्टरों के कथनों अनुसार महिला की हालत संतोषजनक बनी हुई है. ऐसा माना जा रहा है कि उक्त शावक पी-213 का है जिसने महिला पर हमला किया था.    ">

मुख्य मार्ग में टाईगर के शावक कर रहे हैं अठखेलियां

2017/12/18



बाघों के आतंक से ग्रामीण भयभीत, शावक ने किया हमला नवभारत न्यूज पन्ना, पन्ना टाईगर रिजर्व में बढ़ती बाघों की संख्या को लेकर बाघ प्रबंधन अपनी उपलब्धि बता रहा है. वहीं इन बाघों के रिहायसी इलाकों में निरंतर विचरण कर एवं ग्रामवासियों पर किए जा रहे हमलों से पन्ना से अमानगंज क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों में भय का वातावरण व्याप्त हो गया है. चौबीस घंटे अपने पशुधन एवं परिजनों की जान बचाने की फिराक में लगे रहते हैं ग्रामवासी. विदित हो कि पिछले कई महीनों से टी-7, पी-213 एवं अन्य बाघ पन्ना से अमानगंज मार्ग के मध्य मुख्य मार्ग पर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर भ्रमण कर रहे हैं. हलांकि पार्क प्रबंधन इनकी व्यवस्था बनाने में जरूर लगा हुआ है परन्तु ऐसा माना जाता है कि हर बाघ का एक निष्चित ऐरिया होता है जिसके चलते बाघों को पार्क सीमा शायद अब कम पडऩे लगी है इसी कारण बाघ निरंतर टाईगर रिजर्व सीमा को पार कर रिहायसी इलाकों में प्रवेष कर रहे हैं. किए जा रहें सुरक्षा के उपाय घटना की जानकारी लेने हेतु पन्ना टाईगर रिजर्व के सहायक संचालक रविकांत मिश्रा से दूरभाष पर संपर्क करना चाहा तो उन्होंने फोन नहीं उठाया इस पर अमानगंज बफर जोन के रेन्जर श्री कुषवाहा से दूरभाष पर चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि उक्त महिला पर शावक द्वारा उसी के खेत में प्रात: हमला किया गया था बाघ ने एक पंजा ही मारा था परन्तु महिला कंबल ओढ़े हुए थी साथ ही अंदर गर्म कपड़े पहने हुए थी जिस कारण उसके कंधे पर मारे गए पंजे का गंभीर घाव नहीं हो पाया है. महिला को समस्त कार्यवाही पश्चात उपचार के लिए अमानगंज चिकित्सालय लाया गया. पी-213 के शावक द्वारा हमला किए जाने का अनुमान लगाया जा रहा है फिलहाल उसके पंजों के निषानों के आधार पर टीम जांच कर रही है उसके बाद ही स्पष्ट होगा कि किस बाघ के द्वारा महिला को पंजा मारा गया है. हलांकि इस क्षेत्र में एक लम्बे अर्से से अनेकों बाघ घूम रहे हैं जिसे ध्यान में रखते हुए टाईगर रिजर्व के उच्च अधिकारियों के मार्गदर्षन एवं आदेषों के पालन में अनेकों जगह सूचनार्थ बोर्ड लगा दिए गए हैं आमजन को भी आगाह किया गया है. पन्ना से या आसपास के गावों के आमजन लोगों जो सुबह शाम वॉक के लिए निकलते हैं उनको जाने के लिए मना किया गया है इसके लिए उत्तर वनमंडल के महिला सहित कई कर्मचारी यहां पर तैनात कर दिए गए हैं. आगे रेन्जर श्री कुषवाहा ने बताया कि अमानगंज से पन्ना रोड के मध्य एवं ग्रामों में विभाग द्वारा लगभग 20 सीसीटीव्ही कैमरा लगा दिए गए हैं जिनसे बाघों पर निरंतर नजर रखी जा रही है साथ ही आपने बताया कि बाघों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए टाईगर रिजर्व का क्षेत्रफल बढ़ाने की कार्यवाही उच्च अधिकारियों द्वारा की जा रही है. जिसमें दमोह, छतरपुर एवं पन्ना जिले की सीमाओं में इजाफा किया जाएगा ताकि बाघों को अपना ऐरिया सुरक्षित करन में सहूलियत मिल सके और बाघ टाईगर रिजर्व की सीमा से बाहर न आ सके जब तक यह कार्यवाही पूर्ण नहीं होती तब तक सीसीटीव्ही कैमरों एवं उत्तर वनमंडल व टाईगर रिजर्व के सहयोग से रोड से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर भ्रमण कर आमजन को सचेत किया जा रहा है. महिला हुई घायल आज सुबह अमानगंज रोड के ग्राम विक्रमपुर से तमगढ़ के मध्य टेड़ी विक्रमपुर के पास चिरइयापानी क्षेत्र में महिला अपने खेत में बने निज निवास से सुबह चार से पांच के मध्य बाहर निकली उसी दौरान एक शावक ने महिला पर हमला बोल दिया जिससे महिला के कंधे और गले के मध्य शिकार करने की नियत से पंजा मारा महिला की चीख पुकारने की आवाज सुनकर अन्य लोगों के बाहर आने से उक्त शावक जंगल की ओर भाग गया तत्काल ही घायल महिला मंगू बाई को उपचार हेतु अमानगंज चिकित्सालय में भर्ती कराया गया. जहां उसका उपचार चल रहा है. डॉक्टरों के कथनों अनुसार महिला की हालत संतोषजनक बनी हुई है. ऐसा माना जा रहा है कि उक्त शावक पी-213 का है जिसने महिला पर हमला किया था.    


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts