Breaking News :

नवभारत न्यूज भोपाल, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के अभिभाषण के साथ ही मध्य प्रदेश विधानसभा आज के बजट सत्र की शुरुआत हो गई. विधानसभा की कार्यवाही के साथ जैसे ही राज्यपाल का अभिभाषण शुरू हुआ. वैसे ही विपक्षी कांग्रेस विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया गया. उन्होंने किसानों के मुद्दों पर कागज लहराकर नारेबाजी की. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के लगभग 19 मिनट के अभिभाषण में करीब 10 मिनट तक शोर शराबा होता रहा. राज्यपाल के अभिभाषण के साथ ही सदन की कार्यवाही एक दिन के लिए स्थगित कर दी गई. मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले शिवराज सरकार का अंतिम बजट है. वित्तमंत्री जयंत मलैया 28 फरवरी को बजट पेश करेंगे. लेकिन जैसे ही राज्यपाल ने अभिभाषण शुरू करते हुए सरकार की उपलब्धियां गिनाना शुरू किया कांग्रेस के विधायक टोका टाकी करते हुए विरोध जताने लगे. सरकार की किसानों के प्रति नीतियों को झूठ का पुलिंदा बताते हुए अभिभाषण समाप्त होने के बाद कांग्रेस के विधायकों ने किसानों का पूर्ण कर्जा माफ करो, जय जवान-जय किसान के नारे भी लगाए. कांग्रेस विधायक सुंदरलाल तिवारी रीवा जिले से विधायक हैं. उन्होंने आबकारी नीति को लेकर विरोध जताया. जबकि विधायक शैलेंद्र पटेल और जीतू पटवारी ने किसानों के भावांतरण के मुददे को लेकर विरोध किया. पटवारी ने तो बकायदे पर्चे दिखा कर सरकार द्वारा किए जा रहे दावों की खिलाफत की है."/> नवभारत न्यूज भोपाल, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के अभिभाषण के साथ ही मध्य प्रदेश विधानसभा आज के बजट सत्र की शुरुआत हो गई. विधानसभा की कार्यवाही के साथ जैसे ही राज्यपाल का अभिभाषण शुरू हुआ. वैसे ही विपक्षी कांग्रेस विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया गया. उन्होंने किसानों के मुद्दों पर कागज लहराकर नारेबाजी की. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के लगभग 19 मिनट के अभिभाषण में करीब 10 मिनट तक शोर शराबा होता रहा. राज्यपाल के अभिभाषण के साथ ही सदन की कार्यवाही एक दिन के लिए स्थगित कर दी गई. मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले शिवराज सरकार का अंतिम बजट है. वित्तमंत्री जयंत मलैया 28 फरवरी को बजट पेश करेंगे. लेकिन जैसे ही राज्यपाल ने अभिभाषण शुरू करते हुए सरकार की उपलब्धियां गिनाना शुरू किया कांग्रेस के विधायक टोका टाकी करते हुए विरोध जताने लगे. सरकार की किसानों के प्रति नीतियों को झूठ का पुलिंदा बताते हुए अभिभाषण समाप्त होने के बाद कांग्रेस के विधायकों ने किसानों का पूर्ण कर्जा माफ करो, जय जवान-जय किसान के नारे भी लगाए. कांग्रेस विधायक सुंदरलाल तिवारी रीवा जिले से विधायक हैं. उन्होंने आबकारी नीति को लेकर विरोध जताया. जबकि विधायक शैलेंद्र पटेल और जीतू पटवारी ने किसानों के भावांतरण के मुददे को लेकर विरोध किया. पटवारी ने तो बकायदे पर्चे दिखा कर सरकार द्वारा किए जा रहे दावों की खिलाफत की है."/> नवभारत न्यूज भोपाल, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के अभिभाषण के साथ ही मध्य प्रदेश विधानसभा आज के बजट सत्र की शुरुआत हो गई. विधानसभा की कार्यवाही के साथ जैसे ही राज्यपाल का अभिभाषण शुरू हुआ. वैसे ही विपक्षी कांग्रेस विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया गया. उन्होंने किसानों के मुद्दों पर कागज लहराकर नारेबाजी की. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के लगभग 19 मिनट के अभिभाषण में करीब 10 मिनट तक शोर शराबा होता रहा. राज्यपाल के अभिभाषण के साथ ही सदन की कार्यवाही एक दिन के लिए स्थगित कर दी गई. मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले शिवराज सरकार का अंतिम बजट है. वित्तमंत्री जयंत मलैया 28 फरवरी को बजट पेश करेंगे. लेकिन जैसे ही राज्यपाल ने अभिभाषण शुरू करते हुए सरकार की उपलब्धियां गिनाना शुरू किया कांग्रेस के विधायक टोका टाकी करते हुए विरोध जताने लगे. सरकार की किसानों के प्रति नीतियों को झूठ का पुलिंदा बताते हुए अभिभाषण समाप्त होने के बाद कांग्रेस के विधायकों ने किसानों का पूर्ण कर्जा माफ करो, जय जवान-जय किसान के नारे भी लगाए. कांग्रेस विधायक सुंदरलाल तिवारी रीवा जिले से विधायक हैं. उन्होंने आबकारी नीति को लेकर विरोध जताया. जबकि विधायक शैलेंद्र पटेल और जीतू पटवारी ने किसानों के भावांतरण के मुददे को लेकर विरोध किया. पटवारी ने तो बकायदे पर्चे दिखा कर सरकार द्वारा किए जा रहे दावों की खिलाफत की है.">

बजट अभिभाषण: कांग्रेस विधायकों का हंगामा

2018/02/27



  • 19 मिनट के भाषण में करीब 10 मिनट हुआ हंगामा
  • किसानों के मुद्दे पर कांग्रेस विधायकों ने दिखाए पर्चे
  • राज्यपाल के अभिभाषण के साथ ही सदन कार्रवाई स्थगित
नवभारत न्यूज भोपाल, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के अभिभाषण के साथ ही मध्य प्रदेश विधानसभा आज के बजट सत्र की शुरुआत हो गई. विधानसभा की कार्यवाही के साथ जैसे ही राज्यपाल का अभिभाषण शुरू हुआ. वैसे ही विपक्षी कांग्रेस विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया गया. उन्होंने किसानों के मुद्दों पर कागज लहराकर नारेबाजी की. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के लगभग 19 मिनट के अभिभाषण में करीब 10 मिनट तक शोर शराबा होता रहा. राज्यपाल के अभिभाषण के साथ ही सदन की कार्यवाही एक दिन के लिए स्थगित कर दी गई. मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले शिवराज सरकार का अंतिम बजट है. वित्तमंत्री जयंत मलैया 28 फरवरी को बजट पेश करेंगे. लेकिन जैसे ही राज्यपाल ने अभिभाषण शुरू करते हुए सरकार की उपलब्धियां गिनाना शुरू किया कांग्रेस के विधायक टोका टाकी करते हुए विरोध जताने लगे. सरकार की किसानों के प्रति नीतियों को झूठ का पुलिंदा बताते हुए अभिभाषण समाप्त होने के बाद कांग्रेस के विधायकों ने किसानों का पूर्ण कर्जा माफ करो, जय जवान-जय किसान के नारे भी लगाए. कांग्रेस विधायक सुंदरलाल तिवारी रीवा जिले से विधायक हैं. उन्होंने आबकारी नीति को लेकर विरोध जताया. जबकि विधायक शैलेंद्र पटेल और जीतू पटवारी ने किसानों के भावांतरण के मुददे को लेकर विरोध किया. पटवारी ने तो बकायदे पर्चे दिखा कर सरकार द्वारा किए जा रहे दावों की खिलाफत की है.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts