Breaking News :

भोपाल, मध्यप्रदेश में अशोकनगर के मुंगावली और शिवपुरी जिले के कोलारस विधानसभा उपचुनाव में आज दोपहर 0300 तक लगभग 60 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। यहां उपचुनाव में सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला देखा जा रहा है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुंगावली में 0300 बजे तक लगभग 69. 35 प्रतिशत मतदान रिकार्ड किया गया है जबकि कोलारस में 58. 90 प्रतिशत तक मतदान हो चुका है। मुंगावली में 17 मतदान केन्द्रों और कोलारस के 18 मतदान केन्द्रों की खराब इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) और वोटर वेरीफिएबल पेपर आडिट ट्रेल (वीवीपेट) को बदला गया है। मध्यप्रदेश प्रदेश की मुख्य निर्वाचन अधिकारी सलीना सिंह ने मीडिया को कहा कि कहीं से भी मतदान के बहिष्कार की सूचना नहीं मिली है। कोलारस के मदवासा में झूमाझटकी की छोटी घटना हुई लेकिन शीघ्र ही स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया। मतदान का शांतिपूर्वक चल रहा है। निर्वाचन आयोग को आशा है मतदान अच्छा रहेगा। वर्ष 2013 में कोलारस में 72.82 प्रतिशत मतदाताओं और मुंगावली में 77.35 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले थे। सुश्री सिंह ने बताया कि मुंगावली थाना प्रभारी कुशल सिंह भादौरिया को पिछली रात चुनाव परिवेक्षक की शिकायत के आधार पद से हटा दिया गया है। गुना के पुलिस अधीक्षक रिशेश्वर सिंह को यहां का थाना प्रभारी बनाया गया है। मुंगावली से कांग्रेस प्रत्याशी ब्रजेन्द्र सिंह यादव के खिलाफ भाजपा द्वारा की गई शिकायत को खरिज किये जाने के उपरांत भाजपा द्वारा आपत्ति किये जाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें चुनाव के दौरान दोनों पक्षों के द्वारा दबाव का सामना करना पडा है किन्तु वह निष्पक्ष कार्यवाही ही करती हैं। उन्होंने कहा कि आज मेरी कुर्सी पर कोई नहीं बैठना चाहेगा। यह कांटों का ताज है। सुबह 0800 बजे से लेकर शाम 1700 बजे तक मतदाता कडी सुरक्षा व्यवस्था में अपना वोट डालेंगे। कोलारस में 22 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करने के लिये 311 मतदान केन्द्रों पर 1,13,753 महिलाओं सहित कुल 2,44,456 मतदाताओं द्वारा अपना मताधिकार उपयोग किये जाने की संभावना है। इसी तरह मुंगावली के 264 मतदान केन्द्रों पर 1,91,009 मतदाताओं द्वारा 13 उम्मीद्वारों के भाग्य के फैसले के लिये वोट डाले जायेंगे। मतदाताओं में 88,933 महिलायें शामिल हैं। मतों की गणना 28 फरवरी को की जायेगी। यहां निष्पक्ष मतदान के लिये वीवीपेट मशीनों को ईवीएम के साथ जोडा गया है। यहां के सभी 575 मतदान केन्द्रो पर 3000 से अधिक लोगों ड्यूटी लगाई गई है। केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) की दस कंपनियों के अलावा विशेष सशस्त्र बल (एस ए एफ) और पुलिस कर्मी सुरक्षा की व्यवस्था देख रहें हैं। कोलारस में मुख्य मुकाबला भाजपा प्रत्याशी देवेंद्र जैन और कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र सिंह यादव के बीच है। वहीं मुंगावली में भाजपा ने बाईसाहब यादव और कांग्रेस ने ब्रजेंद्र सिंह यादव पर दांव खेला है। पिछले विधानसभा चुनाव में कोलारस से कांग्रेस के रामसिंह यादव और मुंगावली से पार्टी के ही महेंद्र सिंह कालूखेड़ा ने जीत हासिल की थी। दोनों के निधन के कारण उपचुनाव हो रहे हैं। इन दोनों सीटों पर वापसी के लिए जहां एक ओर कांग्रेस ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है, वहीं भाजपा भी आगामी विधानसभा चुनाव के पहले इन सीटों पर कब्जे को अपनी प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाए हुए है। इस उपचुनाव में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है। ग्वालियर के तत्कालीन सिंधिया राजघराने के प्रभाव में मानी जाने वाली इन दोनों सीटों पर प्रचार की कमान कांग्रेस की तरफ से शुरू से ही श्री सिंधिया, अजय सिंह और अरूण यादव ने संभाल रखी थी जबकि भाजपा की ओर से स्वयं मुख्यमंत्री श्री चौहान, नरेन्द्र सिंह तोमर और राज्य के कई मंत्रियों ने संभाली हुई थी। "/> भोपाल, मध्यप्रदेश में अशोकनगर के मुंगावली और शिवपुरी जिले के कोलारस विधानसभा उपचुनाव में आज दोपहर 0300 तक लगभग 60 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। यहां उपचुनाव में सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला देखा जा रहा है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुंगावली में 0300 बजे तक लगभग 69. 35 प्रतिशत मतदान रिकार्ड किया गया है जबकि कोलारस में 58. 90 प्रतिशत तक मतदान हो चुका है। मुंगावली में 17 मतदान केन्द्रों और कोलारस के 18 मतदान केन्द्रों की खराब इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) और वोटर वेरीफिएबल पेपर आडिट ट्रेल (वीवीपेट) को बदला गया है। मध्यप्रदेश प्रदेश की मुख्य निर्वाचन अधिकारी सलीना सिंह ने मीडिया को कहा कि कहीं से भी मतदान के बहिष्कार की सूचना नहीं मिली है। कोलारस के मदवासा में झूमाझटकी की छोटी घटना हुई लेकिन शीघ्र ही स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया। मतदान का शांतिपूर्वक चल रहा है। निर्वाचन आयोग को आशा है मतदान अच्छा रहेगा। वर्ष 2013 में कोलारस में 72.82 प्रतिशत मतदाताओं और मुंगावली में 77.35 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले थे। सुश्री सिंह ने बताया कि मुंगावली थाना प्रभारी कुशल सिंह भादौरिया को पिछली रात चुनाव परिवेक्षक की शिकायत के आधार पद से हटा दिया गया है। गुना के पुलिस अधीक्षक रिशेश्वर सिंह को यहां का थाना प्रभारी बनाया गया है। मुंगावली से कांग्रेस प्रत्याशी ब्रजेन्द्र सिंह यादव के खिलाफ भाजपा द्वारा की गई शिकायत को खरिज किये जाने के उपरांत भाजपा द्वारा आपत्ति किये जाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें चुनाव के दौरान दोनों पक्षों के द्वारा दबाव का सामना करना पडा है किन्तु वह निष्पक्ष कार्यवाही ही करती हैं। उन्होंने कहा कि आज मेरी कुर्सी पर कोई नहीं बैठना चाहेगा। यह कांटों का ताज है। सुबह 0800 बजे से लेकर शाम 1700 बजे तक मतदाता कडी सुरक्षा व्यवस्था में अपना वोट डालेंगे। कोलारस में 22 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करने के लिये 311 मतदान केन्द्रों पर 1,13,753 महिलाओं सहित कुल 2,44,456 मतदाताओं द्वारा अपना मताधिकार उपयोग किये जाने की संभावना है। इसी तरह मुंगावली के 264 मतदान केन्द्रों पर 1,91,009 मतदाताओं द्वारा 13 उम्मीद्वारों के भाग्य के फैसले के लिये वोट डाले जायेंगे। मतदाताओं में 88,933 महिलायें शामिल हैं। मतों की गणना 28 फरवरी को की जायेगी। यहां निष्पक्ष मतदान के लिये वीवीपेट मशीनों को ईवीएम के साथ जोडा गया है। यहां के सभी 575 मतदान केन्द्रो पर 3000 से अधिक लोगों ड्यूटी लगाई गई है। केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) की दस कंपनियों के अलावा विशेष सशस्त्र बल (एस ए एफ) और पुलिस कर्मी सुरक्षा की व्यवस्था देख रहें हैं। कोलारस में मुख्य मुकाबला भाजपा प्रत्याशी देवेंद्र जैन और कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र सिंह यादव के बीच है। वहीं मुंगावली में भाजपा ने बाईसाहब यादव और कांग्रेस ने ब्रजेंद्र सिंह यादव पर दांव खेला है। पिछले विधानसभा चुनाव में कोलारस से कांग्रेस के रामसिंह यादव और मुंगावली से पार्टी के ही महेंद्र सिंह कालूखेड़ा ने जीत हासिल की थी। दोनों के निधन के कारण उपचुनाव हो रहे हैं। इन दोनों सीटों पर वापसी के लिए जहां एक ओर कांग्रेस ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है, वहीं भाजपा भी आगामी विधानसभा चुनाव के पहले इन सीटों पर कब्जे को अपनी प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाए हुए है। इस उपचुनाव में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है। ग्वालियर के तत्कालीन सिंधिया राजघराने के प्रभाव में मानी जाने वाली इन दोनों सीटों पर प्रचार की कमान कांग्रेस की तरफ से शुरू से ही श्री सिंधिया, अजय सिंह और अरूण यादव ने संभाल रखी थी जबकि भाजपा की ओर से स्वयं मुख्यमंत्री श्री चौहान, नरेन्द्र सिंह तोमर और राज्य के कई मंत्रियों ने संभाली हुई थी। "/> भोपाल, मध्यप्रदेश में अशोकनगर के मुंगावली और शिवपुरी जिले के कोलारस विधानसभा उपचुनाव में आज दोपहर 0300 तक लगभग 60 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। यहां उपचुनाव में सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला देखा जा रहा है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुंगावली में 0300 बजे तक लगभग 69. 35 प्रतिशत मतदान रिकार्ड किया गया है जबकि कोलारस में 58. 90 प्रतिशत तक मतदान हो चुका है। मुंगावली में 17 मतदान केन्द्रों और कोलारस के 18 मतदान केन्द्रों की खराब इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) और वोटर वेरीफिएबल पेपर आडिट ट्रेल (वीवीपेट) को बदला गया है। मध्यप्रदेश प्रदेश की मुख्य निर्वाचन अधिकारी सलीना सिंह ने मीडिया को कहा कि कहीं से भी मतदान के बहिष्कार की सूचना नहीं मिली है। कोलारस के मदवासा में झूमाझटकी की छोटी घटना हुई लेकिन शीघ्र ही स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया। मतदान का शांतिपूर्वक चल रहा है। निर्वाचन आयोग को आशा है मतदान अच्छा रहेगा। वर्ष 2013 में कोलारस में 72.82 प्रतिशत मतदाताओं और मुंगावली में 77.35 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले थे। सुश्री सिंह ने बताया कि मुंगावली थाना प्रभारी कुशल सिंह भादौरिया को पिछली रात चुनाव परिवेक्षक की शिकायत के आधार पद से हटा दिया गया है। गुना के पुलिस अधीक्षक रिशेश्वर सिंह को यहां का थाना प्रभारी बनाया गया है। मुंगावली से कांग्रेस प्रत्याशी ब्रजेन्द्र सिंह यादव के खिलाफ भाजपा द्वारा की गई शिकायत को खरिज किये जाने के उपरांत भाजपा द्वारा आपत्ति किये जाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें चुनाव के दौरान दोनों पक्षों के द्वारा दबाव का सामना करना पडा है किन्तु वह निष्पक्ष कार्यवाही ही करती हैं। उन्होंने कहा कि आज मेरी कुर्सी पर कोई नहीं बैठना चाहेगा। यह कांटों का ताज है। सुबह 0800 बजे से लेकर शाम 1700 बजे तक मतदाता कडी सुरक्षा व्यवस्था में अपना वोट डालेंगे। कोलारस में 22 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करने के लिये 311 मतदान केन्द्रों पर 1,13,753 महिलाओं सहित कुल 2,44,456 मतदाताओं द्वारा अपना मताधिकार उपयोग किये जाने की संभावना है। इसी तरह मुंगावली के 264 मतदान केन्द्रों पर 1,91,009 मतदाताओं द्वारा 13 उम्मीद्वारों के भाग्य के फैसले के लिये वोट डाले जायेंगे। मतदाताओं में 88,933 महिलायें शामिल हैं। मतों की गणना 28 फरवरी को की जायेगी। यहां निष्पक्ष मतदान के लिये वीवीपेट मशीनों को ईवीएम के साथ जोडा गया है। यहां के सभी 575 मतदान केन्द्रो पर 3000 से अधिक लोगों ड्यूटी लगाई गई है। केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) की दस कंपनियों के अलावा विशेष सशस्त्र बल (एस ए एफ) और पुलिस कर्मी सुरक्षा की व्यवस्था देख रहें हैं। कोलारस में मुख्य मुकाबला भाजपा प्रत्याशी देवेंद्र जैन और कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र सिंह यादव के बीच है। वहीं मुंगावली में भाजपा ने बाईसाहब यादव और कांग्रेस ने ब्रजेंद्र सिंह यादव पर दांव खेला है। पिछले विधानसभा चुनाव में कोलारस से कांग्रेस के रामसिंह यादव और मुंगावली से पार्टी के ही महेंद्र सिंह कालूखेड़ा ने जीत हासिल की थी। दोनों के निधन के कारण उपचुनाव हो रहे हैं। इन दोनों सीटों पर वापसी के लिए जहां एक ओर कांग्रेस ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है, वहीं भाजपा भी आगामी विधानसभा चुनाव के पहले इन सीटों पर कब्जे को अपनी प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाए हुए है। इस उपचुनाव में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है। ग्वालियर के तत्कालीन सिंधिया राजघराने के प्रभाव में मानी जाने वाली इन दोनों सीटों पर प्रचार की कमान कांग्रेस की तरफ से शुरू से ही श्री सिंधिया, अजय सिंह और अरूण यादव ने संभाल रखी थी जबकि भाजपा की ओर से स्वयं मुख्यमंत्री श्री चौहान, नरेन्द्र सिंह तोमर और राज्य के कई मंत्रियों ने संभाली हुई थी। ">

मध्यप्रदेश उपचुनाव में 03:00 बजे तक हुआ लगभग 60 प्रतिशत मतदान

2018/02/24



भोपाल, मध्यप्रदेश में अशोकनगर के मुंगावली और शिवपुरी जिले के कोलारस विधानसभा उपचुनाव में आज दोपहर 0300 तक लगभग 60 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। यहां उपचुनाव में सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला देखा जा रहा है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुंगावली में 0300 बजे तक लगभग 69. 35 प्रतिशत मतदान रिकार्ड किया गया है जबकि कोलारस में 58. 90 प्रतिशत तक मतदान हो चुका है। मुंगावली में 17 मतदान केन्द्रों और कोलारस के 18 मतदान केन्द्रों की खराब इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) और वोटर वेरीफिएबल पेपर आडिट ट्रेल (वीवीपेट) को बदला गया है। मध्यप्रदेश प्रदेश की मुख्य निर्वाचन अधिकारी सलीना सिंह ने मीडिया को कहा कि कहीं से भी मतदान के बहिष्कार की सूचना नहीं मिली है। कोलारस के मदवासा में झूमाझटकी की छोटी घटना हुई लेकिन शीघ्र ही स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया। मतदान का शांतिपूर्वक चल रहा है। निर्वाचन आयोग को आशा है मतदान अच्छा रहेगा। वर्ष 2013 में कोलारस में 72.82 प्रतिशत मतदाताओं और मुंगावली में 77.35 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले थे। सुश्री सिंह ने बताया कि मुंगावली थाना प्रभारी कुशल सिंह भादौरिया को पिछली रात चुनाव परिवेक्षक की शिकायत के आधार पद से हटा दिया गया है। गुना के पुलिस अधीक्षक रिशेश्वर सिंह को यहां का थाना प्रभारी बनाया गया है। मुंगावली से कांग्रेस प्रत्याशी ब्रजेन्द्र सिंह यादव के खिलाफ भाजपा द्वारा की गई शिकायत को खरिज किये जाने के उपरांत भाजपा द्वारा आपत्ति किये जाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें चुनाव के दौरान दोनों पक्षों के द्वारा दबाव का सामना करना पडा है किन्तु वह निष्पक्ष कार्यवाही ही करती हैं। उन्होंने कहा कि आज मेरी कुर्सी पर कोई नहीं बैठना चाहेगा। यह कांटों का ताज है। सुबह 0800 बजे से लेकर शाम 1700 बजे तक मतदाता कडी सुरक्षा व्यवस्था में अपना वोट डालेंगे। कोलारस में 22 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करने के लिये 311 मतदान केन्द्रों पर 1,13,753 महिलाओं सहित कुल 2,44,456 मतदाताओं द्वारा अपना मताधिकार उपयोग किये जाने की संभावना है। इसी तरह मुंगावली के 264 मतदान केन्द्रों पर 1,91,009 मतदाताओं द्वारा 13 उम्मीद्वारों के भाग्य के फैसले के लिये वोट डाले जायेंगे। मतदाताओं में 88,933 महिलायें शामिल हैं। मतों की गणना 28 फरवरी को की जायेगी। यहां निष्पक्ष मतदान के लिये वीवीपेट मशीनों को ईवीएम के साथ जोडा गया है। यहां के सभी 575 मतदान केन्द्रो पर 3000 से अधिक लोगों ड्यूटी लगाई गई है। केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) की दस कंपनियों के अलावा विशेष सशस्त्र बल (एस ए एफ) और पुलिस कर्मी सुरक्षा की व्यवस्था देख रहें हैं। कोलारस में मुख्य मुकाबला भाजपा प्रत्याशी देवेंद्र जैन और कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र सिंह यादव के बीच है। वहीं मुंगावली में भाजपा ने बाईसाहब यादव और कांग्रेस ने ब्रजेंद्र सिंह यादव पर दांव खेला है। पिछले विधानसभा चुनाव में कोलारस से कांग्रेस के रामसिंह यादव और मुंगावली से पार्टी के ही महेंद्र सिंह कालूखेड़ा ने जीत हासिल की थी। दोनों के निधन के कारण उपचुनाव हो रहे हैं। इन दोनों सीटों पर वापसी के लिए जहां एक ओर कांग्रेस ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है, वहीं भाजपा भी आगामी विधानसभा चुनाव के पहले इन सीटों पर कब्जे को अपनी प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाए हुए है। इस उपचुनाव में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है। ग्वालियर के तत्कालीन सिंधिया राजघराने के प्रभाव में मानी जाने वाली इन दोनों सीटों पर प्रचार की कमान कांग्रेस की तरफ से शुरू से ही श्री सिंधिया, अजय सिंह और अरूण यादव ने संभाल रखी थी जबकि भाजपा की ओर से स्वयं मुख्यमंत्री श्री चौहान, नरेन्द्र सिंह तोमर और राज्य के कई मंत्रियों ने संभाली हुई थी।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts