Breaking News :

भू-अधिकार अभियान 26 जनवरी से

2017/11/25



सनकोटा आदिवासी सम्मेलन एवं शिवपंथी सत्संग मेले में मुख्यमंत्री ने किया ऐलान

  • भूमिहीनों को दिया जाएगा रहने की जमीन का अधिकार, आदिवासी समाज से नशे का त्याग करने की अपील
भोपाल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आगामी 26 जनवरी से प्रदेश में भू-अधिकार अभियान चलाया जाएगा. अभियान के दौरान सभी पात्र भूमिहीनों को रहने की जमीन का अधिकार दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 तक प्रदेश में पात्र आवासविहीन परिवारों को पक्के आवास दिये जाएंगे. मुख्यमंत्री ने गुरुवार को सीहोर जिले की नसरुल्लागंज तहसील के ग्राम सनकोटा में आदिवासी सम्मेलन, नशामुक्ति अभियान एवं शिवपंथी सत्संग मेले को संबोधित करते हुए यह घोषणा की. मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह चौहान भी सम्मेलन में उपस्थित रहीं. चौहान ने सम्मेलन में चरण पादुका अभियान, पोषण आहार वितरण तथा गणवेश निर्माण योजना की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि पोषण आहार तथा गणवेश निर्माण का कार्य स्थानीय महिला स्व-सहायता समूह के माध्यम से करवाया जाएगा. इस कार्य के लिए समूह के सदस्यों को आवश्यकता अनुसार प्रशिक्षण दिलाने की व्यवस्था भी की जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि अनमोल मानव जीवन का दुश्मन है नशा. समाज की तरक्की के लिए नशे से दूर रहना पहली आवश्यकता है. मुख्यमंत्री ने आदिवासी समाज को नशा त्यागने की शपथ भी दिलाई.इस अवसर पर काफी तादाद में लोग उपस्थित थे. शिवराज सिंह चौहान को दिल से चाहते हैं बारेला आदिवासी बारेला समाज के ओमप्रकाश बारेला, बावडीखेडा प्राथमिक शाला में शिक्षक हैं. वे बताते हैं कि समाज में पहले नशे को बुराई नहीं माना जाता था. हर नौजवान नशा करता था. पिछले पांच सालों में काफी परिवर्तन आया है. नौजवानों ने शराब को त्यागने का संकल्प लिया है. समाज के पढ़े-लिखे लोग खुद आगे आकर समाज को सुधारने का संकल्प लेकर काम कर रहे हैं. हर साल बड़ा आयोजन कर समाज के मुखिया महाराज कालूबाबा के मार्गदर्शन में दूध पिलाकर शराब से दूर रहने का संकल्प दिलाते हैं. चकल्दी ग्राम पंचायत के सचिव राकेश बारेला कहते हैं कि नशामुक्ति अभियान पिछले काफी समय से चलाया जा रहा है. बड़वानी, सेंधवा से इस अभियान की शुरूआत हुई थी. अब प्रदेश में जहाँ-जहाँ बारेला समाज के लोग रहते हैं, वहाँ हम कार्यक्रम करते हैं. इससे समाज के नजरिये में काफी सुधार दिख रहा है. हम बारेला समाज के युवाओं के आदर्श हैं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान. हमसे स्नेह रखते हैं और हम भी उन्हें दिल से चाहते हैं. उनकी नशामुक्त समाज बनाने की बात का भी समाज पर बहुत असर हुआ है. शेर सिंह बारेला समाज के बीच रहकर जन-जागरण का काम करते हैं. पेशे से वे प्रेरक शिक्षक हैं और लाड़कुई प्राथमिक शाला से जुड़े हैं. वे बताते हैं कि बारेला समुदाय में भगवान शिव के प्रति बहुत आस्था है लेकिन नशे का भी चलन था. अब बहुत परिवर्तन आया है. वे कहते हैं कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बारेला समाज के बीच में आना और नशामुक्ति की बात करना भी हमारे लिये बहुत बड़ी बात है. आयोजन से जुड़े सुनील बारेला बताते हैं कि समाज में हर साल शिवपंथी सत्संग मेले का आयोजन किया जाता है. पहली बार यह रफीकगंज ग्राम पंचायत के सनकोटा गांव में हो रहा है. बारेला समाज में खरीफ फसलों के पकने और कटने पर नाग दीवाली मनाने की परंपरा है. पिछले साल यह कार्यक्रम खरगोन जिले की भगवानपुरा तहसील के गाँव पिपलझोला में हुआ था.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts