Breaking News :

इटावा,   समाजवादी पार्टी (सपा) के महासचिव डा. रामगोपाल यादव ने आरोप लगाया है कि केन्द्र की नरेन्द मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को विपक्ष बर्दाश्त नहीं है। श्री यादव ने कहा कि लोकतंत्र में जिम्मेदार विपक्ष का होना भी जरूरी है। बिहार में लालू ने विरोध किया तो उनके परिवार के लोगों को मुल्जिम बना दिया गया। उन्होने देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू तथा इन्दिरा गांधी की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने कभी भी विपक्ष के साथ नाइंसाफी नहीं की। इस सरकार में बर्दाश्त करने की क्षमता नहीं है। सपा महासचिव ने आज यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि देश की अर्थव्यवस्था सबसे निचले स्तर पर पहुंच गयी है। जीएसटी ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है। दूकानदार, मजदूर, सेल्समेन सभी बेरोजगार हो गये हैं। केंद्र सरकार विपक्ष को खत्म करना चाहती है। जीएसटी से व्यापारी परेशान है, सारी व्यवस्था ऑनलाइन कर दी गई है। जो व्यापारी ऑनलाइन की व्यवस्था नही जानते वह परेशान हैं। उन्होंने आरोप लगाया जब मोदी की सरकार नही बनी थी तो उन्होंने कहा था कि भाजपा की सरकार बनने के बाद एक सिर के बदले दस सिर काट के लायेंगे लेकिन आज सीमा पर रोजाना जवान मर रहे हैं। श्री यादव ने कहा कि जब सपा की सरकार थी तब भाजपा के नेता कहते थे कि थानों को सपा के गुंडे चला रहे है। भाजपा सरकार में विधायक जहां भी काम होता है वहां खड़े हो जाते हैं। ठेकेदारो से पैसा मांगते हैं। योगी सरकार ने सभी योजनाए बंद कर दी हैं। लखनऊ से बलिया तक के लिए छह लेन हाईवे बनने वाला था। उसके टेंडर भी डाल दिये गये थे। इसे बंद करा दिया गया। सपा ठप किए जा रहे विकास कार्यो के लिए जल्द ही आंदोलन करेगी। उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने एक लाख से ज्यादा शिक्षामित्रों को नौकरियां दी थीं लेकिन उनको हटा दिया गया। जब वे अपना हक मांगने के लिए लखनऊ पहुंचे तो उनकी पिटाई की गयी। श्री यादव ने सरकार से मांग की है कि नियम बनाकर उनको समायोजित करने की व्यवस्था की जाये, जिससे इनके परिवार का पालन पोषण हो सके। उन्होंने आरोप लगाया कि सपा के लोगों का उत्पीड़न किया जा रहा है,उन्हें डरा धमकाकर दल बदल किया जा रहा है।"/> इटावा,   समाजवादी पार्टी (सपा) के महासचिव डा. रामगोपाल यादव ने आरोप लगाया है कि केन्द्र की नरेन्द मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को विपक्ष बर्दाश्त नहीं है। श्री यादव ने कहा कि लोकतंत्र में जिम्मेदार विपक्ष का होना भी जरूरी है। बिहार में लालू ने विरोध किया तो उनके परिवार के लोगों को मुल्जिम बना दिया गया। उन्होने देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू तथा इन्दिरा गांधी की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने कभी भी विपक्ष के साथ नाइंसाफी नहीं की। इस सरकार में बर्दाश्त करने की क्षमता नहीं है। सपा महासचिव ने आज यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि देश की अर्थव्यवस्था सबसे निचले स्तर पर पहुंच गयी है। जीएसटी ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है। दूकानदार, मजदूर, सेल्समेन सभी बेरोजगार हो गये हैं। केंद्र सरकार विपक्ष को खत्म करना चाहती है। जीएसटी से व्यापारी परेशान है, सारी व्यवस्था ऑनलाइन कर दी गई है। जो व्यापारी ऑनलाइन की व्यवस्था नही जानते वह परेशान हैं। उन्होंने आरोप लगाया जब मोदी की सरकार नही बनी थी तो उन्होंने कहा था कि भाजपा की सरकार बनने के बाद एक सिर के बदले दस सिर काट के लायेंगे लेकिन आज सीमा पर रोजाना जवान मर रहे हैं। श्री यादव ने कहा कि जब सपा की सरकार थी तब भाजपा के नेता कहते थे कि थानों को सपा के गुंडे चला रहे है। भाजपा सरकार में विधायक जहां भी काम होता है वहां खड़े हो जाते हैं। ठेकेदारो से पैसा मांगते हैं। योगी सरकार ने सभी योजनाए बंद कर दी हैं। लखनऊ से बलिया तक के लिए छह लेन हाईवे बनने वाला था। उसके टेंडर भी डाल दिये गये थे। इसे बंद करा दिया गया। सपा ठप किए जा रहे विकास कार्यो के लिए जल्द ही आंदोलन करेगी। उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने एक लाख से ज्यादा शिक्षामित्रों को नौकरियां दी थीं लेकिन उनको हटा दिया गया। जब वे अपना हक मांगने के लिए लखनऊ पहुंचे तो उनकी पिटाई की गयी। श्री यादव ने सरकार से मांग की है कि नियम बनाकर उनको समायोजित करने की व्यवस्था की जाये, जिससे इनके परिवार का पालन पोषण हो सके। उन्होंने आरोप लगाया कि सपा के लोगों का उत्पीड़न किया जा रहा है,उन्हें डरा धमकाकर दल बदल किया जा रहा है।"/> इटावा,   समाजवादी पार्टी (सपा) के महासचिव डा. रामगोपाल यादव ने आरोप लगाया है कि केन्द्र की नरेन्द मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को विपक्ष बर्दाश्त नहीं है। श्री यादव ने कहा कि लोकतंत्र में जिम्मेदार विपक्ष का होना भी जरूरी है। बिहार में लालू ने विरोध किया तो उनके परिवार के लोगों को मुल्जिम बना दिया गया। उन्होने देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू तथा इन्दिरा गांधी की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने कभी भी विपक्ष के साथ नाइंसाफी नहीं की। इस सरकार में बर्दाश्त करने की क्षमता नहीं है। सपा महासचिव ने आज यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि देश की अर्थव्यवस्था सबसे निचले स्तर पर पहुंच गयी है। जीएसटी ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है। दूकानदार, मजदूर, सेल्समेन सभी बेरोजगार हो गये हैं। केंद्र सरकार विपक्ष को खत्म करना चाहती है। जीएसटी से व्यापारी परेशान है, सारी व्यवस्था ऑनलाइन कर दी गई है। जो व्यापारी ऑनलाइन की व्यवस्था नही जानते वह परेशान हैं। उन्होंने आरोप लगाया जब मोदी की सरकार नही बनी थी तो उन्होंने कहा था कि भाजपा की सरकार बनने के बाद एक सिर के बदले दस सिर काट के लायेंगे लेकिन आज सीमा पर रोजाना जवान मर रहे हैं। श्री यादव ने कहा कि जब सपा की सरकार थी तब भाजपा के नेता कहते थे कि थानों को सपा के गुंडे चला रहे है। भाजपा सरकार में विधायक जहां भी काम होता है वहां खड़े हो जाते हैं। ठेकेदारो से पैसा मांगते हैं। योगी सरकार ने सभी योजनाए बंद कर दी हैं। लखनऊ से बलिया तक के लिए छह लेन हाईवे बनने वाला था। उसके टेंडर भी डाल दिये गये थे। इसे बंद करा दिया गया। सपा ठप किए जा रहे विकास कार्यो के लिए जल्द ही आंदोलन करेगी। उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने एक लाख से ज्यादा शिक्षामित्रों को नौकरियां दी थीं लेकिन उनको हटा दिया गया। जब वे अपना हक मांगने के लिए लखनऊ पहुंचे तो उनकी पिटाई की गयी। श्री यादव ने सरकार से मांग की है कि नियम बनाकर उनको समायोजित करने की व्यवस्था की जाये, जिससे इनके परिवार का पालन पोषण हो सके। उन्होंने आरोप लगाया कि सपा के लोगों का उत्पीड़न किया जा रहा है,उन्हें डरा धमकाकर दल बदल किया जा रहा है।">

भाजपा सरकारों को विपक्ष बर्दाश्त नही : रामगोपाल

2017/09/11



इटावा,   समाजवादी पार्टी (सपा) के महासचिव डा. रामगोपाल यादव ने आरोप लगाया है कि केन्द्र की नरेन्द मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को विपक्ष बर्दाश्त नहीं है। श्री यादव ने कहा कि लोकतंत्र में जिम्मेदार विपक्ष का होना भी जरूरी है। बिहार में लालू ने विरोध किया तो उनके परिवार के लोगों को मुल्जिम बना दिया गया। उन्होने देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू तथा इन्दिरा गांधी की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने कभी भी विपक्ष के साथ नाइंसाफी नहीं की। इस सरकार में बर्दाश्त करने की क्षमता नहीं है। सपा महासचिव ने आज यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि देश की अर्थव्यवस्था सबसे निचले स्तर पर पहुंच गयी है। जीएसटी ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है। दूकानदार, मजदूर, सेल्समेन सभी बेरोजगार हो गये हैं। केंद्र सरकार विपक्ष को खत्म करना चाहती है। जीएसटी से व्यापारी परेशान है, सारी व्यवस्था ऑनलाइन कर दी गई है। जो व्यापारी ऑनलाइन की व्यवस्था नही जानते वह परेशान हैं। उन्होंने आरोप लगाया जब मोदी की सरकार नही बनी थी तो उन्होंने कहा था कि भाजपा की सरकार बनने के बाद एक सिर के बदले दस सिर काट के लायेंगे लेकिन आज सीमा पर रोजाना जवान मर रहे हैं। श्री यादव ने कहा कि जब सपा की सरकार थी तब भाजपा के नेता कहते थे कि थानों को सपा के गुंडे चला रहे है। भाजपा सरकार में विधायक जहां भी काम होता है वहां खड़े हो जाते हैं। ठेकेदारो से पैसा मांगते हैं। योगी सरकार ने सभी योजनाए बंद कर दी हैं। लखनऊ से बलिया तक के लिए छह लेन हाईवे बनने वाला था। उसके टेंडर भी डाल दिये गये थे। इसे बंद करा दिया गया। सपा ठप किए जा रहे विकास कार्यो के लिए जल्द ही आंदोलन करेगी। उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने एक लाख से ज्यादा शिक्षामित्रों को नौकरियां दी थीं लेकिन उनको हटा दिया गया। जब वे अपना हक मांगने के लिए लखनऊ पहुंचे तो उनकी पिटाई की गयी। श्री यादव ने सरकार से मांग की है कि नियम बनाकर उनको समायोजित करने की व्यवस्था की जाये, जिससे इनके परिवार का पालन पोषण हो सके। उन्होंने आरोप लगाया कि सपा के लोगों का उत्पीड़न किया जा रहा है,उन्हें डरा धमकाकर दल बदल किया जा रहा है।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts