Breaking News :

मुंबई, बहुमुखी प्रतिभा की धनी पूजा भट्ट ने न सिर्फ अभिनय बल्कि निर्माण और निर्देशन के तौर पर दर्शको को अपना दीवाना बनाया है। मुंबई में 24 फरवरी 1972 को जन्मीं पूजा ने बतौर अभिनेत्री अपने करियर की शुरूआत अपने पिता महेश भट्ट के निर्देशन में बनी पिल्म डैडी से की। इस पिल्म में पूजा के पिता की भूमिका अनुपम खेर ने निभायी थी। अपनी पहली हीं फिल्म के जरिये पूजा ने दर्शकों के बीच अपने अभिनय का लोहा मनवा लिया। वर्ष 1991 में प्रदर्शित फिल्म ‘दिल है कि मानता नहीं’ पूजा भट्ट के करियर की एक और सुपरहिट पिल्म साबित हुयी। महेश भट्ट निर्देशित इस फिल्म में पूजा के अपोजिट आमिर खान थे। फिल्म की कहानी हॉलीवुड फिल्म ‘इट हैपेंड वन नाईट’ पर आधारित थी। फिल्म में पूजा और आमिर ने अपने चुलबुले अंदाज से दर्शको का दिल जीतकर फिल्म को सुपरहिट बना दिया । वर्ष 1991 में पूजा की एक और सुपरहिट पिल्म सड़क प्रदर्शित हुयी। महेश भट्ट के निर्देशन में बनी इस फिल्म में पूजा की जोड़ी संजय दत्त के साथ काफी पसंद की गयी। वर्ष 1992 में पूजा की फिर तेरी कहानी याद आयी और उसने सर जैसी हिट फिल्मों में काम किया। वर्ष 1992 से वर्ष 1996 के बीच पूजा भट्ट ने तड़ीपार, चोर और चांद, नाराज, गुनेहगार, अंगरक्षक, चाहत, हमदोनों जैसी कुछ फिल्मों में अभिनय किया लेकिन सभी फिल्मे टिकट खिड़की पर बेअसर साबित हुयी। वर्ष 1997 में पूजा ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में कदम रख दिया और तमन्ना का निर्माण किया। इस फिल्म में पूजा ने अभिनय भी किया। इस फिल्म के जरिये उन्होंने एक ऐसे ‘हिजड़े’ की जिंदगी को पेश किया जो समाज के तमाम विरोध के बावजूद एक अनाथ लड़की का पालन-पोषण करता है। हालांकि यह फिल्म टिकट खिड़की पर कोई खास सफल नहीं हुयी लेकिन समीक्षकों का मानना है कि यह फिल्म पूजा भट्ट निर्मित उत्कृष्ट पिल्मों में एक है। वर्ष 1998 में पूजा भट्ट ने जख्म और दुश्मन जैसी सुपरहिट पिल्मों का निर्माण किया। जख्म के जरिये पूजा ने अयोध्या में हुये बावरी मस्जिद विध्वंस के बाद मुंबई में हुये दंगे में एक परिवार को त्रास्दी को रूपहले पर्दे पर पेश किया था। इस फिल्म में पूजा ने अपने संजीदा किरदार से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। वर्ष 2003 में प्रदर्शित फिल्म पाप के जरिये पूजा भट्ट ने निर्देशन के क्षेत्र में भी कदम रख दिया। वर्ष 2012 में फिल्म जिस्म 2 के जरिये पूजा भट्ट ने सन्नी लियोनी को बॉलीवुड में लांच किया। पूजा भट्ट इन दिनों बतौर फिल्मकार फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय हैं।"/> मुंबई, बहुमुखी प्रतिभा की धनी पूजा भट्ट ने न सिर्फ अभिनय बल्कि निर्माण और निर्देशन के तौर पर दर्शको को अपना दीवाना बनाया है। मुंबई में 24 फरवरी 1972 को जन्मीं पूजा ने बतौर अभिनेत्री अपने करियर की शुरूआत अपने पिता महेश भट्ट के निर्देशन में बनी पिल्म डैडी से की। इस पिल्म में पूजा के पिता की भूमिका अनुपम खेर ने निभायी थी। अपनी पहली हीं फिल्म के जरिये पूजा ने दर्शकों के बीच अपने अभिनय का लोहा मनवा लिया। वर्ष 1991 में प्रदर्शित फिल्म ‘दिल है कि मानता नहीं’ पूजा भट्ट के करियर की एक और सुपरहिट पिल्म साबित हुयी। महेश भट्ट निर्देशित इस फिल्म में पूजा के अपोजिट आमिर खान थे। फिल्म की कहानी हॉलीवुड फिल्म ‘इट हैपेंड वन नाईट’ पर आधारित थी। फिल्म में पूजा और आमिर ने अपने चुलबुले अंदाज से दर्शको का दिल जीतकर फिल्म को सुपरहिट बना दिया । वर्ष 1991 में पूजा की एक और सुपरहिट पिल्म सड़क प्रदर्शित हुयी। महेश भट्ट के निर्देशन में बनी इस फिल्म में पूजा की जोड़ी संजय दत्त के साथ काफी पसंद की गयी। वर्ष 1992 में पूजा की फिर तेरी कहानी याद आयी और उसने सर जैसी हिट फिल्मों में काम किया। वर्ष 1992 से वर्ष 1996 के बीच पूजा भट्ट ने तड़ीपार, चोर और चांद, नाराज, गुनेहगार, अंगरक्षक, चाहत, हमदोनों जैसी कुछ फिल्मों में अभिनय किया लेकिन सभी फिल्मे टिकट खिड़की पर बेअसर साबित हुयी। वर्ष 1997 में पूजा ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में कदम रख दिया और तमन्ना का निर्माण किया। इस फिल्म में पूजा ने अभिनय भी किया। इस फिल्म के जरिये उन्होंने एक ऐसे ‘हिजड़े’ की जिंदगी को पेश किया जो समाज के तमाम विरोध के बावजूद एक अनाथ लड़की का पालन-पोषण करता है। हालांकि यह फिल्म टिकट खिड़की पर कोई खास सफल नहीं हुयी लेकिन समीक्षकों का मानना है कि यह फिल्म पूजा भट्ट निर्मित उत्कृष्ट पिल्मों में एक है। वर्ष 1998 में पूजा भट्ट ने जख्म और दुश्मन जैसी सुपरहिट पिल्मों का निर्माण किया। जख्म के जरिये पूजा ने अयोध्या में हुये बावरी मस्जिद विध्वंस के बाद मुंबई में हुये दंगे में एक परिवार को त्रास्दी को रूपहले पर्दे पर पेश किया था। इस फिल्म में पूजा ने अपने संजीदा किरदार से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। वर्ष 2003 में प्रदर्शित फिल्म पाप के जरिये पूजा भट्ट ने निर्देशन के क्षेत्र में भी कदम रख दिया। वर्ष 2012 में फिल्म जिस्म 2 के जरिये पूजा भट्ट ने सन्नी लियोनी को बॉलीवुड में लांच किया। पूजा भट्ट इन दिनों बतौर फिल्मकार फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय हैं।"/> मुंबई, बहुमुखी प्रतिभा की धनी पूजा भट्ट ने न सिर्फ अभिनय बल्कि निर्माण और निर्देशन के तौर पर दर्शको को अपना दीवाना बनाया है। मुंबई में 24 फरवरी 1972 को जन्मीं पूजा ने बतौर अभिनेत्री अपने करियर की शुरूआत अपने पिता महेश भट्ट के निर्देशन में बनी पिल्म डैडी से की। इस पिल्म में पूजा के पिता की भूमिका अनुपम खेर ने निभायी थी। अपनी पहली हीं फिल्म के जरिये पूजा ने दर्शकों के बीच अपने अभिनय का लोहा मनवा लिया। वर्ष 1991 में प्रदर्शित फिल्म ‘दिल है कि मानता नहीं’ पूजा भट्ट के करियर की एक और सुपरहिट पिल्म साबित हुयी। महेश भट्ट निर्देशित इस फिल्म में पूजा के अपोजिट आमिर खान थे। फिल्म की कहानी हॉलीवुड फिल्म ‘इट हैपेंड वन नाईट’ पर आधारित थी। फिल्म में पूजा और आमिर ने अपने चुलबुले अंदाज से दर्शको का दिल जीतकर फिल्म को सुपरहिट बना दिया । वर्ष 1991 में पूजा की एक और सुपरहिट पिल्म सड़क प्रदर्शित हुयी। महेश भट्ट के निर्देशन में बनी इस फिल्म में पूजा की जोड़ी संजय दत्त के साथ काफी पसंद की गयी। वर्ष 1992 में पूजा की फिर तेरी कहानी याद आयी और उसने सर जैसी हिट फिल्मों में काम किया। वर्ष 1992 से वर्ष 1996 के बीच पूजा भट्ट ने तड़ीपार, चोर और चांद, नाराज, गुनेहगार, अंगरक्षक, चाहत, हमदोनों जैसी कुछ फिल्मों में अभिनय किया लेकिन सभी फिल्मे टिकट खिड़की पर बेअसर साबित हुयी। वर्ष 1997 में पूजा ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में कदम रख दिया और तमन्ना का निर्माण किया। इस फिल्म में पूजा ने अभिनय भी किया। इस फिल्म के जरिये उन्होंने एक ऐसे ‘हिजड़े’ की जिंदगी को पेश किया जो समाज के तमाम विरोध के बावजूद एक अनाथ लड़की का पालन-पोषण करता है। हालांकि यह फिल्म टिकट खिड़की पर कोई खास सफल नहीं हुयी लेकिन समीक्षकों का मानना है कि यह फिल्म पूजा भट्ट निर्मित उत्कृष्ट पिल्मों में एक है। वर्ष 1998 में पूजा भट्ट ने जख्म और दुश्मन जैसी सुपरहिट पिल्मों का निर्माण किया। जख्म के जरिये पूजा ने अयोध्या में हुये बावरी मस्जिद विध्वंस के बाद मुंबई में हुये दंगे में एक परिवार को त्रास्दी को रूपहले पर्दे पर पेश किया था। इस फिल्म में पूजा ने अपने संजीदा किरदार से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। वर्ष 2003 में प्रदर्शित फिल्म पाप के जरिये पूजा भट्ट ने निर्देशन के क्षेत्र में भी कदम रख दिया। वर्ष 2012 में फिल्म जिस्म 2 के जरिये पूजा भट्ट ने सन्नी लियोनी को बॉलीवुड में लांच किया। पूजा भट्ट इन दिनों बतौर फिल्मकार फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय हैं।">

बहुमुखी प्रतिभा की धनी हैं पूजा भट्ट

2018/02/23



मुंबई, बहुमुखी प्रतिभा की धनी पूजा भट्ट ने न सिर्फ अभिनय बल्कि निर्माण और निर्देशन के तौर पर दर्शको को अपना दीवाना बनाया है। मुंबई में 24 फरवरी 1972 को जन्मीं पूजा ने बतौर अभिनेत्री अपने करियर की शुरूआत अपने पिता महेश भट्ट के निर्देशन में बनी पिल्म डैडी से की। इस पिल्म में पूजा के पिता की भूमिका अनुपम खेर ने निभायी थी। अपनी पहली हीं फिल्म के जरिये पूजा ने दर्शकों के बीच अपने अभिनय का लोहा मनवा लिया। वर्ष 1991 में प्रदर्शित फिल्म ‘दिल है कि मानता नहीं’ पूजा भट्ट के करियर की एक और सुपरहिट पिल्म साबित हुयी। महेश भट्ट निर्देशित इस फिल्म में पूजा के अपोजिट आमिर खान थे। फिल्म की कहानी हॉलीवुड फिल्म ‘इट हैपेंड वन नाईट’ पर आधारित थी। फिल्म में पूजा और आमिर ने अपने चुलबुले अंदाज से दर्शको का दिल जीतकर फिल्म को सुपरहिट बना दिया । वर्ष 1991 में पूजा की एक और सुपरहिट पिल्म सड़क प्रदर्शित हुयी। महेश भट्ट के निर्देशन में बनी इस फिल्म में पूजा की जोड़ी संजय दत्त के साथ काफी पसंद की गयी। वर्ष 1992 में पूजा की फिर तेरी कहानी याद आयी और उसने सर जैसी हिट फिल्मों में काम किया। वर्ष 1992 से वर्ष 1996 के बीच पूजा भट्ट ने तड़ीपार, चोर और चांद, नाराज, गुनेहगार, अंगरक्षक, चाहत, हमदोनों जैसी कुछ फिल्मों में अभिनय किया लेकिन सभी फिल्मे टिकट खिड़की पर बेअसर साबित हुयी। वर्ष 1997 में पूजा ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में कदम रख दिया और तमन्ना का निर्माण किया। इस फिल्म में पूजा ने अभिनय भी किया। इस फिल्म के जरिये उन्होंने एक ऐसे ‘हिजड़े’ की जिंदगी को पेश किया जो समाज के तमाम विरोध के बावजूद एक अनाथ लड़की का पालन-पोषण करता है। हालांकि यह फिल्म टिकट खिड़की पर कोई खास सफल नहीं हुयी लेकिन समीक्षकों का मानना है कि यह फिल्म पूजा भट्ट निर्मित उत्कृष्ट पिल्मों में एक है। वर्ष 1998 में पूजा भट्ट ने जख्म और दुश्मन जैसी सुपरहिट पिल्मों का निर्माण किया। जख्म के जरिये पूजा ने अयोध्या में हुये बावरी मस्जिद विध्वंस के बाद मुंबई में हुये दंगे में एक परिवार को त्रास्दी को रूपहले पर्दे पर पेश किया था। इस फिल्म में पूजा ने अपने संजीदा किरदार से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। वर्ष 2003 में प्रदर्शित फिल्म पाप के जरिये पूजा भट्ट ने निर्देशन के क्षेत्र में भी कदम रख दिया। वर्ष 2012 में फिल्म जिस्म 2 के जरिये पूजा भट्ट ने सन्नी लियोनी को बॉलीवुड में लांच किया। पूजा भट्ट इन दिनों बतौर फिल्मकार फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय हैं।


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts