Breaking News :

थैलेसिमिया से है पीडि़त भोपाल, सिंधु सेना के अध्यक्ष, राकेश कुकरेजा एवं सिंधु सेना के सभी साथियों ने भोपाल स्टेशन पहुंचकर तरूण एवं उसकी बड़ी बहन तमन्ना को हार-फूल माला पहनाकर एवं तिलक लगाकर तरूण की लंबी उम्र की कामना करते हुए वैलूर, मद्रास के लिए रवाना किया. सिंधु सेना के अध्यक्ष राकेश कुकरेजा ने बताया कि दीपक परियानी एक निम्न परिवार से आते है और ऑपरेशन में 20 लाख का खर्चा था तो भोपाल के संत नगर की कई संस्थाओं ने आगे बढ़कर तरूण के ऑपरेशन के लिए आर्थिक मदद की एवं उसकी लंबी उम्र की कामना की जिसके लिए सिंधु सेना के सदस्यों ने भी तरूण के ऑपरेशन के लिए एक लाख की आर्थिक मदद की एवं सिंधु सेना के अध्यक्ष, राकेश कुकरेजा ने उन सभी संस्थाओं का आभार व्यक्त किया जिन्होंने तरूण की आर्थिक मदद की. तरूण के पिता दीपक परियानी ने बताया कि मैं संत नगर का निवासी हॅूं मेरा तीन वर्ष का बेटा, तरूण थैलेसीमिया बीमारी से पीडि़त है. उसे हर 15 दिन में ब्लड चढ़वाना पड़ता था एवं डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि बच्चे का बोन मैरो ट्रांसप्लांट करवाना होगा यह भाग्य की बात है कि तरूण की बड़ी बहन तमन्ना का बोन मैरो तरूण से 100 फीसद मैच हो गया. वह अपने भाई तरूण को बोन मैरो डोनेट करेगी. इसके लिए क्रिश्चयन मेडिकल कॉलेज, सीएमसी वैलूर, मद्रास हॉस्पिटल के लिए बुधवार रात्रि में रवाना हुए है."/> थैलेसिमिया से है पीडि़त भोपाल, सिंधु सेना के अध्यक्ष, राकेश कुकरेजा एवं सिंधु सेना के सभी साथियों ने भोपाल स्टेशन पहुंचकर तरूण एवं उसकी बड़ी बहन तमन्ना को हार-फूल माला पहनाकर एवं तिलक लगाकर तरूण की लंबी उम्र की कामना करते हुए वैलूर, मद्रास के लिए रवाना किया. सिंधु सेना के अध्यक्ष राकेश कुकरेजा ने बताया कि दीपक परियानी एक निम्न परिवार से आते है और ऑपरेशन में 20 लाख का खर्चा था तो भोपाल के संत नगर की कई संस्थाओं ने आगे बढ़कर तरूण के ऑपरेशन के लिए आर्थिक मदद की एवं उसकी लंबी उम्र की कामना की जिसके लिए सिंधु सेना के सदस्यों ने भी तरूण के ऑपरेशन के लिए एक लाख की आर्थिक मदद की एवं सिंधु सेना के अध्यक्ष, राकेश कुकरेजा ने उन सभी संस्थाओं का आभार व्यक्त किया जिन्होंने तरूण की आर्थिक मदद की. तरूण के पिता दीपक परियानी ने बताया कि मैं संत नगर का निवासी हॅूं मेरा तीन वर्ष का बेटा, तरूण थैलेसीमिया बीमारी से पीडि़त है. उसे हर 15 दिन में ब्लड चढ़वाना पड़ता था एवं डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि बच्चे का बोन मैरो ट्रांसप्लांट करवाना होगा यह भाग्य की बात है कि तरूण की बड़ी बहन तमन्ना का बोन मैरो तरूण से 100 फीसद मैच हो गया. वह अपने भाई तरूण को बोन मैरो डोनेट करेगी. इसके लिए क्रिश्चयन मेडिकल कॉलेज, सीएमसी वैलूर, मद्रास हॉस्पिटल के लिए बुधवार रात्रि में रवाना हुए है."/> थैलेसिमिया से है पीडि़त भोपाल, सिंधु सेना के अध्यक्ष, राकेश कुकरेजा एवं सिंधु सेना के सभी साथियों ने भोपाल स्टेशन पहुंचकर तरूण एवं उसकी बड़ी बहन तमन्ना को हार-फूल माला पहनाकर एवं तिलक लगाकर तरूण की लंबी उम्र की कामना करते हुए वैलूर, मद्रास के लिए रवाना किया. सिंधु सेना के अध्यक्ष राकेश कुकरेजा ने बताया कि दीपक परियानी एक निम्न परिवार से आते है और ऑपरेशन में 20 लाख का खर्चा था तो भोपाल के संत नगर की कई संस्थाओं ने आगे बढ़कर तरूण के ऑपरेशन के लिए आर्थिक मदद की एवं उसकी लंबी उम्र की कामना की जिसके लिए सिंधु सेना के सदस्यों ने भी तरूण के ऑपरेशन के लिए एक लाख की आर्थिक मदद की एवं सिंधु सेना के अध्यक्ष, राकेश कुकरेजा ने उन सभी संस्थाओं का आभार व्यक्त किया जिन्होंने तरूण की आर्थिक मदद की. तरूण के पिता दीपक परियानी ने बताया कि मैं संत नगर का निवासी हॅूं मेरा तीन वर्ष का बेटा, तरूण थैलेसीमिया बीमारी से पीडि़त है. उसे हर 15 दिन में ब्लड चढ़वाना पड़ता था एवं डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि बच्चे का बोन मैरो ट्रांसप्लांट करवाना होगा यह भाग्य की बात है कि तरूण की बड़ी बहन तमन्ना का बोन मैरो तरूण से 100 फीसद मैच हो गया. वह अपने भाई तरूण को बोन मैरो डोनेट करेगी. इसके लिए क्रिश्चयन मेडिकल कॉलेज, सीएमसी वैलूर, मद्रास हॉस्पिटल के लिए बुधवार रात्रि में रवाना हुए है.">

बहन का बोनमैरो भाई को देगा नई जिंदगी

2017/11/24



थैलेसिमिया से है पीडि़त भोपाल, सिंधु सेना के अध्यक्ष, राकेश कुकरेजा एवं सिंधु सेना के सभी साथियों ने भोपाल स्टेशन पहुंचकर तरूण एवं उसकी बड़ी बहन तमन्ना को हार-फूल माला पहनाकर एवं तिलक लगाकर तरूण की लंबी उम्र की कामना करते हुए वैलूर, मद्रास के लिए रवाना किया. सिंधु सेना के अध्यक्ष राकेश कुकरेजा ने बताया कि दीपक परियानी एक निम्न परिवार से आते है और ऑपरेशन में 20 लाख का खर्चा था तो भोपाल के संत नगर की कई संस्थाओं ने आगे बढ़कर तरूण के ऑपरेशन के लिए आर्थिक मदद की एवं उसकी लंबी उम्र की कामना की जिसके लिए सिंधु सेना के सदस्यों ने भी तरूण के ऑपरेशन के लिए एक लाख की आर्थिक मदद की एवं सिंधु सेना के अध्यक्ष, राकेश कुकरेजा ने उन सभी संस्थाओं का आभार व्यक्त किया जिन्होंने तरूण की आर्थिक मदद की. तरूण के पिता दीपक परियानी ने बताया कि मैं संत नगर का निवासी हॅूं मेरा तीन वर्ष का बेटा, तरूण थैलेसीमिया बीमारी से पीडि़त है. उसे हर 15 दिन में ब्लड चढ़वाना पड़ता था एवं डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि बच्चे का बोन मैरो ट्रांसप्लांट करवाना होगा यह भाग्य की बात है कि तरूण की बड़ी बहन तमन्ना का बोन मैरो तरूण से 100 फीसद मैच हो गया. वह अपने भाई तरूण को बोन मैरो डोनेट करेगी. इसके लिए क्रिश्चयन मेडिकल कॉलेज, सीएमसी वैलूर, मद्रास हॉस्पिटल के लिए बुधवार रात्रि में रवाना हुए है.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts