Breaking News :

मास्को, काला सागर में तैनात रूसी नौसैनिक बलों को गुरुवार को शुरू हुए फुटबाल विश्वकप में बाधा डालने की कोशिश करने से यूक्रेन काे राेकने के लिए अत्यधिक चौकस रहने काे कहा गया है। रूसी सेना के करीबी सूत्रों ने यह जानकारी दी। रक्षा मंत्रालय ने हालांकि एक बयान में ऐसी रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा,“काला सागर में तैनात बेड़ा नियमित तरीके से काम कर रही है। उन्हें हाई अलर्ट पर रखने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है।” दूसरी ओर सैन्य सूत्रों ने कहा कि इस बात को लेकर चिंता थी कि यूक्रेन इस क्षेत्र में अपनी सैन्य उपस्थिति को टूर्नामेंट के दौरान ‘उत्तेजना’ भड़काने के तौर पर बढ़ा रहा था। सूत्रों ने कहा कि काला सागर क्रिमीया प्रायद्वीप के आसपास रूस की सेनाओं को उच्च प्रतिरोधक तत्परता की स्थिति में रखा गया है। उन्होंने कहा कि यह टूर्नामेंट से जुड़ा हुआ है। सूत्रों में से एक ने नाम नहीं लिखने की शर्त पर कहा, “विश्व कप और क्रिमियन तट के आसपास यूक्रेन द्वारा संभावित उत्तेजनाओं की आशंका के कारण, कमांडरों ने बेड़े के सैन्य तैयारी के स्तर को बढ़ाने का फैसला लिया गया।”"/> मास्को, काला सागर में तैनात रूसी नौसैनिक बलों को गुरुवार को शुरू हुए फुटबाल विश्वकप में बाधा डालने की कोशिश करने से यूक्रेन काे राेकने के लिए अत्यधिक चौकस रहने काे कहा गया है। रूसी सेना के करीबी सूत्रों ने यह जानकारी दी। रक्षा मंत्रालय ने हालांकि एक बयान में ऐसी रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा,“काला सागर में तैनात बेड़ा नियमित तरीके से काम कर रही है। उन्हें हाई अलर्ट पर रखने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है।” दूसरी ओर सैन्य सूत्रों ने कहा कि इस बात को लेकर चिंता थी कि यूक्रेन इस क्षेत्र में अपनी सैन्य उपस्थिति को टूर्नामेंट के दौरान ‘उत्तेजना’ भड़काने के तौर पर बढ़ा रहा था। सूत्रों ने कहा कि काला सागर क्रिमीया प्रायद्वीप के आसपास रूस की सेनाओं को उच्च प्रतिरोधक तत्परता की स्थिति में रखा गया है। उन्होंने कहा कि यह टूर्नामेंट से जुड़ा हुआ है। सूत्रों में से एक ने नाम नहीं लिखने की शर्त पर कहा, “विश्व कप और क्रिमियन तट के आसपास यूक्रेन द्वारा संभावित उत्तेजनाओं की आशंका के कारण, कमांडरों ने बेड़े के सैन्य तैयारी के स्तर को बढ़ाने का फैसला लिया गया।”"/> मास्को, काला सागर में तैनात रूसी नौसैनिक बलों को गुरुवार को शुरू हुए फुटबाल विश्वकप में बाधा डालने की कोशिश करने से यूक्रेन काे राेकने के लिए अत्यधिक चौकस रहने काे कहा गया है। रूसी सेना के करीबी सूत्रों ने यह जानकारी दी। रक्षा मंत्रालय ने हालांकि एक बयान में ऐसी रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा,“काला सागर में तैनात बेड़ा नियमित तरीके से काम कर रही है। उन्हें हाई अलर्ट पर रखने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है।” दूसरी ओर सैन्य सूत्रों ने कहा कि इस बात को लेकर चिंता थी कि यूक्रेन इस क्षेत्र में अपनी सैन्य उपस्थिति को टूर्नामेंट के दौरान ‘उत्तेजना’ भड़काने के तौर पर बढ़ा रहा था। सूत्रों ने कहा कि काला सागर क्रिमीया प्रायद्वीप के आसपास रूस की सेनाओं को उच्च प्रतिरोधक तत्परता की स्थिति में रखा गया है। उन्होंने कहा कि यह टूर्नामेंट से जुड़ा हुआ है। सूत्रों में से एक ने नाम नहीं लिखने की शर्त पर कहा, “विश्व कप और क्रिमियन तट के आसपास यूक्रेन द्वारा संभावित उत्तेजनाओं की आशंका के कारण, कमांडरों ने बेड़े के सैन्य तैयारी के स्तर को बढ़ाने का फैसला लिया गया।”">

फुटबाल विश्व कप को लेकर यूक्रेन तट के पास रूसी नौसेना हाई अलर्ट पर

2018/06/15



मास्को, काला सागर में तैनात रूसी नौसैनिक बलों को गुरुवार को शुरू हुए फुटबाल विश्वकप में बाधा डालने की कोशिश करने से यूक्रेन काे राेकने के लिए अत्यधिक चौकस रहने काे कहा गया है। रूसी सेना के करीबी सूत्रों ने यह जानकारी दी। रक्षा मंत्रालय ने हालांकि एक बयान में ऐसी रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा,“काला सागर में तैनात बेड़ा नियमित तरीके से काम कर रही है। उन्हें हाई अलर्ट पर रखने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है।” दूसरी ओर सैन्य सूत्रों ने कहा कि इस बात को लेकर चिंता थी कि यूक्रेन इस क्षेत्र में अपनी सैन्य उपस्थिति को टूर्नामेंट के दौरान ‘उत्तेजना’ भड़काने के तौर पर बढ़ा रहा था। सूत्रों ने कहा कि काला सागर क्रिमीया प्रायद्वीप के आसपास रूस की सेनाओं को उच्च प्रतिरोधक तत्परता की स्थिति में रखा गया है। उन्होंने कहा कि यह टूर्नामेंट से जुड़ा हुआ है। सूत्रों में से एक ने नाम नहीं लिखने की शर्त पर कहा, “विश्व कप और क्रिमियन तट के आसपास यूक्रेन द्वारा संभावित उत्तेजनाओं की आशंका के कारण, कमांडरों ने बेड़े के सैन्य तैयारी के स्तर को बढ़ाने का फैसला लिया गया।”


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts