Breaking News :

मृतकों को चार लाख और गम्भीर रूप से घायलों को पच्चीस हजार रु. की आर्थिक सहायता मंडीदीप, नेशनल हाइवे के समीप ग्राम सिमराई स्थित दौलतराम कम्पनी के पास पर गुरूवार सुबह 8.30 बजे भोपाल से पिपरिया जा रही बस के अनियंत्रित होकर पलट जाने से तीन लोगों की मौत हो गई. दुर्घटना में एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई तथा 19 यात्री घायल हो गए. हादसे की खबर मिलते ही मौके पर पहुंची सतलापुर पुलिस और बचावकर्मियों ने सभी घायलों को बस से निकालकर 108 की मदद से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मण्डीदीप भेजा. अस्पताल में 5 यात्रियों को गंभीर अवस्था में भोपाल रेफर करने के बाद 14 यात्रियों की प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी कर दी. भोपाल रेफर किए गए यात्रियों में 2 यात्रियों की उपचार के दौरान हमीदिया अस्पताल में मौत हो गई. गौहरगंज तहसीलदार चन्द्रशेर श्रीवास्तव ने अस्पताल पहुंचकर घायलों के उपचार का जायजा लिया. तहसीलदार ने बताया कि इस हादसे में मृत हुए यात्रियों के परिजनों को 4 लाख रु. तथा गम्भीर रूप से घायल यात्रियों को 25 हजार रु आर्थिक सहायता के रूप में दिए जाएंगे. सतलापुर पुलिस के अनुसार भोपाल से पिपरिया जा रही यात्री बस क्रमांक एमपी 04 पीए 1732 के चालक ने होशंगाबाद रोड पर दौलतराम कम्पनी के पास तेज और लापरवाही से एक ट्रक को ओवरटेक करने की कोशिश की जिसके चलते बस अनियंत्रित होकर पलट गई. हादसे के बाद मची चीख पुकार को सुनकर आसपास के ग्रामीणों ने बस से घायलों को बाहर निकाला. इस हादसे में 55 वर्षीय भगवानदास पुत्र तुलाराम रजत निवासी जबलपुर की बस के नीचे आ जाने से मौके पर ही मौत हो गई. वहीं 30 वर्षीय शांती बाई पत्नि रघुनाथ एवं 25 वर्षीय रवि की भोपाल में उपचार के दौरान मौत हो गई. सवार थे 70 यात्री प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो हादसे के समय बस में क्षमता से अधिक यात्री सवार थे. घायलों ने बताया कि बस में सभी सीटों पर यात्री बैठे होने के साथ कई यात्री खड़े थे. इसमें ज्यादातर यात्री बुधनी, होशंगाबाद और पिपरिया जाने के लिए बस में सवार हुए थे. घायलों ने बताया कि जिस समय यह हादसा हुआ बस तेज रफ्तार में थी जिसके चलते चालक उस पर नियंत्रण नहीं रख पाया और यह हादसा हो गया. इसलिए हुआ हादसा दिल्ली की एक कंपनी के कर्मचारी बीते कुछ दिनों से हाईवे पर बेरीकेड लगाकर भारी वाहनों के लोड का सर्वे कर रहे हैं. हादसे के समय सड़क पर बेरीकेड लगे थे, जिसके चलते दोनों ओर से वाहन रुक-रुक क्रास हो रहे थे. हादसे के समय बस के आगे एक ट्रक चल रहा था जिससे ओवर ट्रेक करने के प्रयास में बैरीकेड क्रास कर आ रहा एक ट्रक बस के सामने आ गया. बस चालक ने उसे बचाने के लिए बस को जैसे तेज रफ्तार में मोड़ा ट्रक से बस का पिछला हिस्सा टकराया और बस सड़क किनारे पलट गई. ये यात्री हुए हादसे में घायल देवेन्द्र पिता सुमेर सिंह निवासी बरखेड़ी भोपाल, 43 वर्षीय महेश पिता शंकर सिंह निवासी मण्डीदीप, 45 वर्षीय रूकमणी बाई प्यूष गिरी निवासी बाबई, 50 पूरन गिरी पिता मोहन गिरी निवासी बाबई, 43 वर्षीय प्रकाश पिता शंकर यादव, 40 वर्षीय सीता पत्नि शिवनारायण निवासी अवधपुरी भोपाल, 40 वर्षीय सुनीता पत्नि इन्द्रकुमार अग्रवाल, 54 वर्षीय मालती बाई भगवानदास रजक निवासी, 66 वर्षीय कोमल बाई पत्नि जयराम कावरे निवासी नरातेहपुर, 50 वर्षीय शाकिर अली पिता बन्ने मियां निवासी मण्डीदीप, 60 वर्षीय जगदीश पिता बाबूलाल मालवीय निवासी दिवटीया औबेदुल्लागंज, कुवंरलाल पिता रामप्रसाद बामने निवासी बैतूल, 65 वर्षीय शांती बाई पत्नि कुंजीलाल भोपाल, 22 वर्षीय मंगल सिंह पिता विजय सिंह निवासी सतलापुर, 28 वर्षीय मितलाल गौतम पिता त्रिलोचन गौतम निवासी सिमराई, 28 वर्षीय सुनील सोनकर पिता कन्नेलाल सोनकर निवासी गौहरगंज, 50 वर्षीय जीवन सिंह पिता विशाल सिंह रघुवंशी निवासी सतलापुर. सतर्कता से टला बड़ा हादसा हाईवे पर जैसे ही बस पलटी उसके इंजन में डीजल फैलने से आग लग गई. घटना स्थल के पास स्थित दौलतराम कंपनी के सुरक्षाकर्मियों ने बस में आग लगते देख तुरंत कंपनी में रखे अग्निशमक यंत्रों का उपयोग करते हुए आग पर काबू पाया. मौके पर मौजूद रहवासी सत्य प्रकाश मिश्रा ने बताया कि अगर समय रहते आग पर काबू नहीं पाया जाता तो एक बड़ा हादसा हो सकता था, क्योंकि जिस समय बस के इंजन में आग लगी बड़ी संख्या में यात्री बस में ही फंसे थे. होशंगाबाद रोड पर बस पलटने की घटना में एक व्यक्ति की मौके पर मौत तथा 19 लोग घायल हो गए थे, सभी घायलों को उपचार के लिए अस्पातल में भर्ती कराया गया था जहां से 5 घायलों को उपचार के लिए भोपाल रेफर किया गया है. पुलिस द्वारा घटना की जांच की जा रही है, जाच में जो दोशी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. -चन्द्रशेखर श्रीवास्तव तहसीलदार, गौहरगंज"/> मृतकों को चार लाख और गम्भीर रूप से घायलों को पच्चीस हजार रु. की आर्थिक सहायता मंडीदीप, नेशनल हाइवे के समीप ग्राम सिमराई स्थित दौलतराम कम्पनी के पास पर गुरूवार सुबह 8.30 बजे भोपाल से पिपरिया जा रही बस के अनियंत्रित होकर पलट जाने से तीन लोगों की मौत हो गई. दुर्घटना में एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई तथा 19 यात्री घायल हो गए. हादसे की खबर मिलते ही मौके पर पहुंची सतलापुर पुलिस और बचावकर्मियों ने सभी घायलों को बस से निकालकर 108 की मदद से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मण्डीदीप भेजा. अस्पताल में 5 यात्रियों को गंभीर अवस्था में भोपाल रेफर करने के बाद 14 यात्रियों की प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी कर दी. भोपाल रेफर किए गए यात्रियों में 2 यात्रियों की उपचार के दौरान हमीदिया अस्पताल में मौत हो गई. गौहरगंज तहसीलदार चन्द्रशेर श्रीवास्तव ने अस्पताल पहुंचकर घायलों के उपचार का जायजा लिया. तहसीलदार ने बताया कि इस हादसे में मृत हुए यात्रियों के परिजनों को 4 लाख रु. तथा गम्भीर रूप से घायल यात्रियों को 25 हजार रु आर्थिक सहायता के रूप में दिए जाएंगे. सतलापुर पुलिस के अनुसार भोपाल से पिपरिया जा रही यात्री बस क्रमांक एमपी 04 पीए 1732 के चालक ने होशंगाबाद रोड पर दौलतराम कम्पनी के पास तेज और लापरवाही से एक ट्रक को ओवरटेक करने की कोशिश की जिसके चलते बस अनियंत्रित होकर पलट गई. हादसे के बाद मची चीख पुकार को सुनकर आसपास के ग्रामीणों ने बस से घायलों को बाहर निकाला. इस हादसे में 55 वर्षीय भगवानदास पुत्र तुलाराम रजत निवासी जबलपुर की बस के नीचे आ जाने से मौके पर ही मौत हो गई. वहीं 30 वर्षीय शांती बाई पत्नि रघुनाथ एवं 25 वर्षीय रवि की भोपाल में उपचार के दौरान मौत हो गई. सवार थे 70 यात्री प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो हादसे के समय बस में क्षमता से अधिक यात्री सवार थे. घायलों ने बताया कि बस में सभी सीटों पर यात्री बैठे होने के साथ कई यात्री खड़े थे. इसमें ज्यादातर यात्री बुधनी, होशंगाबाद और पिपरिया जाने के लिए बस में सवार हुए थे. घायलों ने बताया कि जिस समय यह हादसा हुआ बस तेज रफ्तार में थी जिसके चलते चालक उस पर नियंत्रण नहीं रख पाया और यह हादसा हो गया. इसलिए हुआ हादसा दिल्ली की एक कंपनी के कर्मचारी बीते कुछ दिनों से हाईवे पर बेरीकेड लगाकर भारी वाहनों के लोड का सर्वे कर रहे हैं. हादसे के समय सड़क पर बेरीकेड लगे थे, जिसके चलते दोनों ओर से वाहन रुक-रुक क्रास हो रहे थे. हादसे के समय बस के आगे एक ट्रक चल रहा था जिससे ओवर ट्रेक करने के प्रयास में बैरीकेड क्रास कर आ रहा एक ट्रक बस के सामने आ गया. बस चालक ने उसे बचाने के लिए बस को जैसे तेज रफ्तार में मोड़ा ट्रक से बस का पिछला हिस्सा टकराया और बस सड़क किनारे पलट गई. ये यात्री हुए हादसे में घायल देवेन्द्र पिता सुमेर सिंह निवासी बरखेड़ी भोपाल, 43 वर्षीय महेश पिता शंकर सिंह निवासी मण्डीदीप, 45 वर्षीय रूकमणी बाई प्यूष गिरी निवासी बाबई, 50 पूरन गिरी पिता मोहन गिरी निवासी बाबई, 43 वर्षीय प्रकाश पिता शंकर यादव, 40 वर्षीय सीता पत्नि शिवनारायण निवासी अवधपुरी भोपाल, 40 वर्षीय सुनीता पत्नि इन्द्रकुमार अग्रवाल, 54 वर्षीय मालती बाई भगवानदास रजक निवासी, 66 वर्षीय कोमल बाई पत्नि जयराम कावरे निवासी नरातेहपुर, 50 वर्षीय शाकिर अली पिता बन्ने मियां निवासी मण्डीदीप, 60 वर्षीय जगदीश पिता बाबूलाल मालवीय निवासी दिवटीया औबेदुल्लागंज, कुवंरलाल पिता रामप्रसाद बामने निवासी बैतूल, 65 वर्षीय शांती बाई पत्नि कुंजीलाल भोपाल, 22 वर्षीय मंगल सिंह पिता विजय सिंह निवासी सतलापुर, 28 वर्षीय मितलाल गौतम पिता त्रिलोचन गौतम निवासी सिमराई, 28 वर्षीय सुनील सोनकर पिता कन्नेलाल सोनकर निवासी गौहरगंज, 50 वर्षीय जीवन सिंह पिता विशाल सिंह रघुवंशी निवासी सतलापुर. सतर्कता से टला बड़ा हादसा हाईवे पर जैसे ही बस पलटी उसके इंजन में डीजल फैलने से आग लग गई. घटना स्थल के पास स्थित दौलतराम कंपनी के सुरक्षाकर्मियों ने बस में आग लगते देख तुरंत कंपनी में रखे अग्निशमक यंत्रों का उपयोग करते हुए आग पर काबू पाया. मौके पर मौजूद रहवासी सत्य प्रकाश मिश्रा ने बताया कि अगर समय रहते आग पर काबू नहीं पाया जाता तो एक बड़ा हादसा हो सकता था, क्योंकि जिस समय बस के इंजन में आग लगी बड़ी संख्या में यात्री बस में ही फंसे थे. होशंगाबाद रोड पर बस पलटने की घटना में एक व्यक्ति की मौके पर मौत तथा 19 लोग घायल हो गए थे, सभी घायलों को उपचार के लिए अस्पातल में भर्ती कराया गया था जहां से 5 घायलों को उपचार के लिए भोपाल रेफर किया गया है. पुलिस द्वारा घटना की जांच की जा रही है, जाच में जो दोशी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. -चन्द्रशेखर श्रीवास्तव तहसीलदार, गौहरगंज"/> मृतकों को चार लाख और गम्भीर रूप से घायलों को पच्चीस हजार रु. की आर्थिक सहायता मंडीदीप, नेशनल हाइवे के समीप ग्राम सिमराई स्थित दौलतराम कम्पनी के पास पर गुरूवार सुबह 8.30 बजे भोपाल से पिपरिया जा रही बस के अनियंत्रित होकर पलट जाने से तीन लोगों की मौत हो गई. दुर्घटना में एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई तथा 19 यात्री घायल हो गए. हादसे की खबर मिलते ही मौके पर पहुंची सतलापुर पुलिस और बचावकर्मियों ने सभी घायलों को बस से निकालकर 108 की मदद से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मण्डीदीप भेजा. अस्पताल में 5 यात्रियों को गंभीर अवस्था में भोपाल रेफर करने के बाद 14 यात्रियों की प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी कर दी. भोपाल रेफर किए गए यात्रियों में 2 यात्रियों की उपचार के दौरान हमीदिया अस्पताल में मौत हो गई. गौहरगंज तहसीलदार चन्द्रशेर श्रीवास्तव ने अस्पताल पहुंचकर घायलों के उपचार का जायजा लिया. तहसीलदार ने बताया कि इस हादसे में मृत हुए यात्रियों के परिजनों को 4 लाख रु. तथा गम्भीर रूप से घायल यात्रियों को 25 हजार रु आर्थिक सहायता के रूप में दिए जाएंगे. सतलापुर पुलिस के अनुसार भोपाल से पिपरिया जा रही यात्री बस क्रमांक एमपी 04 पीए 1732 के चालक ने होशंगाबाद रोड पर दौलतराम कम्पनी के पास तेज और लापरवाही से एक ट्रक को ओवरटेक करने की कोशिश की जिसके चलते बस अनियंत्रित होकर पलट गई. हादसे के बाद मची चीख पुकार को सुनकर आसपास के ग्रामीणों ने बस से घायलों को बाहर निकाला. इस हादसे में 55 वर्षीय भगवानदास पुत्र तुलाराम रजत निवासी जबलपुर की बस के नीचे आ जाने से मौके पर ही मौत हो गई. वहीं 30 वर्षीय शांती बाई पत्नि रघुनाथ एवं 25 वर्षीय रवि की भोपाल में उपचार के दौरान मौत हो गई. सवार थे 70 यात्री प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो हादसे के समय बस में क्षमता से अधिक यात्री सवार थे. घायलों ने बताया कि बस में सभी सीटों पर यात्री बैठे होने के साथ कई यात्री खड़े थे. इसमें ज्यादातर यात्री बुधनी, होशंगाबाद और पिपरिया जाने के लिए बस में सवार हुए थे. घायलों ने बताया कि जिस समय यह हादसा हुआ बस तेज रफ्तार में थी जिसके चलते चालक उस पर नियंत्रण नहीं रख पाया और यह हादसा हो गया. इसलिए हुआ हादसा दिल्ली की एक कंपनी के कर्मचारी बीते कुछ दिनों से हाईवे पर बेरीकेड लगाकर भारी वाहनों के लोड का सर्वे कर रहे हैं. हादसे के समय सड़क पर बेरीकेड लगे थे, जिसके चलते दोनों ओर से वाहन रुक-रुक क्रास हो रहे थे. हादसे के समय बस के आगे एक ट्रक चल रहा था जिससे ओवर ट्रेक करने के प्रयास में बैरीकेड क्रास कर आ रहा एक ट्रक बस के सामने आ गया. बस चालक ने उसे बचाने के लिए बस को जैसे तेज रफ्तार में मोड़ा ट्रक से बस का पिछला हिस्सा टकराया और बस सड़क किनारे पलट गई. ये यात्री हुए हादसे में घायल देवेन्द्र पिता सुमेर सिंह निवासी बरखेड़ी भोपाल, 43 वर्षीय महेश पिता शंकर सिंह निवासी मण्डीदीप, 45 वर्षीय रूकमणी बाई प्यूष गिरी निवासी बाबई, 50 पूरन गिरी पिता मोहन गिरी निवासी बाबई, 43 वर्षीय प्रकाश पिता शंकर यादव, 40 वर्षीय सीता पत्नि शिवनारायण निवासी अवधपुरी भोपाल, 40 वर्षीय सुनीता पत्नि इन्द्रकुमार अग्रवाल, 54 वर्षीय मालती बाई भगवानदास रजक निवासी, 66 वर्षीय कोमल बाई पत्नि जयराम कावरे निवासी नरातेहपुर, 50 वर्षीय शाकिर अली पिता बन्ने मियां निवासी मण्डीदीप, 60 वर्षीय जगदीश पिता बाबूलाल मालवीय निवासी दिवटीया औबेदुल्लागंज, कुवंरलाल पिता रामप्रसाद बामने निवासी बैतूल, 65 वर्षीय शांती बाई पत्नि कुंजीलाल भोपाल, 22 वर्षीय मंगल सिंह पिता विजय सिंह निवासी सतलापुर, 28 वर्षीय मितलाल गौतम पिता त्रिलोचन गौतम निवासी सिमराई, 28 वर्षीय सुनील सोनकर पिता कन्नेलाल सोनकर निवासी गौहरगंज, 50 वर्षीय जीवन सिंह पिता विशाल सिंह रघुवंशी निवासी सतलापुर. सतर्कता से टला बड़ा हादसा हाईवे पर जैसे ही बस पलटी उसके इंजन में डीजल फैलने से आग लग गई. घटना स्थल के पास स्थित दौलतराम कंपनी के सुरक्षाकर्मियों ने बस में आग लगते देख तुरंत कंपनी में रखे अग्निशमक यंत्रों का उपयोग करते हुए आग पर काबू पाया. मौके पर मौजूद रहवासी सत्य प्रकाश मिश्रा ने बताया कि अगर समय रहते आग पर काबू नहीं पाया जाता तो एक बड़ा हादसा हो सकता था, क्योंकि जिस समय बस के इंजन में आग लगी बड़ी संख्या में यात्री बस में ही फंसे थे. होशंगाबाद रोड पर बस पलटने की घटना में एक व्यक्ति की मौके पर मौत तथा 19 लोग घायल हो गए थे, सभी घायलों को उपचार के लिए अस्पातल में भर्ती कराया गया था जहां से 5 घायलों को उपचार के लिए भोपाल रेफर किया गया है. पुलिस द्वारा घटना की जांच की जा रही है, जाच में जो दोशी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. -चन्द्रशेखर श्रीवास्तव तहसीलदार, गौहरगंज">

मण्डीदीप में बस पलटी, 3 की मौत, 19 घायल

2017/12/15



मृतकों को चार लाख और गम्भीर रूप से घायलों को पच्चीस हजार रु. की आर्थिक सहायता मंडीदीप, नेशनल हाइवे के समीप ग्राम सिमराई स्थित दौलतराम कम्पनी के पास पर गुरूवार सुबह 8.30 बजे भोपाल से पिपरिया जा रही बस के अनियंत्रित होकर पलट जाने से तीन लोगों की मौत हो गई. दुर्घटना में एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई तथा 19 यात्री घायल हो गए. हादसे की खबर मिलते ही मौके पर पहुंची सतलापुर पुलिस और बचावकर्मियों ने सभी घायलों को बस से निकालकर 108 की मदद से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मण्डीदीप भेजा. अस्पताल में 5 यात्रियों को गंभीर अवस्था में भोपाल रेफर करने के बाद 14 यात्रियों की प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी कर दी. भोपाल रेफर किए गए यात्रियों में 2 यात्रियों की उपचार के दौरान हमीदिया अस्पताल में मौत हो गई. गौहरगंज तहसीलदार चन्द्रशेर श्रीवास्तव ने अस्पताल पहुंचकर घायलों के उपचार का जायजा लिया. तहसीलदार ने बताया कि इस हादसे में मृत हुए यात्रियों के परिजनों को 4 लाख रु. तथा गम्भीर रूप से घायल यात्रियों को 25 हजार रु आर्थिक सहायता के रूप में दिए जाएंगे. सतलापुर पुलिस के अनुसार भोपाल से पिपरिया जा रही यात्री बस क्रमांक एमपी 04 पीए 1732 के चालक ने होशंगाबाद रोड पर दौलतराम कम्पनी के पास तेज और लापरवाही से एक ट्रक को ओवरटेक करने की कोशिश की जिसके चलते बस अनियंत्रित होकर पलट गई. हादसे के बाद मची चीख पुकार को सुनकर आसपास के ग्रामीणों ने बस से घायलों को बाहर निकाला. इस हादसे में 55 वर्षीय भगवानदास पुत्र तुलाराम रजत निवासी जबलपुर की बस के नीचे आ जाने से मौके पर ही मौत हो गई. वहीं 30 वर्षीय शांती बाई पत्नि रघुनाथ एवं 25 वर्षीय रवि की भोपाल में उपचार के दौरान मौत हो गई. सवार थे 70 यात्री प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो हादसे के समय बस में क्षमता से अधिक यात्री सवार थे. घायलों ने बताया कि बस में सभी सीटों पर यात्री बैठे होने के साथ कई यात्री खड़े थे. इसमें ज्यादातर यात्री बुधनी, होशंगाबाद और पिपरिया जाने के लिए बस में सवार हुए थे. घायलों ने बताया कि जिस समय यह हादसा हुआ बस तेज रफ्तार में थी जिसके चलते चालक उस पर नियंत्रण नहीं रख पाया और यह हादसा हो गया. इसलिए हुआ हादसा दिल्ली की एक कंपनी के कर्मचारी बीते कुछ दिनों से हाईवे पर बेरीकेड लगाकर भारी वाहनों के लोड का सर्वे कर रहे हैं. हादसे के समय सड़क पर बेरीकेड लगे थे, जिसके चलते दोनों ओर से वाहन रुक-रुक क्रास हो रहे थे. हादसे के समय बस के आगे एक ट्रक चल रहा था जिससे ओवर ट्रेक करने के प्रयास में बैरीकेड क्रास कर आ रहा एक ट्रक बस के सामने आ गया. बस चालक ने उसे बचाने के लिए बस को जैसे तेज रफ्तार में मोड़ा ट्रक से बस का पिछला हिस्सा टकराया और बस सड़क किनारे पलट गई. ये यात्री हुए हादसे में घायल देवेन्द्र पिता सुमेर सिंह निवासी बरखेड़ी भोपाल, 43 वर्षीय महेश पिता शंकर सिंह निवासी मण्डीदीप, 45 वर्षीय रूकमणी बाई प्यूष गिरी निवासी बाबई, 50 पूरन गिरी पिता मोहन गिरी निवासी बाबई, 43 वर्षीय प्रकाश पिता शंकर यादव, 40 वर्षीय सीता पत्नि शिवनारायण निवासी अवधपुरी भोपाल, 40 वर्षीय सुनीता पत्नि इन्द्रकुमार अग्रवाल, 54 वर्षीय मालती बाई भगवानदास रजक निवासी, 66 वर्षीय कोमल बाई पत्नि जयराम कावरे निवासी नरातेहपुर, 50 वर्षीय शाकिर अली पिता बन्ने मियां निवासी मण्डीदीप, 60 वर्षीय जगदीश पिता बाबूलाल मालवीय निवासी दिवटीया औबेदुल्लागंज, कुवंरलाल पिता रामप्रसाद बामने निवासी बैतूल, 65 वर्षीय शांती बाई पत्नि कुंजीलाल भोपाल, 22 वर्षीय मंगल सिंह पिता विजय सिंह निवासी सतलापुर, 28 वर्षीय मितलाल गौतम पिता त्रिलोचन गौतम निवासी सिमराई, 28 वर्षीय सुनील सोनकर पिता कन्नेलाल सोनकर निवासी गौहरगंज, 50 वर्षीय जीवन सिंह पिता विशाल सिंह रघुवंशी निवासी सतलापुर. सतर्कता से टला बड़ा हादसा हाईवे पर जैसे ही बस पलटी उसके इंजन में डीजल फैलने से आग लग गई. घटना स्थल के पास स्थित दौलतराम कंपनी के सुरक्षाकर्मियों ने बस में आग लगते देख तुरंत कंपनी में रखे अग्निशमक यंत्रों का उपयोग करते हुए आग पर काबू पाया. मौके पर मौजूद रहवासी सत्य प्रकाश मिश्रा ने बताया कि अगर समय रहते आग पर काबू नहीं पाया जाता तो एक बड़ा हादसा हो सकता था, क्योंकि जिस समय बस के इंजन में आग लगी बड़ी संख्या में यात्री बस में ही फंसे थे. होशंगाबाद रोड पर बस पलटने की घटना में एक व्यक्ति की मौके पर मौत तथा 19 लोग घायल हो गए थे, सभी घायलों को उपचार के लिए अस्पातल में भर्ती कराया गया था जहां से 5 घायलों को उपचार के लिए भोपाल रेफर किया गया है. पुलिस द्वारा घटना की जांच की जा रही है, जाच में जो दोशी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. -चन्द्रशेखर श्रीवास्तव तहसीलदार, गौहरगंज


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts