Breaking News :

ट्विटर पर डाले पोस्ट, अटकलों पर लगाया विराम

समाचारों को लेकर जताई नाराजगी नवभारत न्यूज भोपाल, केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचारों का खंडन करते हुये कहा है कि बुखार से पीडि़त होने की वजह से वे यात्रा नहीं कर सकी, जबकि समाचार पत्रों ने बिना सच्चाई जाने समाचार प्रकाशित किये हैं. केंद्रीय मंत्री ने अपने ट्विटर एकाउंट में तीन पोस्ट डाले हैं, जिसमें उन्होंने बताया है कि सर संघचालक मोहन भागवत से मिलने का न तो उन्होंने समय लिया है और न ही संघ ने इस तरह के कोई निर्देश दिये हैं, जो भोपाल में रुकने की वजह बने. गौरतलब है कि विगत दो दिनों से केंद्रीय मंत्री के भोपाल में रहने से चर्चाओं का बाजार गर्म था और लोग अनुमान लगा रहे थे कि इसके पीछे संघ प्रमुख का विदिशा में होना है. बताया जा रहा था कि उन्हें संघ ने भोपाल में रहने के निर्देश दिये थे. महत्वपूर्ण यह है कि केन्द्रीय मंत्री भोपाल से नागपुर गईं थीं, जहां संघ का मुख्यालय है एवं वहां से वापस भोपाल आ गईं. उनका कहना है कि बुधवार को आयोजित केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में भी वे बुखार की वजह से नहीं जा सकी. उन्होंने अपने ट्विटर पर एक समाचार पत्र को आड़े हाथों लिया है, जिसने मनगढ़ंत समाचार का प्रकाशन किया है. कहा जा रहा था कि उमा भारती नाराज हैं एवं मध्यप्रदेश में सक्रिय होने के प्रयास कर रही हैं. इसीलिये उन्होंने केन्द्रीय कैबिनेट की बैठक से खुद को दूर रखा."/>

ट्विटर पर डाले पोस्ट, अटकलों पर लगाया विराम

समाचारों को लेकर जताई नाराजगी नवभारत न्यूज भोपाल, केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचारों का खंडन करते हुये कहा है कि बुखार से पीडि़त होने की वजह से वे यात्रा नहीं कर सकी, जबकि समाचार पत्रों ने बिना सच्चाई जाने समाचार प्रकाशित किये हैं. केंद्रीय मंत्री ने अपने ट्विटर एकाउंट में तीन पोस्ट डाले हैं, जिसमें उन्होंने बताया है कि सर संघचालक मोहन भागवत से मिलने का न तो उन्होंने समय लिया है और न ही संघ ने इस तरह के कोई निर्देश दिये हैं, जो भोपाल में रुकने की वजह बने. गौरतलब है कि विगत दो दिनों से केंद्रीय मंत्री के भोपाल में रहने से चर्चाओं का बाजार गर्म था और लोग अनुमान लगा रहे थे कि इसके पीछे संघ प्रमुख का विदिशा में होना है. बताया जा रहा था कि उन्हें संघ ने भोपाल में रहने के निर्देश दिये थे. महत्वपूर्ण यह है कि केन्द्रीय मंत्री भोपाल से नागपुर गईं थीं, जहां संघ का मुख्यालय है एवं वहां से वापस भोपाल आ गईं. उनका कहना है कि बुधवार को आयोजित केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में भी वे बुखार की वजह से नहीं जा सकी. उन्होंने अपने ट्विटर पर एक समाचार पत्र को आड़े हाथों लिया है, जिसने मनगढ़ंत समाचार का प्रकाशन किया है. कहा जा रहा था कि उमा भारती नाराज हैं एवं मध्यप्रदेश में सक्रिय होने के प्रयास कर रही हैं. इसीलिये उन्होंने केन्द्रीय कैबिनेट की बैठक से खुद को दूर रखा."/>

ट्विटर पर डाले पोस्ट, अटकलों पर लगाया विराम

समाचारों को लेकर जताई नाराजगी नवभारत न्यूज भोपाल, केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचारों का खंडन करते हुये कहा है कि बुखार से पीडि़त होने की वजह से वे यात्रा नहीं कर सकी, जबकि समाचार पत्रों ने बिना सच्चाई जाने समाचार प्रकाशित किये हैं. केंद्रीय मंत्री ने अपने ट्विटर एकाउंट में तीन पोस्ट डाले हैं, जिसमें उन्होंने बताया है कि सर संघचालक मोहन भागवत से मिलने का न तो उन्होंने समय लिया है और न ही संघ ने इस तरह के कोई निर्देश दिये हैं, जो भोपाल में रुकने की वजह बने. गौरतलब है कि विगत दो दिनों से केंद्रीय मंत्री के भोपाल में रहने से चर्चाओं का बाजार गर्म था और लोग अनुमान लगा रहे थे कि इसके पीछे संघ प्रमुख का विदिशा में होना है. बताया जा रहा था कि उन्हें संघ ने भोपाल में रहने के निर्देश दिये थे. महत्वपूर्ण यह है कि केन्द्रीय मंत्री भोपाल से नागपुर गईं थीं, जहां संघ का मुख्यालय है एवं वहां से वापस भोपाल आ गईं. उनका कहना है कि बुधवार को आयोजित केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में भी वे बुखार की वजह से नहीं जा सकी. उन्होंने अपने ट्विटर पर एक समाचार पत्र को आड़े हाथों लिया है, जिसने मनगढ़ंत समाचार का प्रकाशन किया है. कहा जा रहा था कि उमा भारती नाराज हैं एवं मध्यप्रदेश में सक्रिय होने के प्रयास कर रही हैं. इसीलिये उन्होंने केन्द्रीय कैबिनेट की बैठक से खुद को दूर रखा.">

बुखार की वजह से यात्रा नहीं कर सकी : उमा भारती

2018/01/13



ट्विटर पर डाले पोस्ट, अटकलों पर लगाया विराम

समाचारों को लेकर जताई नाराजगी नवभारत न्यूज भोपाल, केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचारों का खंडन करते हुये कहा है कि बुखार से पीडि़त होने की वजह से वे यात्रा नहीं कर सकी, जबकि समाचार पत्रों ने बिना सच्चाई जाने समाचार प्रकाशित किये हैं. केंद्रीय मंत्री ने अपने ट्विटर एकाउंट में तीन पोस्ट डाले हैं, जिसमें उन्होंने बताया है कि सर संघचालक मोहन भागवत से मिलने का न तो उन्होंने समय लिया है और न ही संघ ने इस तरह के कोई निर्देश दिये हैं, जो भोपाल में रुकने की वजह बने. गौरतलब है कि विगत दो दिनों से केंद्रीय मंत्री के भोपाल में रहने से चर्चाओं का बाजार गर्म था और लोग अनुमान लगा रहे थे कि इसके पीछे संघ प्रमुख का विदिशा में होना है. बताया जा रहा था कि उन्हें संघ ने भोपाल में रहने के निर्देश दिये थे. महत्वपूर्ण यह है कि केन्द्रीय मंत्री भोपाल से नागपुर गईं थीं, जहां संघ का मुख्यालय है एवं वहां से वापस भोपाल आ गईं. उनका कहना है कि बुधवार को आयोजित केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में भी वे बुखार की वजह से नहीं जा सकी. उन्होंने अपने ट्विटर पर एक समाचार पत्र को आड़े हाथों लिया है, जिसने मनगढ़ंत समाचार का प्रकाशन किया है. कहा जा रहा था कि उमा भारती नाराज हैं एवं मध्यप्रदेश में सक्रिय होने के प्रयास कर रही हैं. इसीलिये उन्होंने केन्द्रीय कैबिनेट की बैठक से खुद को दूर रखा.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts