Breaking News :

सिंह व चौहान ने किया सबसे बड़े मेगा सोलर प्लांट का भूमि पूजन, बिजली कटौती करने पर जुर्माना लगाने का कानून जल्द : आरके सिंह नवभारत न्यूज रीवा, केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आर.के.सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार ने गरीबों के कल्याण तथा प्रदेश के विकास के लिए सराहनीय कार्य किया है. जिस पर केन्द्र सरकार को गर्व है. प्रदेश सरकार के कार्य से हम गौरव की अनुभूति कर रहे है. श्री सिंह शुक्रवार को रीवा के गुढ़ बदवार स्थित विश्व के सबसे बड़े मेगा सोलर प्लांट के भूमि पूजन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होने कहा कि प्रदेश में 24 घण्टे बिजली दो वर्षों से दी जा रही है. मध्य प्रदेश में ऊर्जा की कमी नही है बल्कि ऊर्जा के क्षेत्र में सरप्लस है और दूसरे राज्यों को बिजली दे रहा है. मार्च 2019 के बाद बिजली कटौती होने पर जुर्माना लगाने के लिए शीघ्र ही कानून बनाया जा रहा है. रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर प्लांट देश ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे अच्छी सोलर परियोजनाओं में से एक है. 750 मेगावाट बिजली का उत्पादन बहुत बड़ी बात है साथ ही सस्ते दर पर बिजली उपलब्ध कराई जायेगी. केन्द्रीय मंत्री श्री सिंह ने कहा कि वर्ष 2022 तक 1 लाख 75 हजार मेगावाट अक्षय श्रोतो से विद्युत उत्पादन का लक्ष्य है. अभी तक 60 हजार मेगावाट उत्पादन पैदा होने लगा है. उन्होने बताया कि मध्य प्रदेश को 2 वर्ष के लिये 5 हजार मेगावाट अक्षय श्रोत से विद्युत उत्पादन का लक्ष्य दिया गया है. वही समारोह को सम्बोधित करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विश्व का सबसे बड़ा पावर प्लांट रीवा में स्थापित होना हम सबके लिए गर्व की बात है. विंध्य क्षेत्र थर्मल पावर तथा जल विद्युत का केन्द्र होने के साथ-साथअब सोलर पावर का भी केन्द्र बन गया है. पर्यावरण को बिना हानि पहुंचाए हुए दुनिया की सबसे कम दर की सोलर ऊर्जा इस प्लांट से बनेगी. रीवा सोलर प्लांट की ऊर्जा से राजधानी दिल्ली की मैट्रो रेल दौड़ेगी. संयंत्र से सस्ती बिजली मिलने पर घरों को तथा उद्योगों को कम दर पर बिजली मिलेगी. समारोह में उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री राजेन्द्र शुक्ला, ऊर्जा मंत्री पारस जैन सहित जनप्रतिनिधि मौजूद रहे."/> सिंह व चौहान ने किया सबसे बड़े मेगा सोलर प्लांट का भूमि पूजन, बिजली कटौती करने पर जुर्माना लगाने का कानून जल्द : आरके सिंह नवभारत न्यूज रीवा, केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आर.के.सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार ने गरीबों के कल्याण तथा प्रदेश के विकास के लिए सराहनीय कार्य किया है. जिस पर केन्द्र सरकार को गर्व है. प्रदेश सरकार के कार्य से हम गौरव की अनुभूति कर रहे है. श्री सिंह शुक्रवार को रीवा के गुढ़ बदवार स्थित विश्व के सबसे बड़े मेगा सोलर प्लांट के भूमि पूजन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होने कहा कि प्रदेश में 24 घण्टे बिजली दो वर्षों से दी जा रही है. मध्य प्रदेश में ऊर्जा की कमी नही है बल्कि ऊर्जा के क्षेत्र में सरप्लस है और दूसरे राज्यों को बिजली दे रहा है. मार्च 2019 के बाद बिजली कटौती होने पर जुर्माना लगाने के लिए शीघ्र ही कानून बनाया जा रहा है. रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर प्लांट देश ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे अच्छी सोलर परियोजनाओं में से एक है. 750 मेगावाट बिजली का उत्पादन बहुत बड़ी बात है साथ ही सस्ते दर पर बिजली उपलब्ध कराई जायेगी. केन्द्रीय मंत्री श्री सिंह ने कहा कि वर्ष 2022 तक 1 लाख 75 हजार मेगावाट अक्षय श्रोतो से विद्युत उत्पादन का लक्ष्य है. अभी तक 60 हजार मेगावाट उत्पादन पैदा होने लगा है. उन्होने बताया कि मध्य प्रदेश को 2 वर्ष के लिये 5 हजार मेगावाट अक्षय श्रोत से विद्युत उत्पादन का लक्ष्य दिया गया है. वही समारोह को सम्बोधित करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विश्व का सबसे बड़ा पावर प्लांट रीवा में स्थापित होना हम सबके लिए गर्व की बात है. विंध्य क्षेत्र थर्मल पावर तथा जल विद्युत का केन्द्र होने के साथ-साथअब सोलर पावर का भी केन्द्र बन गया है. पर्यावरण को बिना हानि पहुंचाए हुए दुनिया की सबसे कम दर की सोलर ऊर्जा इस प्लांट से बनेगी. रीवा सोलर प्लांट की ऊर्जा से राजधानी दिल्ली की मैट्रो रेल दौड़ेगी. संयंत्र से सस्ती बिजली मिलने पर घरों को तथा उद्योगों को कम दर पर बिजली मिलेगी. समारोह में उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री राजेन्द्र शुक्ला, ऊर्जा मंत्री पारस जैन सहित जनप्रतिनिधि मौजूद रहे."/> सिंह व चौहान ने किया सबसे बड़े मेगा सोलर प्लांट का भूमि पूजन, बिजली कटौती करने पर जुर्माना लगाने का कानून जल्द : आरके सिंह नवभारत न्यूज रीवा, केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आर.के.सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार ने गरीबों के कल्याण तथा प्रदेश के विकास के लिए सराहनीय कार्य किया है. जिस पर केन्द्र सरकार को गर्व है. प्रदेश सरकार के कार्य से हम गौरव की अनुभूति कर रहे है. श्री सिंह शुक्रवार को रीवा के गुढ़ बदवार स्थित विश्व के सबसे बड़े मेगा सोलर प्लांट के भूमि पूजन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होने कहा कि प्रदेश में 24 घण्टे बिजली दो वर्षों से दी जा रही है. मध्य प्रदेश में ऊर्जा की कमी नही है बल्कि ऊर्जा के क्षेत्र में सरप्लस है और दूसरे राज्यों को बिजली दे रहा है. मार्च 2019 के बाद बिजली कटौती होने पर जुर्माना लगाने के लिए शीघ्र ही कानून बनाया जा रहा है. रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर प्लांट देश ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे अच्छी सोलर परियोजनाओं में से एक है. 750 मेगावाट बिजली का उत्पादन बहुत बड़ी बात है साथ ही सस्ते दर पर बिजली उपलब्ध कराई जायेगी. केन्द्रीय मंत्री श्री सिंह ने कहा कि वर्ष 2022 तक 1 लाख 75 हजार मेगावाट अक्षय श्रोतो से विद्युत उत्पादन का लक्ष्य है. अभी तक 60 हजार मेगावाट उत्पादन पैदा होने लगा है. उन्होने बताया कि मध्य प्रदेश को 2 वर्ष के लिये 5 हजार मेगावाट अक्षय श्रोत से विद्युत उत्पादन का लक्ष्य दिया गया है. वही समारोह को सम्बोधित करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विश्व का सबसे बड़ा पावर प्लांट रीवा में स्थापित होना हम सबके लिए गर्व की बात है. विंध्य क्षेत्र थर्मल पावर तथा जल विद्युत का केन्द्र होने के साथ-साथअब सोलर पावर का भी केन्द्र बन गया है. पर्यावरण को बिना हानि पहुंचाए हुए दुनिया की सबसे कम दर की सोलर ऊर्जा इस प्लांट से बनेगी. रीवा सोलर प्लांट की ऊर्जा से राजधानी दिल्ली की मैट्रो रेल दौड़ेगी. संयंत्र से सस्ती बिजली मिलने पर घरों को तथा उद्योगों को कम दर पर बिजली मिलेगी. समारोह में उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री राजेन्द्र शुक्ला, ऊर्जा मंत्री पारस जैन सहित जनप्रतिनिधि मौजूद रहे.">

प्रदेश सरकार के कार्य से गौरव की अनुभूति

2017/12/23



सिंह व चौहान ने किया सबसे बड़े मेगा सोलर प्लांट का भूमि पूजन, बिजली कटौती करने पर जुर्माना लगाने का कानून जल्द : आरके सिंह नवभारत न्यूज रीवा, केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आर.के.सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार ने गरीबों के कल्याण तथा प्रदेश के विकास के लिए सराहनीय कार्य किया है. जिस पर केन्द्र सरकार को गर्व है. प्रदेश सरकार के कार्य से हम गौरव की अनुभूति कर रहे है. श्री सिंह शुक्रवार को रीवा के गुढ़ बदवार स्थित विश्व के सबसे बड़े मेगा सोलर प्लांट के भूमि पूजन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होने कहा कि प्रदेश में 24 घण्टे बिजली दो वर्षों से दी जा रही है. मध्य प्रदेश में ऊर्जा की कमी नही है बल्कि ऊर्जा के क्षेत्र में सरप्लस है और दूसरे राज्यों को बिजली दे रहा है. मार्च 2019 के बाद बिजली कटौती होने पर जुर्माना लगाने के लिए शीघ्र ही कानून बनाया जा रहा है. रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर प्लांट देश ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे अच्छी सोलर परियोजनाओं में से एक है. 750 मेगावाट बिजली का उत्पादन बहुत बड़ी बात है साथ ही सस्ते दर पर बिजली उपलब्ध कराई जायेगी. केन्द्रीय मंत्री श्री सिंह ने कहा कि वर्ष 2022 तक 1 लाख 75 हजार मेगावाट अक्षय श्रोतो से विद्युत उत्पादन का लक्ष्य है. अभी तक 60 हजार मेगावाट उत्पादन पैदा होने लगा है. उन्होने बताया कि मध्य प्रदेश को 2 वर्ष के लिये 5 हजार मेगावाट अक्षय श्रोत से विद्युत उत्पादन का लक्ष्य दिया गया है. वही समारोह को सम्बोधित करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विश्व का सबसे बड़ा पावर प्लांट रीवा में स्थापित होना हम सबके लिए गर्व की बात है. विंध्य क्षेत्र थर्मल पावर तथा जल विद्युत का केन्द्र होने के साथ-साथअब सोलर पावर का भी केन्द्र बन गया है. पर्यावरण को बिना हानि पहुंचाए हुए दुनिया की सबसे कम दर की सोलर ऊर्जा इस प्लांट से बनेगी. रीवा सोलर प्लांट की ऊर्जा से राजधानी दिल्ली की मैट्रो रेल दौड़ेगी. संयंत्र से सस्ती बिजली मिलने पर घरों को तथा उद्योगों को कम दर पर बिजली मिलेगी. समारोह में उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री राजेन्द्र शुक्ला, ऊर्जा मंत्री पारस जैन सहित जनप्रतिनिधि मौजूद रहे.


Opinions expressed in the comments are not reflective of Nava Bharat. Comments are moderated automatically.

Related Posts