Breaking News :

जबलपुर के व्यक्ति के कहने पर लेने गया था जमानत नवभारत न्यूज भाोपाल, फर्जी जमानतदार सोहनलाल भट्ट ने पूछताछ में कई खुलासे किए हैं. आरोपी ने बताया है कि उससे इटारसी व जबलपुर से जमानत कराने को कहा गया था, जिसके चलते वह कोर्ट में जमानत लेने गया था. पुलिस ने आरोपी को 25 दिसंबर तक पुलिस रिमांड पर लिया है. फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है. गौरतलब है कि जेल में बंद एक आरोपी की जमानत के लिए सोहनलाल भट्ट निवासी जबलपुर ने जमानत के लिए आवेदन किया था, लेकिन न्यायाधीश को कुछ शक होने पर दस्तावेजों की जांच के लिए एमपी नगर थाने को आदेशित किया गया था. जब पुलिस ने जांच की तो ऋण पुस्तिका फर्जी निकली. इसके बाद पुलिस ने जमानत लेेने का प्रयास कर रहे सोहनलाल भट्ट को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसे जबलपुर व इटारसी के कुछ लोगों ने जमानत लेने के लिए कहा था, जिसके चलते वह जमानत लेने आया था. पुलिस को उम्मीद है कि आरोपी ने इसी तरह से कई और फर्जी जमानते भी कराई हैं. वहीं पुलिस की एक टीम शनिवार को जबलपुर व इटारसी के लिए जाएगी. पुलिस यह भी तलाश कर रही है कि आखिर सोहनलाल को ऋण पुस्तिका बनाने में उसकी किस किस ने मदद की."/> जबलपुर के व्यक्ति के कहने पर लेने गया था जमानत नवभारत न्यूज भाोपाल, फर्जी जमानतदार सोहनलाल भट्ट ने पूछताछ में कई खुलासे किए हैं. आरोपी ने बताया है कि उससे इटारसी व जबलपुर से जमानत कराने को कहा गया था, जिसके चलते वह कोर्ट में जमानत लेने गया था. पुलिस ने आरोपी को 25 दिसंबर तक पुलिस रिमांड पर लिया है. फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है. गौरतलब है कि जेल में बंद एक आरोपी की जमानत के लिए सोहनलाल भट्ट निवासी जबलपुर ने जमानत के लिए आवेदन किया था, लेकिन न्यायाधीश को कुछ शक होने पर दस्तावेजों की जांच के लिए एमपी नगर थाने को आदेशित किया गया था. जब पुलिस ने जांच की तो ऋण पुस्तिका फर्जी निकली. इसके बाद पुलिस ने जमानत लेेने का प्रयास कर रहे सोहनलाल भट्ट को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसे जबलपुर व इटारसी के कुछ लोगों ने जमानत लेने के लिए कहा था, जिसके चलते वह जमानत लेने आया था. पुलिस को उम्मीद है कि आरोपी ने इसी तरह से कई और फर्जी जमानते भी कराई हैं. वहीं पुलिस की एक टीम शनिवार को जबलपुर व इटारसी के लिए जाएगी. पुलिस यह भी तलाश कर रही है कि आखिर सोहनलाल को ऋण पुस्तिका बनाने में उसकी किस किस ने मदद की."/> जबलपुर के व्यक्ति के कहने पर लेने गया था जमानत नवभारत न्यूज भाोपाल, फर्जी जमानतदार सोहनलाल भट्ट ने पूछताछ में कई खुलासे किए हैं. आरोपी ने बताया है कि उससे इटारसी व जबलपुर से जमानत कराने को कहा गया था, जिसके चलते वह कोर्ट में जमानत लेने गया था. पुलिस ने आरोपी को 25 दिसंबर तक पुलिस रिमांड पर लिया है. फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है. गौरतलब है कि जेल में बंद एक आरोपी की जमानत के लिए सोहनलाल भट्ट निवासी जबलपुर ने जमानत के लिए आवेदन किया था, लेकिन न्यायाधीश को कुछ शक होने पर दस्तावेजों की जांच के लिए एमपी नगर थाने को आदेशित किया गया था. जब पुलिस ने जांच की तो ऋण पुस्तिका फर्जी निकली. इसके बाद पुलिस ने जमानत लेेने का प्रयास कर रहे सोहनलाल भट्ट को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसे जबलपुर व इटारसी के कुछ लोगों ने जमानत लेने के लिए कहा था, जिसके चलते वह जमानत लेने आया था. पुलिस को उम्मीद है कि आरोपी ने इसी तरह से कई और फर्जी जमानते भी कराई हैं. वहीं पुलिस की एक टीम शनिवार को जबलपुर व इटारसी के लिए जाएगी. पुलिस यह भी तलाश कर रही है कि आखिर सोहनलाल को ऋण पुस्तिका बनाने में उसकी किस किस ने मदद की.">

फर्जी जमानतदार 25 तक पुलिस रिमांड पर

2017/12/23



जबलपुर के व्यक्ति के कहने पर लेने गया था जमानत नवभारत न्यूज भाोपाल, फर्जी जमानतदार सोहनलाल भट्ट ने पूछताछ में कई खुलासे किए हैं. आरोपी ने बताया है कि उससे इटारसी व जबलपुर से जमानत कराने को कहा गया था, जिसके चलते वह कोर्ट में जमानत लेने गया था. पुलिस ने आरोपी को 25 दिसंबर तक पुलिस रिमांड पर लिया है. फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है. गौरतलब है कि जेल में बंद एक आरोपी की जमानत के लिए सोहनलाल भट्ट निवासी जबलपुर ने जमानत के लिए आवेदन किया था, लेकिन न्यायाधीश को कुछ शक होने पर दस्तावेजों की जांच के लिए एमपी नगर थाने को आदेशित किया गया था. जब पुलिस ने जांच की तो ऋण पुस्तिका फर्जी निकली. इसके बाद पुलिस ने जमानत लेेने का प्रयास कर रहे सोहनलाल भट्ट को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसे जबलपुर व इटारसी के कुछ लोगों ने जमानत लेने के लिए कहा था, जिसके चलते वह जमानत लेने आया था. पुलिस को उम्मीद है कि आरोपी ने इसी तरह से कई और फर्जी जमानते भी कराई हैं. वहीं पुलिस की एक टीम शनिवार को जबलपुर व इटारसी के लिए जाएगी. पुलिस यह भी तलाश कर रही है कि आखिर सोहनलाल को ऋण पुस्तिका बनाने में उसकी किस किस ने मदद की.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts