Breaking News :

लोक निर्माण विभाग और सरकार की उदासीनता से नहीं हो पा रहा है ओवरब्रिज का निर्माण संत हिरदाराम नगर, बैरागढ़ रेलवे फाटक पर काफी लंबे समय से ओवरब्रिज बनाने की मांग की जा रही है. यहां से बार-बार फाटक के बंद होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. अंडर-ओवरब्रिज निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष दौलत सिंह चौहान द्वारा सूचना के अधिकार में प्राप्त जानकारी के अनुसार रतलाम रेल मंडल के उपमुख्य अभियंता द्वारा लगातार पत्र लिख अवगत कराया जा रहा है कि ओवरब्रिज का निर्माण जो की 2012 में 50 प्रतिशत शेयरिंग कॉस्ट के आधार पर स्वीकृत किया गया है. इसको लेकर रेलवे रतलाम मंडल ने लोक निर्माण विभाग को 18 जनवरी 2017 एवं 28 अप्रैल 2017 को पत्र लिखकर अपने हिस्से की राशि जमाकर एवं आवश्यक कार्यवाही करने का उल्लेख किया गया है. इन दोनों पत्रों की छाया प्रति लगाकर समिति ने भी मुख्य अभियन्ता पीडब्लूडी को पत्र लिखकर चेताया है.यहां पर समिति द्वारा यह भी उल्लेखित किया जा रहा है की रेलवे रतलाम ने समिति द्वारा जनहित और शासन हित में दिए गए सुझावों को मानकर ओवरब्रिज निर्माण फाटक नम्बर 114 और 115 के बीच से करने की भी स्वीकृति दे दी है. लेकिन लोक निर्माण विभाग भोपाल की उदासीनता की वजह है बैरागढ़ की आम जनता को खामियाजा भुगतना पड़ रहा है, और न ही इस समस्या के निराकरण के लिए जन प्रतिनिधि अपनी रूचि दिखा रहे हैं."/> लोक निर्माण विभाग और सरकार की उदासीनता से नहीं हो पा रहा है ओवरब्रिज का निर्माण संत हिरदाराम नगर, बैरागढ़ रेलवे फाटक पर काफी लंबे समय से ओवरब्रिज बनाने की मांग की जा रही है. यहां से बार-बार फाटक के बंद होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. अंडर-ओवरब्रिज निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष दौलत सिंह चौहान द्वारा सूचना के अधिकार में प्राप्त जानकारी के अनुसार रतलाम रेल मंडल के उपमुख्य अभियंता द्वारा लगातार पत्र लिख अवगत कराया जा रहा है कि ओवरब्रिज का निर्माण जो की 2012 में 50 प्रतिशत शेयरिंग कॉस्ट के आधार पर स्वीकृत किया गया है. इसको लेकर रेलवे रतलाम मंडल ने लोक निर्माण विभाग को 18 जनवरी 2017 एवं 28 अप्रैल 2017 को पत्र लिखकर अपने हिस्से की राशि जमाकर एवं आवश्यक कार्यवाही करने का उल्लेख किया गया है. इन दोनों पत्रों की छाया प्रति लगाकर समिति ने भी मुख्य अभियन्ता पीडब्लूडी को पत्र लिखकर चेताया है.यहां पर समिति द्वारा यह भी उल्लेखित किया जा रहा है की रेलवे रतलाम ने समिति द्वारा जनहित और शासन हित में दिए गए सुझावों को मानकर ओवरब्रिज निर्माण फाटक नम्बर 114 और 115 के बीच से करने की भी स्वीकृति दे दी है. लेकिन लोक निर्माण विभाग भोपाल की उदासीनता की वजह है बैरागढ़ की आम जनता को खामियाजा भुगतना पड़ रहा है, और न ही इस समस्या के निराकरण के लिए जन प्रतिनिधि अपनी रूचि दिखा रहे हैं."/> लोक निर्माण विभाग और सरकार की उदासीनता से नहीं हो पा रहा है ओवरब्रिज का निर्माण संत हिरदाराम नगर, बैरागढ़ रेलवे फाटक पर काफी लंबे समय से ओवरब्रिज बनाने की मांग की जा रही है. यहां से बार-बार फाटक के बंद होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. अंडर-ओवरब्रिज निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष दौलत सिंह चौहान द्वारा सूचना के अधिकार में प्राप्त जानकारी के अनुसार रतलाम रेल मंडल के उपमुख्य अभियंता द्वारा लगातार पत्र लिख अवगत कराया जा रहा है कि ओवरब्रिज का निर्माण जो की 2012 में 50 प्रतिशत शेयरिंग कॉस्ट के आधार पर स्वीकृत किया गया है. इसको लेकर रेलवे रतलाम मंडल ने लोक निर्माण विभाग को 18 जनवरी 2017 एवं 28 अप्रैल 2017 को पत्र लिखकर अपने हिस्से की राशि जमाकर एवं आवश्यक कार्यवाही करने का उल्लेख किया गया है. इन दोनों पत्रों की छाया प्रति लगाकर समिति ने भी मुख्य अभियन्ता पीडब्लूडी को पत्र लिखकर चेताया है.यहां पर समिति द्वारा यह भी उल्लेखित किया जा रहा है की रेलवे रतलाम ने समिति द्वारा जनहित और शासन हित में दिए गए सुझावों को मानकर ओवरब्रिज निर्माण फाटक नम्बर 114 और 115 के बीच से करने की भी स्वीकृति दे दी है. लेकिन लोक निर्माण विभाग भोपाल की उदासीनता की वजह है बैरागढ़ की आम जनता को खामियाजा भुगतना पड़ रहा है, और न ही इस समस्या के निराकरण के लिए जन प्रतिनिधि अपनी रूचि दिखा रहे हैं.">

ब्रिज नहीं बना तो वोट पड़ेगा नोटा को

2017/12/07



लोक निर्माण विभाग और सरकार की उदासीनता से नहीं हो पा रहा है ओवरब्रिज का निर्माण

  • बैरागढ़ रेलवे फाटक पर लगी रहती हैं कतारें
संत हिरदाराम नगर, बैरागढ़ रेलवे फाटक पर काफी लंबे समय से ओवरब्रिज बनाने की मांग की जा रही है. यहां से बार-बार फाटक के बंद होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. अंडर-ओवरब्रिज निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष दौलत सिंह चौहान द्वारा सूचना के अधिकार में प्राप्त जानकारी के अनुसार रतलाम रेल मंडल के उपमुख्य अभियंता द्वारा लगातार पत्र लिख अवगत कराया जा रहा है कि ओवरब्रिज का निर्माण जो की 2012 में 50 प्रतिशत शेयरिंग कॉस्ट के आधार पर स्वीकृत किया गया है. इसको लेकर रेलवे रतलाम मंडल ने लोक निर्माण विभाग को 18 जनवरी 2017 एवं 28 अप्रैल 2017 को पत्र लिखकर अपने हिस्से की राशि जमाकर एवं आवश्यक कार्यवाही करने का उल्लेख किया गया है. इन दोनों पत्रों की छाया प्रति लगाकर समिति ने भी मुख्य अभियन्ता पीडब्लूडी को पत्र लिखकर चेताया है.यहां पर समिति द्वारा यह भी उल्लेखित किया जा रहा है की रेलवे रतलाम ने समिति द्वारा जनहित और शासन हित में दिए गए सुझावों को मानकर ओवरब्रिज निर्माण फाटक नम्बर 114 और 115 के बीच से करने की भी स्वीकृति दे दी है. लेकिन लोक निर्माण विभाग भोपाल की उदासीनता की वजह है बैरागढ़ की आम जनता को खामियाजा भुगतना पड़ रहा है, और न ही इस समस्या के निराकरण के लिए जन प्रतिनिधि अपनी रूचि दिखा रहे हैं.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts