Breaking News :

शरारती तत्व फैला रहे भ्रामक जानकारी भोपाल, प्रदेश में 27 नबंबर को प्रायवेट कॉलेजों में चुनाव होने जा रहे हैं, कॉलेजों में 20 नबंबर से आचार संहिता लग जायेगी, इसीलिए चुनाव के कारण प्रदेश के महाराज छत्रसाल विश्व विद्यालय, देवी अहिल्याबाई विश्व विद्यालय, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय समेत अन्य विश्वविद्यालयों ने चुनावों के कारण परीक्षायें स्थगित कर दी हैं. शहर के बरकतउल्ला विश्वविद्यालय ने भी 18 नबंबर को आदेश जारी कर 20 नबंबर से 30 नबंबर तक होने वाली परीक्षाओं को स्थगित कर दिया हैं.विश्वविद्यालय के आदेश की प्रति की नकल करते हुये शरारती तत्वों ने एक भ्रामक पत्र जारी कर विश्वविद्यालय में होने वाली परीक्षाओं को यथास्थिति रखने की बात लिखी है. यह फर्जी पत्र बीयू के कुलसचिव के हस्ताक्षर के साथ सोशल मीडिय़ा पर वायरल हो रहा हैं, जिसके कारण बीयू के अधीनस्थ कॉलेजों के छात्र- छात्राओं में भ्रम की स्थिति है, यही कारण हैं कि बीयू मैनेंजमेन्ट ने रविवार को अवकाश होने के बावजूद एक आदेश जारी कर अज्ञात शरारती तत्वों पर कार्यवाही करने की बात की हैं. वॉटसएप पर हुई थी वायरल बीयू कुलसचिव यूएन शुक्ला के हस्ताक्षर के साथ एक फर्जी आदेश जारी हुआ है, जिसे अज्ञात शरारती तत्वों ने बनाया हैं, जिसमें परीक्षाये पूर्व अनुसार रहेगी ऐसा लिखा है, यह भ्रामक जानकारी वॉटसएप पर वायरल हो रही हैं. जिससे लाखो छात्र - छात्रायें परेशान हो रहे है, विवि के जिम्मेदार व्यक्तियों से जब फर्जी पोस्ट को लेकर जानकारी मांगी गयी, तो रविवार को अवकाश होने के बाद भी विवि ने कुलसचिव के नाम से एक सूचना जारी की हैं, जिसमें सोशल मीडिय़ा पर वायरल हो रही सूचना को गलत एवं भ्रामक बताया हैं. विवि प्रशासन भ्रामक जानकारी बनाने वालों पर कार्यवाही करने की बात कर रहा हैं, पर अभी तक शरारती तत्वों पर कार्यवाही नहीं की गयी हैं."/> शरारती तत्व फैला रहे भ्रामक जानकारी भोपाल, प्रदेश में 27 नबंबर को प्रायवेट कॉलेजों में चुनाव होने जा रहे हैं, कॉलेजों में 20 नबंबर से आचार संहिता लग जायेगी, इसीलिए चुनाव के कारण प्रदेश के महाराज छत्रसाल विश्व विद्यालय, देवी अहिल्याबाई विश्व विद्यालय, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय समेत अन्य विश्वविद्यालयों ने चुनावों के कारण परीक्षायें स्थगित कर दी हैं. शहर के बरकतउल्ला विश्वविद्यालय ने भी 18 नबंबर को आदेश जारी कर 20 नबंबर से 30 नबंबर तक होने वाली परीक्षाओं को स्थगित कर दिया हैं.विश्वविद्यालय के आदेश की प्रति की नकल करते हुये शरारती तत्वों ने एक भ्रामक पत्र जारी कर विश्वविद्यालय में होने वाली परीक्षाओं को यथास्थिति रखने की बात लिखी है. यह फर्जी पत्र बीयू के कुलसचिव के हस्ताक्षर के साथ सोशल मीडिय़ा पर वायरल हो रहा हैं, जिसके कारण बीयू के अधीनस्थ कॉलेजों के छात्र- छात्राओं में भ्रम की स्थिति है, यही कारण हैं कि बीयू मैनेंजमेन्ट ने रविवार को अवकाश होने के बावजूद एक आदेश जारी कर अज्ञात शरारती तत्वों पर कार्यवाही करने की बात की हैं. वॉटसएप पर हुई थी वायरल बीयू कुलसचिव यूएन शुक्ला के हस्ताक्षर के साथ एक फर्जी आदेश जारी हुआ है, जिसे अज्ञात शरारती तत्वों ने बनाया हैं, जिसमें परीक्षाये पूर्व अनुसार रहेगी ऐसा लिखा है, यह भ्रामक जानकारी वॉटसएप पर वायरल हो रही हैं. जिससे लाखो छात्र - छात्रायें परेशान हो रहे है, विवि के जिम्मेदार व्यक्तियों से जब फर्जी पोस्ट को लेकर जानकारी मांगी गयी, तो रविवार को अवकाश होने के बाद भी विवि ने कुलसचिव के नाम से एक सूचना जारी की हैं, जिसमें सोशल मीडिय़ा पर वायरल हो रही सूचना को गलत एवं भ्रामक बताया हैं. विवि प्रशासन भ्रामक जानकारी बनाने वालों पर कार्यवाही करने की बात कर रहा हैं, पर अभी तक शरारती तत्वों पर कार्यवाही नहीं की गयी हैं."/> शरारती तत्व फैला रहे भ्रामक जानकारी भोपाल, प्रदेश में 27 नबंबर को प्रायवेट कॉलेजों में चुनाव होने जा रहे हैं, कॉलेजों में 20 नबंबर से आचार संहिता लग जायेगी, इसीलिए चुनाव के कारण प्रदेश के महाराज छत्रसाल विश्व विद्यालय, देवी अहिल्याबाई विश्व विद्यालय, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय समेत अन्य विश्वविद्यालयों ने चुनावों के कारण परीक्षायें स्थगित कर दी हैं. शहर के बरकतउल्ला विश्वविद्यालय ने भी 18 नबंबर को आदेश जारी कर 20 नबंबर से 30 नबंबर तक होने वाली परीक्षाओं को स्थगित कर दिया हैं.विश्वविद्यालय के आदेश की प्रति की नकल करते हुये शरारती तत्वों ने एक भ्रामक पत्र जारी कर विश्वविद्यालय में होने वाली परीक्षाओं को यथास्थिति रखने की बात लिखी है. यह फर्जी पत्र बीयू के कुलसचिव के हस्ताक्षर के साथ सोशल मीडिय़ा पर वायरल हो रहा हैं, जिसके कारण बीयू के अधीनस्थ कॉलेजों के छात्र- छात्राओं में भ्रम की स्थिति है, यही कारण हैं कि बीयू मैनेंजमेन्ट ने रविवार को अवकाश होने के बावजूद एक आदेश जारी कर अज्ञात शरारती तत्वों पर कार्यवाही करने की बात की हैं. वॉटसएप पर हुई थी वायरल बीयू कुलसचिव यूएन शुक्ला के हस्ताक्षर के साथ एक फर्जी आदेश जारी हुआ है, जिसे अज्ञात शरारती तत्वों ने बनाया हैं, जिसमें परीक्षाये पूर्व अनुसार रहेगी ऐसा लिखा है, यह भ्रामक जानकारी वॉटसएप पर वायरल हो रही हैं. जिससे लाखो छात्र - छात्रायें परेशान हो रहे है, विवि के जिम्मेदार व्यक्तियों से जब फर्जी पोस्ट को लेकर जानकारी मांगी गयी, तो रविवार को अवकाश होने के बाद भी विवि ने कुलसचिव के नाम से एक सूचना जारी की हैं, जिसमें सोशल मीडिय़ा पर वायरल हो रही सूचना को गलत एवं भ्रामक बताया हैं. विवि प्रशासन भ्रामक जानकारी बनाने वालों पर कार्यवाही करने की बात कर रहा हैं, पर अभी तक शरारती तत्वों पर कार्यवाही नहीं की गयी हैं.">

फर्जी हस्ताक्षर से जारी हुई अधिसूचना

2017/11/20



शरारती तत्व फैला रहे भ्रामक जानकारी भोपाल, प्रदेश में 27 नबंबर को प्रायवेट कॉलेजों में चुनाव होने जा रहे हैं, कॉलेजों में 20 नबंबर से आचार संहिता लग जायेगी, इसीलिए चुनाव के कारण प्रदेश के महाराज छत्रसाल विश्व विद्यालय, देवी अहिल्याबाई विश्व विद्यालय, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय समेत अन्य विश्वविद्यालयों ने चुनावों के कारण परीक्षायें स्थगित कर दी हैं. शहर के बरकतउल्ला विश्वविद्यालय ने भी 18 नबंबर को आदेश जारी कर 20 नबंबर से 30 नबंबर तक होने वाली परीक्षाओं को स्थगित कर दिया हैं.विश्वविद्यालय के आदेश की प्रति की नकल करते हुये शरारती तत्वों ने एक भ्रामक पत्र जारी कर विश्वविद्यालय में होने वाली परीक्षाओं को यथास्थिति रखने की बात लिखी है. यह फर्जी पत्र बीयू के कुलसचिव के हस्ताक्षर के साथ सोशल मीडिय़ा पर वायरल हो रहा हैं, जिसके कारण बीयू के अधीनस्थ कॉलेजों के छात्र- छात्राओं में भ्रम की स्थिति है, यही कारण हैं कि बीयू मैनेंजमेन्ट ने रविवार को अवकाश होने के बावजूद एक आदेश जारी कर अज्ञात शरारती तत्वों पर कार्यवाही करने की बात की हैं. वॉटसएप पर हुई थी वायरल बीयू कुलसचिव यूएन शुक्ला के हस्ताक्षर के साथ एक फर्जी आदेश जारी हुआ है, जिसे अज्ञात शरारती तत्वों ने बनाया हैं, जिसमें परीक्षाये पूर्व अनुसार रहेगी ऐसा लिखा है, यह भ्रामक जानकारी वॉटसएप पर वायरल हो रही हैं. जिससे लाखो छात्र - छात्रायें परेशान हो रहे है, विवि के जिम्मेदार व्यक्तियों से जब फर्जी पोस्ट को लेकर जानकारी मांगी गयी, तो रविवार को अवकाश होने के बाद भी विवि ने कुलसचिव के नाम से एक सूचना जारी की हैं, जिसमें सोशल मीडिय़ा पर वायरल हो रही सूचना को गलत एवं भ्रामक बताया हैं. विवि प्रशासन भ्रामक जानकारी बनाने वालों पर कार्यवाही करने की बात कर रहा हैं, पर अभी तक शरारती तत्वों पर कार्यवाही नहीं की गयी हैं.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts